• Breaking News

    दरख्त! | #NayaSaberaNetwork

    दरख्त!  | #NayaSaberaNetwork


    नया सबेरा नेटवर्क

    आ गई है बारिश दरख्त लगाओ कोई,   
    प्रदूषण के खिलाफ हवा चलाओ कोई।   
    शुद्ध आक्सीजन से सभी रहेंगे नीरोगी,  
    उनकी बुझी साँसों को महकाओ कोई।  

    दरख्त  सिखाते हैं जीना का  सलीका,  
    कड़ी धूप से परिन्दों को बचाओ कोई।  
    वे चलते  हुए  राही से  मिलाते हैं हाथ,  
    लकड़हारों की खौफ से बचाओ कोई। 

    वृक्षों की वजह से मोहित होते हैं बादल,  
    उनकी तरफदारी में कदम बढ़ाओ कोई।  
    पंछियों  को   सुर- ताल  देते  हैं  दरख्त,  
    मौत  के   मुँह  से  उन्हें  बचाओ   कोई।  

    दिन-रात  जागते हैं पेड़  हमारे  खातिर,  
    रोते  हुए   दरख्तों  को  हँसाओ  कोई।   
    कायनात  न हो जाए पूरी  धुआँ- धुआँ,  
    जो लगी जंगलों  में आग बुझाओ कोई।   

    अधूरी जिन्दगी जीना कोई नहीं चाहता, 
    ख्वाहिशें उनकी  भी तो  बढ़ाओ  कोई।  
    उनके भी  आँखों  में  दर्द  के  आँसू  हैं,  
    ऐसे  जिस्म और रुह को बचाओ  कोई। 
     
    रामकेश एम.यादव (कवि,साहित्यकार), मुंबई

    *भारतीय जनता पार्टी, मछलीशहर-जौनपुर के लोकप्रिय युवा नेता और सुप्रसिद्ध समाजसेवी पुष्पेन्द्र सिंह जी की तरफ से नया सबेरा परिवार को छठवीं वर्षगाँठ की हार्दिक बधाई एवं उज्ज्वल भविष्य हेतु मंगलकामनाएं | Naya Sabera Network*
    Ad

    *समाजवादी अल्पसंख्यक सभा उ.प्र. के प्रदेश उपाध्यक्ष मो. आज़म खान एडवोकेट की तरफ से नया सबेरा परिवार को छठवीं वर्षगांठ की बहुत-बहुत शुभकामनाएं | Naya Sabera Network*
    Ad

    *विद्युत मजदूर पंचायत उ.प्र. के प्रांतीय मंत्री एवं जिलाध्यक्ष संजय यादव की तरफ से नया सबेरा परिवार को छठवीं वर्षगांठ की बहुत-बहुत शुभकामनाएं | Naya Sabera Network*
    Ad

    No comments