• Breaking News

    पीएचसी बना भ्रष्टाचार का केंद्र,जांच के नाम पर होती है लीपा पोती | #NayaSaberaNetwork

    नया सबेरा नेटवर्क
    प्रसव के लिए आने वाली महिलाओं से वसूली जाती है मोटी रकम
    सिकरारा,जौनपुर। स्थानीय विकास खंड के प्रसव केंद्र पर भ्रष्टाचार का खेल चरम पर चल रहा है। जांच के नाम पर सरकारी जांच तंत्र फेल चल रहा है। अब यहां प्रश्न यह उठता है की जांच के नाम पर सरकारी जांच तंत्र आखिर क्यों फेल चल रहा है अब यह विभागीय मामला है चाहे जो भी हो लेकिन विकासखंड के सरकारी प्रसव केंद्रों पर जो भ्रष्टाचार का खेल चल रहा है यह किसी से छिपा नहीं है क्योंकि क्षेत्रों मे जितनी भी आशाएं व एएनएम हैं सभी का संबंध किसी न किसी प्राइवेट अस्पताल से है जब प्रसव से पीडि़त महिलाएं उनके अभिभावक प्रसव सेंटर पर आते हैं तो जरा सा तकलीफ होने पर उन्हें सरकारी जिला अस्पताल न भेजकर सीधा अपने सगे संबंधी प्राइवेट अस्पतालों पर भेजने की सलाह देकर भेज दिया जाता है जहां भेजने पर प्राइवेट अस्पताल के चिकित्सक व कर्मचारी मरीज को सीरियस बता कर खून चूस लेते हैं और भेजने वाली आशा व एएनएम को भी बधी बंधाई अच्छी खासी रकम मिल जाती है। इसका ताजा उदाहरण सिकरारा का प्रसव केंद्र बना हुआ है यहां पर आने वाले हर एक प्रसव पीडि़त महिलाओं से अवैध धन वसूला जाता है और मरीज की हालत सीरियस दिखाकर प्राइवेट अस्पताल में भेजने का कार्य भी किया जाता है। बताते चलें कि यहां संविदा कर्मी पूनम तिवारी व गीता मौर्य की तैनाती की गई है दोनों की ड्यूटी अलग-अलग शिफ्ट में लगाई जाती थी लेकिन पूनम तिवारी के कार्यकाल में जो भी प्रसव कराया जाता था उनसे अवैध तरीके से वसूली की जाती थी मरीज को जिला अस्पतालन भेजकर प्राइवेट अस्पताल भेजा जाता था। प्रसव के विषय में बताते चलें कि पूनम गौतम पत्नी चंद्रपाल निवासी ग्राम कपूरपुर थाना मछली शहर प्रसव पीड़ा होने पर सिकरारा उप केंद्र पर पहुंची तो वहां पर पदस्थ पूनम तिवारी द्वारा मनमानी तरीके से 2000 की धन उगाही की गई और केस को बिगड़ते हुए लगभग रात 11:30 बजे पूनम तिवारी ने बोला की गाड़ी मंगा दे रही हुं आप लोग हॉस्पिटल चले जाएं मेरी पहचान के डॉक्टर हैं मेरी बात हो गई है यहां पर प्रसव संभव नहीं है यहां पर बच्चे व मां को खतरा है। यह कहकर आगमन हॉस्पिटल नईगंज में भेज दिया वहां पर पीडि़त से 40000 की वसूली की गई। सामान्य डिलीवरी न करा कर ऑपरेशन किया गया जिससे पैदा हुई बच्ची की मौत हो गई। यहां पर एएनएम पूनम तिवारी व आगमन हॉस्पिटल की सोची समझी चाल से पीडि़त से 40000 का दोहन किया गया। बता दें कि पूनम गौतम स्वस्थ होने के बाद पूनम तिवारी के खिलाफ विधिक कार्यवाही करवाने के लिए जिलाधिकारी सीएमओ सहित मुख्यमंत्री के यहां न्याय की गुहार लगाई है। इस संबंध में जब ब्लॉक के मुख्य चिकित्सक एसके पटेल से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि प्रकरण मेरे संज्ञान में है प्राइवेट अस्पताल से लौटने के बाद पूनम गौतम का टांका मेरे द्वारा ही काटा गया था जब उनसे यह पूछा गया कि पूनम तिवारी के ऊपर विधिक कार्रवाई करने के लिए जो प्रार्थना पत्र दिया गया है उसमें आपके द्वारा क्या किया गया तो उन्होंने कहा कि उनका तबादला वहां से दूसरी जगह कर दिया गया है अब यहां सवाल यह उठता है कि सस्पेंड करने के बजाय उनका सिर्फ  तबादला कर दिया गया। तबादला करने से क्या भ्रष्टा चार पर रोक लगाई जा सकती है इससे साफ जाहिर है कि पूनम तिवारी के साथ साथ कहीं न कहीं सरकारी तंत्र भी भ्रष्टाचार में लिप्त है जो उन्हें बचाने का कार्य कर रहा है।

    *LIC HOME LOAN | LIC HOUSING FINANCE LTD. Vinod Kumar Yadav Authorised HLA Jaunpur Mob. No. +91-8726292670, 8707026018 email.: vinodyadav4jnp@gmail.com 4 Photo, Pan Card, Adhar Card, 3 Month Pay Slip, Letest 6 Month Bank Passbook, Form-16, Property Paper, Processing Fee+Service Tax Note: All types of Loan Available  | #NayaSaberaNetwork*
    Ad
    *Ad : जौनपुर टाईल्स एण्ड सेनेट्री | लाइन बाजार थाने के बगल में जौनपुर | सम्पर्क करें - प्रो. अनुज विक्रम सिंह, मो. 9670770770*
    Ad
        
    *अक्षरा न्यूज सर्विस (Akshara News Service) | ⭆ न्यूज पेपर डिजाइन ⭆ न्यूज पोर्टल अपडेट ⭆ विज्ञापन डिजाइन ⭆ सम्पर्क करें - डायरेक्टर - अंकित जायसवाल ⭆ Mo. 9807374781 ⭆  Powered by - Naya Savera Network*
    Ad

    No comments