• Breaking News

    Janhvi Kapoor को करियर की शुरुआत में मम्मी-पापा के कारण सुनने पड़ते थे ऐसे-ऐसे ताने

    नई दिल्ली. जाह्नवी कपूर इन दिनों अपनी फिल्म 'गुड लक जेरी' को लेकर सुर्खियों में हैं. एक्ट्रेस ने हाल ही में अपने करियर के बारे में बात की है. जाह्नवी कपूर ने इस बारे में बात की है कि कैसे अपने एक्टिंग करियर में शुरू में उन्हें को यह महसूस कराया गया कि उन्हें सब कुछ एक थाली में मिला है और उनके लिए राहें काफी आसान रही हैं, साथ ही वो सब मिला जिसकी वो हकदार नहीं हैं.
    वो मिला जिसकी हकदार नहीं
    उसी को याद करते हुए, जाह्न्वी ने अपने एक लेटेस्ट इंटरव्यू में कहा, "'धड़क' और 'गुंजन' के दौरान, मुझे यह महसूस कराया गया है कि मुझे सब कुछ एक थाली में मिला है, और मुझे चीजें मिली हैं. मैं इसके लायक नहीं हूं, जिसका मतलब है कि मैं तकनीकी रूप से बेकार हूं, और मेरे माता-पिता ने जो काम किया है, उसके कारण मुझे अवसर मिल रहे हैं."एक्ट्रेस ने आगे कहा, "उसी समय, मुझे अपने माता-पिता के लिए अत्यधिक सम्मान और प्यार भी महसूस हुआ, और मुझे उसके कारण प्यार और काम दिया जा रहा है. लेकिन सच्चाई यह है कि मुझे अभिनय पसंद है और मैं इसके लिए जीती हूं." जान्हवी ने अपनी नवीनतम रिलीज 'गुड लक जेरी' के बारे में भी बताया और उन्होंने अपने डिक्शन पर कैसे काम किया.
    'गुड लक जेरी' का लिए डिक्शन ट्रेनिंग
    जाह्नवी कपूर ने कहा, "मैंने अपने उच्चारण और बोली के लिए ट्रेंनिंग शुरू की, और बिहारी उच्चारण के लिए एक विशिष्ट लय है और यह बहुत मीठा है. एक बार जब आप लय में आ जाते हैं तो उससे बाहर निकलना मुश्किल होता है. और फिर मैं बिहार की एक लड़की की भूमिका निभा रही थी, पंजाब, एक गिरोह के बीच, और मैं ठगों के समूह में अकेली लड़की थी."





    Janhvi Kapoor
    Janhvi Kapoor

    No comments