• Breaking News

    शहीद स्तंभ के पास लगा कूड़े का अंबार,जिम्मेदार बेखबर | #NayaSaberaNetwork

    शहीद स्तंभ के पास लगा कूड़े का अंबार,जिम्मेदार बेखबर  | #NayaSaberaNetwork


    नया सबेरा नेटवर्क
    महात्मा गांधी चबूतरा के पास बना है शहीद स्तंभ
    मुफ्तीगंज,जौनपुर। शहीद स्तंभ एक ऐसी जगह है जहां पर हम लोग शहीदों को याद कर सकते हैं। इस नाम को सुनते ही हमारे दिलो दिमाग में हर उन शहीदों की याद तरोताजा हो जाती है जिन्होंने देश को आज़ाद कराने में अपने प्राणों की आहुति दे दी थी। जरा सोचिए उनकी याद में बना शहीद स्तंभ की स्थिति अगर जीर्ण शीर्ण हो या शहीद स्तंभ पर लोग अपने घरों या दुकानों का कचरा फेंके तो क्या कहेंगे आप इसे इस देश का दुर्भाग्य कहंे या कुछ और कहे। जी हां हम बात कर रहे हैं केराकत तहसील क्षेत्र के मुफ्तीगंज बाजार के मध्य में बने महात्मा गांधी चौबूतरा के पास बने शहीद स्तम्भ की। विगत एक वर्ष पूर्व शहीद स्तंभ कूड़े के ढेर में तब्दील था। बाजारवासी अपने घरों व दुकानों का कूड़ा कचरा शहीद स्तम्भ पर फेंका करते थे जिस कारण शहीद स्तंभ कूड़े के ढेर में तब्दील हो चुका था। तत्पश्चात कूड़े के ढेर में तब्दील शहीद स्तंभ नामक शीर्षक से खबर अखबारों ने प्रकाशित किया था। खबर को जिम्मेदार अधिकारी व जनप्रतिनिधि ने तो सुध नहीं ली परंतु खबर को संज्ञान में लेते हुए ग्रामवासियों ने शहीद स्तम्भ की साफ सफाई की। मगर आज भी शहीद स्तंभ के अगल बगल कूड़ो का ढेर लगा हुआ है। जबकि शहीद स्तंभ जौनपुर-केराकत मार्ग पर स्थित होने से लगभग हर महीने उच्चाधिकारियों व जनप्रतिनिधियों का आना जाना लगा रहता है पर किसी की नजर उपेक्षित पड़े शहीद स्तंभ पर नही पड़ती है जो विचारकरीणीय योग्य बात है। बताते चलें कि क्रांतिकारी जंग बहादुर पाठक ने कभी भी अंग्रेजों की अधीनता को स्वीकार नहीं किया। अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ जंग-ए-आजादी में कूद पड़े और 44 अंग्रेजों को जौनपुर शाही पुल के पास मार गिराया था। धोखे से अंग्रेजी हुकुमत ने पसेवा गांव के समीप पकड़कर एक महीने के कारावास में रखकर उनके साथ बर्बता की सारी हदें पार की गयी जिससे कारण उनका निधन हो गया। उनकी वीरता व शौर्य की याद में मुफ्तीगंज बाजार के मध्य में शहीद स्तम्भ का निर्माण कराया गया है पर आज भी शहीद स्तंभ के अगल बगल कूड़ो का ढेर लगा हुआ है।


    *पूर्व माध्यमिक शिक्षक संघ जौनपुर के जिलाध्यक्ष सुशील कुमार उपाध्याय की तरफ से रक्षाबंधन एवं स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं | Naya Sabera Network*
    Ad

    *नया सबेरा के स्थापना दिवस पर पूरी टीम को बधाई - आचार्य बलदेव पी.जी. कॉलेज, कोपा पतरही - जौनपुर  (उ.प्र.) | DIRECT Admission | D.El.Ed. (B.T.C.) Code : 440002, 440003 | B.Ed | B.A. I B.Sc. I M.A. I B.Ed. | B.C.A. I B.Com | B.T.C. (D.EL.Ed.) | B.A. - हिन्दी, गृहविज्ञान, भूगोल, मनोविज्ञान, अर्थशास्त्र, शिक्षाशास्त्र, समाजशास्त्र, मध्यकालीन इतिहास, राजनीतिशास्त्र, अंग्रेजी, संगीत, संस्कृत | B.Sc. - भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, गणित, जन्तु विज्ञान, वनस्पति विज्ञान | M.A. - हिन्दी, गृहविज्ञान, भूगोल, शिक्षाशास्त्र, समाजशास्त्र | अनिल यादव (मैनेजमेन्ट गुरू ) | प्रदेश उपाध्यक्ष - उ.प्र.   स्ववित्तपोषित महाविद्यालय एसोसिएशन | 9651995200, 7755003107, 7755003109, 7755003110, 9005454777 | Naya Sabera Network*
    Ad


    *नया सबेरा के स्थापना दिवस पर पूरी टीम को बधाई - आचार्य बलदेव पी.जी. कॉलेज, कोपा पतरही - जौनपुर | प्रवेश प्रारम्भ | D.El.Ed. | B.T.C. | B.Ed. | B.C.A. | B.A. - हिंदी, गृहविज्ञान, भूगोल, मनोविज्ञान, अर्थशास्त्र, शिक्षाशास्त्र, मध्यकालीन इतिहास, राजनीतिशास्त्र, संगीत, संस्कृत, अंग्रेजी | M.A. - हिंदी, गृहविज्ञान, भूगोल, शिक्षाशास्त्र, समाजशास्त्र | B.SC. - गणित, भैतिकी, रसायनशास्त्र, जंतुविज्ञान, वनस्पति विज्ञान | B.Com | M.com | प्रवेश हेतु संपर्क करें - 9651995200, 7755003107, 7755003109, 7755003110,7388300777 | Naya Sabera Network*
    Ad

    No comments