• Breaking News

    जनसंघ के संस्थापक सदस्य राजा यादवेंद्र दत्त जी की 23वीं पुण्यतिथि | #NayaSaberaNetwork

    नया सबेरा नेटवर्क
    जौनपुर रियासत के 11वें नरेश राजा यादवेंद्र दत्त जी का जन्म बिक्रमी सम्बत १९७५ के मार्गशीर्ष (अगहन) के शुक्लपक्ष चतुर्थी के दिन जौनपुर के हवेली स्थित राजमहल में हुआ था। उनके जीवन काल में जन्म दिन इसी हिन्दी तिथि को बड़े धूमधाम से मनाया जाता था । गणमान्यजनों, राजनीतिज्ञों, विद्वतजनों के साथ साथ जनपद के आमजनों की भीड़ लगती थी, लोग दिर्घायु की कामना करते हुए फूल-माला बुके देकर सम्मानित किया करते थे। अंग्रेजी तारीख से जन्मदिन 07 दिसंबर 1918 है। राजा साहब ने देहत्याग 09-09-99 को प्रातः 09 बजकर 09 मीनट पर वाराणसी के एक निजी अस्पताल में किया था। 
    उनके शव यात्रा में जो भीड़ उमड़ी थी वह न भूतो न भविष्यति। हवेली से रामघाट तक सड़क आमजनों से पट गया था। भारत सरकार के गृह राज्यमंत्री हवेली से रामघाट तक पैदल शव यात्रा में अंतिम समय तक रहे। तेरहवीं के दिन जिला प्रशासन को भीड़ नियंत्रण में लगना पड़ा। राजा साहब जौनपुर की यह लोकप्रियता केवल एक दिन की कमाई नहीं थी। बल्कि अपने जीवन का पुरा समय जनपद के जनसाधारण से लेकर तात्कालिक राष्ट्रीय स्तर के राजनीतिज्ञों को दिया। भारतीय जनसंघ की स्थापना-21 अक्टूबर 1951 में हुई थी।
    जिसका पुरा कार्यक्रम निर्धारण इसी हवेली के राजमहल में हुआ था। यही कारण है कि संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी सदैव राजा साहब के सम्पर्क में रहे। पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी को चुनाव मैदान में उतारा गया तो राजा यादवेंद्र दत्त जी के लोकप्रियता के कारण जौनपुर चुनाव क्षेत्र को चुना गया। यहां राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संस्थापक डॉ केशवराम बलिराम हेडगेवार, गुरु गोलवलकर से लेकर श्याम प्रसाद मुखर्जी, नानाजी देशमुख, बलराज मधोक,पं दीनदयाल उपाध्याय, चौधरी चरण सिंह, मोरारजी देसाई, भानुप्रताप, बाबू  जगजीवन राम, अटल बिहारी वाजपेई, लालकृष्ण आडवाणी सहित देश के दिग्गज नेताओं का जमावड़ा हुआ करता था। जिस भारत की तकदीर वह तस्वीर बदलने की जद्दोजहद चल रही थी।
    उसी का परिणाम है कि आज इनकी अनुपस्थिति में अगली पीढ़ी के नेता भारतीय राजनीति के शिखर पर पहुंच कर भारत के भाग्य का फैसला कर रहे हैं। वास्तव में जनसंघ (चुनाव निशान दीपक) ने 1951 से 1977 के बाद 23 जनवरी 1977 को जनता दल में मिलकर मिली जुली सरकार में सम्मिलित हो गई। पुनः 06 अप्रैल 1980 को भारतीय जनता पार्टी(कमल निशान) के रूप में  सामने आई। जो आज विश्व की सबसे बड़ी पार्टी होने का दावा तथा केन्द्र के साथ साथ अधिकांश बड़े-छोटे राज्यों में शासन सत्ता का संचालन कर रही है।
    राजा साहब जौनपुर ने प्रथम आम चुनाव (1952) में स्टार प्रचारक के रूप में चुनाव प्रचार, ओजस्वी भाषण शैली से जनमानस में अपना महत्वपूर्ण स्थान बना लिया। द्वितीय आम चुनाव 1967 में स्वयं चुनाव मैदान में उतरे। फिर विजय का सिलसिला शुरू हुआ । तीन बार विधायक, दो बार सांसद के साथ साथ उत्तर प्रदेश आर एस एस के प्रभारी, उतर प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष, संसद के वैदेशिक समिति एवं सुरक्षा समिति के सदस्य रहे। अंतरराष्ट्रीय प्रतिनिधि मंडल का नेतृत्व करते हुए कई महत्वपूर्ण देशों का दौरा किया, जिसमें राजस्थान के राज्यपाल एवं भारत के राष्ट्रपति रहीं माननीया श्रीमती प्रतिभा पाटिल भी साथ थीं।
    यही नहीं स्व. कल्याण सिंह जी (पूर्व मुख्यमंत्री) राजा साहब के निजी सचिव रहे। मुख्यमंत्री काल में राजा साहब के पञों को पहले मत्थे(सर) से लगाते थे। फिर पढ़ कर तत्काल प्रभाव से कार्यवाही कर महाराज को सूचित किया करते थे। इनके ब्यक्तित्व से जुड़ी बहुत सारी यादों की चर्चा आज भी पुराने लोग किया करते हैं। बीबीसी से राजा साहब जौनपुर के बारे में प्रमुखता से कवरेज किया जाता था। 
    जब कांग्रेस का पुरे देश में कोई विकल्प नहीं था,तब एक बार बीबीसी लंदन ने कहा था कि जौनपुर के राजा यादवेंद्र दत्त दुबे एवं डॉ राममनोहर लोहिया के खिलाफ चुनाव लडने के लिए कोई कांग्रेस का प्रत्याशी तैयार नहीं हो रहा है । यह था-राजा साहब जौनपुर का ब्यक्तित्व। वर्तमान उत्तर प्रदेश शासन के यसस्वी मुख्यमंत्री स्वामी योगी आदित्यनाथ ने जौनपुर के कलीचाबाद के पास गोमती नदी पर लगभग 30 करोड़ की लागत से राजा साहब के नाम पर पुल बनाने की घोषणा की है जो जौनपुर के आमजन की नजर में एक छोटा सा उपहार है। मुख्यमंत्री संयोग से आज राजा साहब जौनपुर की पुण्यतिथि पर जौनपुर में हैं, और विश्वास है आगे कुछ और सोचेंगे और करेंगे। 
    इसी विश्वास के साथ एक बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी, त्याग की प्रतिमूर्ति को याद करते हुए कोटि कोटि नमन वंदन, श्रद्धांजलि। ओम् शांति शांति शांति।
    प्रोफेसर (डॉ) अखिलेश्वर शुक्ला
    पूर्व प्राचार्य/विभागाध्यक्ष, राजनीति विज्ञान विभाग,
    राजा श्री कृष्ण दत्त स्नातकोत्तर महाविद्यालय जौनपुर-222001

