• Breaking News

    कविता| #NayaSaberaNetwork

    नया सबेरा नेटवर्क
    मेरी छोटी बहन राखी पर नख़रे दिखाती थी 

    मेरी छोटी बहन राखी पर नख़रे दिखाती थी 
    राखी बांधकर सिर्फ दस रुपए ही लेती थी 
    मेरी चकल्लस की बातें बहुत सुनती थी 
    मेरा बड़बोलापन हंस कर टाल देती थी 

    मातापिता मुझ पर बहुत प्यार निछावर करते थे 
    मेरे माथे पर चिंता की लकीर सहन नहीं करते थे 
    वात्सल्य प्यार दुलार की बारिश करते थे 
    मुझ पर कोई आंच नहीं आने देते थे 

    माता-पिता बहन यूं चले जाएंगे बात पता न थीं 
    अकेला हो जाऊंगा गुमनाम बात पता न थीं 
    चिट्ठी ना कोई संदेश ना जाने कौन सा देश 
    जहां वह चले जाएंगे यह बात मुझे पता न थीं 

    मैं बहुत ख़ुश था 
    जब मेरे माता-पिता बहन हयात थे 
    मुझे कोई फ़िक्र जिम्मेदारी चिंता नहीं देते थे 
    मेरे माता पिता सब संभालते थे 

    11 अगस्त 2022 राखी के उपलक्ष पर आपबीती दुख भरी दास्तां का लेखक- कर विशेषज्ञ साहित्यकार, कानूनी लेखक, चिंतक, एडवोकेट कवि किशन सनमुखदास भावनानी गोंदिया महाराष्ट्र

    *राष्ट्रीय उद्योग एवं व्यापार मंच (सम्बद्ध नरेंद्र मोदी विचार मंच) के प्रदेश महासचिव, शाहगंज विधानसभा क्षेत्र जौनपुर के युवा भाजपा नेता विजय सिंह विद्यार्थी की तरफ से नया सबेरा परिवार को छठवीं वर्षगांठ की बहुत-बहुत शुभकामनाएं | Naya Sabera Network*
    Ad

    *प्राथमिक विद्यालय पंचहटिया धर्मापुर जौनपुर की प्रधानाध्यापक अर्चना रानी की तरफ से नया सबेरा परिवार को छठवीं वर्षगांठ की बहुत-बहुत शुभकामनाएं | Naya Sabera Network*
    Ad

    *माँ मूर्ति ग्रुप ऑफ प्लांटेशन्स जौनपुर के संस्थापक अध्यक्ष शैलेन्द्र निषाद की तरफ से नया सबेरा परिवार को छठवीं वर्षगांठ की बहुत-बहुत शुभकामनाएं | Naya Sabera Network*
    Ad

    No comments