• Breaking News

    गाँव का कच्चा घर और ताखा...... | #NayaSaberaNetwork

    गाँव का कच्चा घर और ताखा......  | #NayaSaberaNetwork


    नया सबेरा नेटवर्क

    गाँव के कच्चे घरों का.... 
    एक सामान्य सा,
    वास्तु विन्यास होता है....
    चार-पांच कमरे,आँगन,                  
    दो-एक बरामदे और ओसार,
    आगे बड़ा सा दुआर...
    एक तरफ गौशाला... 
    सब कच्ची मिट्टी का बना एवं           
    खपड़ैल के छाजन वाला....
    कमरों का भी.... 
    अपना-अपना नाम करण था...
    दुछतिया,भुसौला घर,रसोईघर        
    और नयकी बहुरिया वाला घर... 
    पर........!
    इन सब में एक रचना,
    अमूमन मंदिरनुमा....!
    कॉमन पाई जाती थी 
    जिसे "ताखा" या "गौखा" 
    कहा जाता था....
    दुआरे वाले ताखे..... 
    अक्सर दरवाजे के दोनों ओर 
    शुभ-लाभ का संकेत करते...             
    ओसारे वाले पहले ताखे पर,
    दादा-दादी के चश्मे और....                
    रामायण और सोरठी-बृजभान....
    दूसरे ताखे पर.....
    बताशे का डिब्बा और
    लोटे में भरा पानी....
    आँगन का ताखा.... 
    तेल की कटोरी, उबटन और                 
    कजरौटा के लिए था...
    जो बुरी नजरों से..... 
    लाल को बचाता था..... 
    चुल्हानी के पास वाला ताखा        
    माचिस,ढिबरी और 
    बोतल भर मिट्टी के तेल के लिए...
    इसी बरामदे में बने ताखे पर             
    बिटिया के गुड्डा-गुड़िया और 
    खेल-खिलौनो के साथ, 
    चिप्पी और कंकड़ की, 
    पांच गोटियां भी रहती थी....         
    यही उसके सपनों का संसार था...      
    नई बहुरिया के कमरे का ताखा तो 
    शीशा,होठलाली,सिंदूर,कंघी, बिंदी और नेलपॉलिश के साथ,...
    उसका सिंगारदान था...
    भुसौला वाले घर में, 
    जिसमें अनाज रखे जाते थे, 
    उसके ताखे के पास गर्मियों में           
    आम का पाल डालना...
    कौन भूल सकता है....
    ताखा इस स्थान की पहचान था... 
    दुछतिया वाले कमरे का ताखा... 
    घर की मालकिन का होता था          
    जहाँ कथरी सिलने वाला..
    सुई-धागा,बच्चों के गुल्लक और          
    वही चाबी के गुच्छे के लिए               
    सुरक्षित स्थान भी था.....जो
    लोगों की नज़रों से भी सुरक्षित था
    गोशाले के ताखे पर.....                     
    गोदोहन की घी कटोरी, छन्ना और                   
    बछड़े  के लिए.....!
    बांस की ढरकी रखी जाती थी...
    जाहिर है....
    ताखे का अपना संसार था....
    पर.....अफसोस....!
    दुनियावी मायाजाल में, 
    हम कदम गाँव के,
    अपने ही... कच्चे घरों में....
    अब कभी रखते नहीं.....
    अफसोस इस बात का भी है कि      
     इन कच्चे घरों में भी अब
    ताखे कहीं दिखते नहीं...!
    ताखे कहीं दिखते नहीं...!!
    जितेंद्र दुबे
    पुलिस उप अधीक्षक, जौनपुर

    *Ad : स्नेहा सुपर स्पेशियलिटी हास्पिटल (यश हास्पिटल एण्ड ट्रामा सेन्टर) | डा. अवनीश कुमार सिंह M.B.B.S., (MLNMC, Prayagraj) M.S. (Ortho) GSVM, M.C, Kanpur, FUR (AIMS New Delhi), Ex-SR SGPGI, Lucknow, हड्डी एवं जोड़ रोग विशेषज्ञ | इमरजेंसी सुविधाएं 24 घण्टे | मुक्तेश्वर प्रसाद बालिका इण्टर कालेज के सामने, टी.डी. कालेज रोड, हुसेनाबाद-जौनपुर*
    Ad

    *AD : Prasad Group of Institutions | Jaunpur & Lucknow | ADMISSION OPEN 2021-22 | MBA, B.Tech, B.Pharm, D.Pharm, Polytechnic | B.Pharm, D.Pharm & Polytechnic Contact Us 7408120000, 9415315566 | B.Tech, MBA Contact Us 9721457570, 9628415566 | Punch-Hatia, Sadar, Jaunpur, Uttar Pradesh | www.pgi.edu.in*
    Ad

    *Ad : ◆ शुभलगन के खास मौके पर प्रत्येक 5700 सौ के खरीद पर स्पेशल ऑफर 1 चाँदी का सिक्का मुफ्त ◆ प्रत्येक 11000 हजार के खरीद पर 1 सोने का सिक्का मुफ्त ◆ रामबली सेठ आभूषण भण्डार (मड़ियाहूँ वाले) ◆ 75% (18Kt.) है तो 75% (18Kt.) का ही दाम लगेगा ◆ 91.6% (22Kt.) है तो (22Kt.) का ही दाम लगेगा ◆ वापसी में 0% कटौती ◆ राहुल सेठ 09721153037 ◆ जितना शुद्धता | उतना ही दाम ◆ विनोद सेठ अध्यक्ष- सर्राफा एसोसिएशन, मड़ियाहूँ पूर्व चेयरमैन प्रत्याशी- भारतीय जनता पार्टी, मड़ियाहूँ मो. 9451120840, 9918100728 ◆ पता : के. सन्स के ठीक सामने, कलेक्ट्री रोड, जौनपुर (उ.प्र.)*
    Ad

    No comments