    *गहना कोठी भगेलू राम रामजी सेठ | प्रत्येक 5000/- तक की खरीद पर पाएं लकी ड्रा कूपन | ऑफर 1 अप्रैल 2022 से लागू | प्रथम पुरस्कार मारुति विटारा ब्रीजा | द्वितीय पुरस्कार मारुति वैगन आर | तृतीय पुरस्कार टॉयल एनफील्ड बुलेट | चतुर्थ पुरस्कार 2 पीस बाईक (2 व्यक्तिओं को) | पाँचवा पुरस्कार 2 पीस स्कूटी (2 व्यक्तिओं को) | 5 छठवाँ परस्कार पीस वाशिंग मशीन (5 व्यक्तिओं को) | सातवाँ पुरस्कार 50 मिक्सर (50 safe sifat) | आठवा पुरस्कार 50 डण्डक्शन चूल्हा (50 व्यक्तिओं को) | हनुमान मंदिर के सामने कोतवाली चौराहा, जौनपुर 9984991000, 9792991000, 9984361313 | गोल्ड | जितना सोना उतना चांदी | ( जितना ग्राम सोना खरीदें उतना ग्राम चांदी मुफ्त पाएं) | डायमंड मेकिंग चार्जेस 100% Off | सदभावना पुल रोड नखास ओलंदगंज जौनपुर 9838545608, 7355037762, 8317077790*
    Ad

    *LIC HOME LOAN | LIC HOUSING FINANCE LTD. Vinod Kumar Yadav Authorised HLA Jaunpur Mob. No. +91-8726292670, 8707026018 email.: vinodyadav4jnp@gmail.com 4 Photo, Pan Card, Adhar Card, 3 Month Pay Slip, Letest 6 Month Bank Passbook, Form-16, Property Paper, Processing Fee+Service Tax Note: All types of Loan Available  | #NayaSaberaNetwork*
    Ad
    *Ad : जौनपुर टाईल्स एण्ड सेनेट्री | लाइन बाजार थाने के बगल में जौनपुर | सम्पर्क करें - प्रो. अनुज विक्रम सिंह, मो. 9670770770*
    Ad

    No comments