• Breaking News

    शर्मनाक! शहीद स्तम्भ पर लगा कूड़े का अंबार, चुल्लू भर पानी में डूब मरे जिम्मेदार | #NayaSaberaNetwork

    नया सबेरा नेटवर्क
    केराकत, जौनपुर। शिराजे हिन्द जौनपुर की धरती का ऐतिहासिक इतिहास समृद्धशाली और गौरवपूर्ण रहा है। यहां की मिट्टी में ऐसे अनगिनत कर्मयोगी और शूरमाओं ने जन्म लिया जिन्होंने शिक्षा का दीप प्रज्वलित कर उत्तम शिक्षा के नए आयाम स्थापित किए और स्वाधीनता आंदोलन में क्रांति की मशाल जलाकर देश को गौरवान्वित किया। वहीं आज की तारीख की अगर बात करें तो कई शहीद स्तम्भ जीर्ण-शीर्ण अवस्था में हो चुका है या तो कूड़े के ढेर में तब्दील हो चुका है, ऐसा ही एक मामला प्रकाश में आया है। केराकत तहसील क्षेत्र के विकास खण्ड के मुफ्तीगंज बाजार में स्थिति गांधी चौतरा के पास बने शहीद स्तम्भ कूड़े के ढेर में तब्दील हो चुका है। कूड़े से निकलने वाली दुर्गंध से प्रबल बीमारियों का खतरा भी स्थानीय लोगों को सता रहा है। ऐसे में स्थानीय लोगों ने प्रशासन से कूड़ा हटवाने को लेकर गुहार भी लगा चुके हैं जबकि शहीद स्तम्भ केराकत-जौनपुर मार्ग पर स्थित होने से जनप्रतिनिधि, जिलाधिकारी, वीडियो सहित अन्य अधिकारियों व कर्मचारियों का आवागमन होता रहता है किंतु आज तक किसी भी अधिकारी व जनप्रतिनिधि का ध्यान कूड़े में तब्दील हुये शहीद स्तम्भ पर आकर्षित नहीं हुआ। जिन क्रांतिकारियों ने देश के लिए खुद को समर्पित किया, आज उनके बलिदान को कूड़े में तब्दील होकर अपमानित होना पड़ रहा है।
    शर्मनाक! शहीद स्तम्भ पर लगा कूड़े का अंबार, चुल्लू भर पानी में डूब मरे जिम्मेदार | #NayaSaberaNetwork

    ऐतिहासिक धरोहर को संजोकर रखने का उत्तरदायित्व आखिर किसका है?
    शहीद स्तम्भ की स्थिति को देखकर मन-मस्तिष्क में एक ही प्रश्न बार-बार कौंधता है कि देश के लिए शहीद होने वाले वीर सपूतों को आजाद देश द्वारा इसी तरह का सम्मान और स्थान मिलता है? यह संवैधानिक पद पर बैठे व्यक्ति के लिए बेहद शर्मनाक है। स्थानीय प्रशासन को यह सोचना चाहिए कि ऐतिहासिक धरोहर को संजोकर रखने का उत्तरदायित्व आखिर किसका है? कहां गयी देश की बड़ी-बड़ी राजनैतिक पार्टियां जो अपने मुखिया के एक इशारे पर सड़क से लेकर संसद चल विरोध प्रदर्शन करते हैं। क्या उनकी यह नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती कि जो देश के लिए अपने प्राणों की आहूति दे दी। उनकी शहादत के उचित सम्मान के लिए सत्ता के शिखर पर बैठे लोगों को इस सम्बंध से अवगत करायें, ताकि शहीदों को उचित सम्मान मिल सके। आज न जाने कितने केराकत तहसील क्षेत्र में शहीद परिवार हैं जो अपने शहीद बेटे के उचित सम्मान के लिए सरकार से उम्मीद लगाए बैठे हैं। वहीं केराकत के नार्मल मैदान में स्थित शहीद स्तम्भ को देखकर दिल सिहर हो उठता है, यह सोचनीय विषय है।

    *Ad : जौनपुर टाईल्स एण्ड सेनेट्री | लाइन बाजार थाने के बगल में जौनपुर | सम्पर्क करें - प्रो. अनुज विक्रम सिंह, मो. 9670770770*
    Ad

    *हीरो की कोई भी मोटरसाइकिल व स्कूटर खरीदिये और पाइये एक निश्चित उपहार | आटो व्हील्स हीरो जहांगीराबाद  | #NayaSaberaNetwork* https://www.nayasabera.com/2021/10/nayasaberanetwork_600.html --- *धनतेरस एवं दिवाली धमाका ऑफर घर ले आइए हीरो और अपनों की खुशियों को दीजिए रफ्तार | हीरो की कोई भी मोटरसाइकिल व स्कूटर खरीदिये और पाइये एक निश्चित उपहार | आटो व्हील्स हीरो जहांगीराबाद, जौनपुर, मो. 7290084876 अहमद, खां मण्डी, पॉलिटेक्निक चौराहा, जौनपुर, मो. 9076609344 | वेंकटेश्वर आटो मोबाइल विशेषरपुर, पचहटियाँ, जौनपुर मो. 7290046734*
    Ad

    *एस.आर.एस. हॉस्पिटल एवं ट्रामा सेन्टर स्पोर्ट्स सर्जरी डॉ. अभय प्रताप सिंह (हड्डी रोग विशेषज्ञ) आर्थोस्कोपिक एण्ड ज्वाइंट रिप्लेसमेंट ऑर्थोपेडिक सर्जन # फ्रैक्चर (नये एवं पुराने) # ज्वाइंट रिप्लेसमेंट सर्जरी # घुटने के लिगामेंट का बिना चीरा लगाए दूरबीन  # पद्धति से आपरेशन # ऑर्थोस्कोपिक सर्जरी # पैथोलोजी लैब # आई.सी.यू.यूनिट मछलीशहर पड़ाव, ईदगाह के सामने, जौनपुर (उ.प्र.) सम्पर्क- 7355358194, Email : srshospital123@gmail.com*
    Ad

    No comments