• Breaking News

    कार्डियो से जुड़े इन मिथ्स पर ना करें भरोसा | #NayaSaberaNetwork

    नया सबेरा नेटवर्क
    फिट रहने के लिए एक्सरसाइज करने की सलाह दी जाती है। आमतौर पर, जब व्यक्ति एक्सरसाइज करना शुरू करता है तो सबसे पहले वह कार्डियो करने का ही मन बनाते हैं। कार्डियोवैस्कुलर स्ट्रेन्थ को मजबूत रखने के लिए कार्डियो सबसे अच्छे व्यायामों में से एक है। 
    यह आपके फेफड़ों की क्षमता को बढ़ाता है और आपके फील-गुड एंडोर्फिन को बढ़ाता है। इसके अलावा, कार्डियो एक्सरसाइज करने से कैलोरी बर्न होती है और इससे वजन कम करने में मदद मिलती है। कार्डियो एक पॉपुलर एक्सरसाइज है, जिसे लेकर लोगों के मन में कई तरह के मिथ्स होते हैं। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको कार्डियो से जुड़े मिथ्स व उनकी सच्चाई के बारे में बता रहे हैं-
    • मिथ 1- एक्सरसाइज की शुरुआत में करनी चाहिए कार्डियो एक्सरसाइज
    सच्चाई- कार्डियो एक्सरसाइज को लेकर अक्सर लोगों के मन में यह धारणा होती है कि कार्डियो को हमेशा एक्सरसाइज की शुरुआत में ही करना चाहिए। दरअसल, उनका यह मानना होता है कि यह उनके शरीर को गर्म करने में मदद करता है और इससे उन्हें एक्सरसाइज करने में मदद मिलती है। वहीं, कुछ लोग सोचते है कि पहले कार्डियो करने से स्ट्रेन्थ ट्रेनिंग करने में समस्या होती है। हर किसी का एक्सरसाइज को लेकर एक अलग तर्क हो सकता है। हालांकि, सच्चाई यह है कि वास्तव में कसरत करने का कोई सही या गलत तरीका नहीं है और यह हर व्यक्ति की इच्छा के अनुसार अलग हो सकता है।
    • मिथ 2- सिर्फ कार्डियो से कम होगा वजन
    सच्चाई- बहुत से लोग यह सोचते हैं कि वजन कम करने के लिए कार्डियो ही करना चाहिए। यकीनन कार्डियो अतिरिक्त कैलोरी बर्न करने में मददगार होती है। लेकिन सिर्फ कार्डियो से ही वजन कम होगा, यह मिथ गलत है। आपका वजन कम करने में स्ट्रेन्थ ट्रेनिंग से लेकर डाइट तक एक अहम् रोल अदा करती है। इसलिए, अगर आप हेल्दी तरीके से वजन कम करना चाहते हैं तो ऐसे में आप कार्डियो के साथ-साथ स्ट्रेन्थ ट्रेनिंग पर भी उतना फोकस करें।
    • मिथ 3- एरोबिक व्यायाम कार्डियो के समान नहीं है
    सच्चाई- अधिकांश लोग जिसे कार्डियो कहते हैं, वह वास्तव में एरोबिक व्यायाम है। जबकि सच्चाई यह है कि एरोबिक व्यायाम कार्डियो हैं लेकिन सभी कार्डियो एरोबिक नहीं हैं। कार्डियोवैस्कुलर एक्सरसाइज कोई भी ऐसी एक्टिविटी है जो आपके हृदय गति को बढ़ाती है। इसलिए इसमें बागवानी, पैदल चलना, और दौड़ना शामिल हो सकता है। इसके अलावा, साइकिल चलाना और डांस करना आदि भी कार्डियो एक्सरसाइज में शामिल है।
    - मिताली जैन

    *प्रवेश प्रारम्भ-सत्र 2022-23 | निर्मला देवी फार्मेसी कॉलेज |(AICTE, UPBTE & PCI Approved) | Mob:- 8948273993, 9415234998 | नयनसन्ड, गौराबादशाहपुर, जौनपुर, उ0प्र0 | कोर्स - B. Pharma (Allopath), D. Pharma (Allopath) | द्विवर्षीय पाठ्यक्रम योग्यता, योग्यता - इण्टर (बायो/मैथ) And प्रवेश प्रारम्भ-सत्र 2022-23 | निर्मला देवी पॉलिटेक्निक कॉलेज | नयनसन्ड, गौराबादशाहपुर, जौनपुर, उ0प्र0 | ● इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग | ● इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग | ● सिविल इंजीनियरिंग | ● मैकेनिकल इंजीनियरिंग ऑटो मोबाइल | ● मैकेनिकल इंजीनियरिंग प्रोडक्शन | ITI अथवा 12 पास विद्यार्थी सीधे | द्वितीय वर्ष में प्रवेश प्राप्त करें। मो. 842397192, 9839449646 | छात्राओं की फीस रु. 20,000 प्रतिवर्ष | #NayaSaberaNetwork*
    Ad



    *Nehru Balodyan Sr. Secondary School | Kanhaipur, Jaunpur | Admission Open 2022-23 | 10+2 | Level | Contact- 9415234111, 9415349820, 9450089310 | Transport Incharge: 9554586608, 8736006564  | #NayaSaberaNetwork*
    Ad


    *ADMISSION OPEN : KAMLA NEHRU ENGLISH SCHOOL | PLAY GROUP TO CLASS 8TH Karmahi ( Near Sevainala Bazar) Jaunpur | कमला नेहरू इंटर कॉलेज | प्रथम शाखा अकबरपुर-आदम (निकट शीतला चौकियां धाम) जौनपुर | द्वितीय शाखा कादीपुर-कोहड़ा (निकट जमीन पकड़ी) जौनपुर  | तृतीय शाखा- करमहीं (निकट सेवईनाला बाजार) जौनपुर | Call us : 77558 17891, 9453725649, 9140723673, 9415896695 | #NayaSaberaNetwork*
    Ad

    No comments