हृदयांगन संस्थापक विद्यावाचस्पति विधुभूषण साहित्य को समर्पित | #NayaSaveraNetwork

नया सवेरा नेटवर्क

मुंबई। साहित्यिक, सामाजिक, सांस्कृतिक एवं आध्यात्मिक राष्ट्रीय संस्था हृदयांगन के संस्थापक अध्यक्ष विद्यावाचस्पति विधूभूषण त्रिवेदी पूर्ण रूप से साहित्य सेवा हेतु समर्पित हो चुके हैं। उनकी साहित्यिक यात्रा पूरे प्रदेशों में अनवरत चलती रहती है। 

साहित्यिक सेवा का एक दृश्य सामने देखने को मिला कि  संस्था की देहरादून अध्यक्षा श्रीमती विद्युत प्रभा‌ चतुर्वेदी मंजू द्वारा लिखित पुस्तक ' समर्पण के स्वर ' पुस्तक की एक प्रति को स्वयं संस्थापक अध्यक्ष विधुजी ने युवा साहित्यकार रजत त्रिपाठी (सचिव लेखा ऑडिट) को समर्पित कर संस्था का एवं विद्युत प्रभा चतुर्वेदी की लेखनी का मान बढ़ाया है। राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी विनय शर्मा दीप ने बताया कि इस समर्पण की भावना से हृदयांगन संस्था और भी गौरवान्वित हुई है।


*एस.आर.एस. हॉस्पिटल एवं ट्रामा सेन्टर स्पोर्ट्स सर्जरी डॉ. अभय प्रताप सिंह (हड्डी रोग विशेषज्ञ) आर्थोस्कोपिक एण्ड ज्वाइंट रिप्लेसमेंट ऑर्थोपेडिक सर्जन # फ्रैक्चर (नये एवं पुराने) # ज्वाइंट रिप्लेसमेंट सर्जरी # घुटने के लिगामेंट का बिना चीरा लगाए दूरबीन  # पद्धति से आपरेशन # ऑर्थोस्कोपिक सर्जरी # पैथोलोजी लैब # आई.सी.यू.यूनिट मछलीशहर पड़ाव, ईदगाह के सामने, जौनपुर (उ.प्र.) सम्पर्क- 7355358194, Email : srshospital123@gmail.com*
Ad


*जौनपुर टाईल्स एण्ड सेनेट्री | लाइन बाजार थाने के बगल में जौनपुर | सम्पर्क करें - प्रो. अनुज विक्रम सिंह, मो. 9670770770*
Ad


*अक्षरा न्यूज सर्विस (Akshara News Service) | ⭆ न्यूज पेपर डिजाइन ⭆ न्यूज पोर्टल अपडेट ⭆ विज्ञापन डिजाइन ⭆ सम्पर्क करें ⭆ Mo. 93240 74534 ⭆  Powered by - Naya Savera Network*
Ad

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