• Breaking News

    भाजपा, सपा गठबंधन से तो कांग्रेस, बसपा अकेली ठोंक रही है ताल | #NayaSaberaNetwork

    भाजपा, सपा गठबंधन से तो कांग्रेस, बसपा अकेली ठोंक रही है ताल  | #NayaSaberaNetwork


    नया सबेरा नेटवर्क
    गठबंधन की स्थिति साफ न होने से दावेदार पशोपेश में
    हर दलों में वेट एंड वॉच की चल रही है स्थिति
    टिकट पाने के लिए हर हथकंडा अपना रहे हैं दावेदार
    हिम्मत बहादुर सिंह
    जौनपुर। इस बार सियासी दंगल में भाजपा, सपा सहयोगी दलों के साथ तो कांग्रेस बसपा अकेली चुनाव मैदान में ताल ठोंक रही है। बड़े दलों के साथ सहयोगी दलों के आने से यह स्पष्ट नहीं हो पा रहा है कि जनपद की कौन सीट गठबंधन के खाते में जायेगी और कौन सीट बड़े दलों के पास रहेगी। इससे दोनों दलों के दावेदार पशोपेश में हैं कि अगर उस सीट पर मेरा दावा है तो क ंही वह गठबंधन के खाते मंे न चली जाये। हलांकि कांग्रेस, बसपा बिना किसी गठबंधन के चुनाव मैदान में ताल ठोंक रही है। आयोग द्वारा हर चरण की तिथि निर्धारित करने के बाद भी अधिकांश पार्टियां वेट एंड वॉच की स्थिति में नज़र आ रही हैं। हर दलों में हाईकमान फूंक फंूक के कदम रख रहा है क्योंकि उन्हें जिताऊ प्रत्याशी की तलाश है। टिकट न मिलने की आस में हर दलों में दल बदलुओं की तादात बढ़ती जा रही है क्योंकि जो पांच साल तक सत्ता सुख भोग लिए हैं उन्हें पांच साल तक इंतजार बड़ा भारी पड़ रहा है। किसी भी हालत में चाहे दल बदलना हो लेकिन उन्हें इस बार भी चुनाव मैदान में उतरना है। भले ही उतरने के बाद जनता उनसे पांच साल का लेखा जोखा मांगे और उनकी डगर काफी कठिन हो जाये लेकिन टिकट तो चाहिए ही। इस बार विलंब से हर दलों में टिकट का वितरण होने से सियासी पारा भी धीरे धीरे चढ़ रहा है। उधर कोरोना भी लोगों को सता रहा है क्योंकि आम जनता यह जानती है कि नेता तो चुनाव मैदान में उतरकर जीत का परचम लहरा लेगें लेकिन जो कोरोना की चपेट में आयेगा उसकी हालत क्या होगी आने वाला वक्त ही बतायेगा। कोरोना के कारण इस बार सियासी पारा जिस तरह से चढ़ना चाहिए उस तरह से किसी भी विधानसभा क्षेत्र में नजर नहीं आ रहा है लेकिन अधिकांश दल डोर टू डोर जाकर अपनी अपनी दलों की नीतियो से लोगों को अवगत कराने से पीछे नहीं हैं। कुछ दल तो जो कार्य किये हैं उसकी उपलब्धियां गिना रहे हैं तो कुछ दल सत्ता में आने पर विकास की गंगा बहाने और भारी बदलाव दिखाने का सब्जबाग दिखा रहे हैं। फिलहाल दावेदार टिकट पाने के लिए हर हथकंडा अपना रहे हैं कुछ दावेदार तो दिल्ली डेरा जमाये हैं तो कुछ प्रदेश स्तर पर लखनऊ में जोड़ तोड़ में लगे हैं लेकिन बड़े दल इतनी बारीकी से प्रत्याशियों की सूची फाइनल कर रहे है कि किसी को भनक भी नहीं लग पा रही है। सियासी जंग में अफवाहों और चर्चाओं का भी बाजार गर्म है कि फलां सीट गठबंधन में जा रही है। फलां सीट पर बड़े दल के प्रत्याशी का नाम तय माना जा रहा है लेकिन हकीकत कुछ इतर है जब तक दलों द्वारा सूची जारी होने के बाद और उ सकी पुष्टि पार्टी के जिम्मेदार लोगों से न हो जाये तब तक यह दौर चलता रहेगा। इस तरह के दौर से कभी कभी अपने अपने स्तर से तैयारी करने वाले प्रत्याशी भी पशो पेश में आ जा रहे हैं। 

    *उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ, जौनपुर के जिलाध्यक्ष अमित सिंह की तरफ से मकर संक्रान्ति की हार्दिक शुभकामनाएं| Naya Sabera Network*
    Ad

    *श्री गांधी स्मारक इण्टर कालेज समोधपुर जौनपुर के पूर्व प्रधानाचार्य डॉ. रणजीत सिंह की तरफ से मकर संक्रान्ति की हार्दिक शुभकामनाएं | Naya Sabera Network*
    Ad


    *Happy Makar Sankranti : MODERN WINGS PUBLIC SCHOOL KOPA, PATARAHI - JAUNPUR | Naya Sabera Network*
    Ad

    No comments

    Amazon

    Amazon