• Breaking News

    मछलीशहर के खजुराहट गांव का वर्णन | #NayaSaberaNetwork

    मछलीशहर के खजुराहट गांव का वर्णन  | #NayaSaberaNetwork


    नया सबेरा नेटवर्क
    प्रकृति की अनुपम छटा
                मेरे गांव में
    ____&____
    प्रकृति की अनुपम छटा मेरे गांव में
     याद आ रही है मुझे !अपने गांव की
    ले चल मुझे! उसकी गोद में
    कोलाहल से दूर पीपल की छांव में
    सुकून के पल बिता लूं अपनों के बीच में 
     प्रकृति की अनुपम छटा मेरे गांव में 

    जहां प्यारा – सा आयताकार में घर है हमारा
    बड़े-बड़े कमरे बड़े बरामदे बड़ा– सा आंगन
    मेरे द्वार की शोभा बढ़ाता है
    और सब की मीठे पानी से प्यास बुझाता 
    जिसको अंग्रेजी में कहते हैं वेल
    पर, मुझे कुआं कहना ही भाता
     सदन के सामने द्वार से लगा
     छ: बीघे आम की  मीठी बगिया
    आंख बंद करके खाऊं लगे न खट्टा
    मेरी इसी बगिया में  द्वार के सामने प्यारा – सा शिवालय
    जिसमें मेरी चाची माला जाप किया करती थीं
    दूसरे छोर हरा– भरा खेत  उससे लगा तालाब
    सुबह –शाम देखते ही बनता
     प्रकृति की अनुपम छटा मेरे गांव में
    ले चल मुझे! गांव की ओर

    सोचती हूं कभी-कभी
    मेरा घर हम सब का गांव
    बसती थीं हम सबके प्राण उसमें
    हम सब की आवाजें गूंजती थीं कोने –कोने
    हम सब मिलकर पले  बढ़े जिसमें
    आज भी ! अकेली !
    बाट जोहती  है हम सबके आने की
    कुछ भी कमी ना है फिर भी लगता है मुझको!
    पश्चात संस्कृति की हवा ने बिखेर दिया हम सबको
    घूम आती हूं देश-विदेश
    क्षणिक  ही मुझे अच्छा! लगता 
    पर,
     जो आनंद  झरोखेदार  मड़हा  में एकसाथ हम सबको मिलता
    हंसते हंसते लोट–पोट हो जाते
     वह पीवीआर में कहां ?
     प्रकृति की अनुपम छटा मेरे गांव में
    ले चल मेरे नाथ! मुझे गांव की ओर
    मेरा गांव है बहुत सुंदर।



    हर नारी की कहानी एक ही जैसी लगती 
    कैसे कहूं मैं
    अंतर्मन में पीड़ा को छुपाएं
    सपने सजाती
    औरों पर
    अपार स्नेह लुटाती
    स्वयं प्रेम की प्यासी फिरती 
    एक नारी की व्यथा  को
    एक नारी ही समझती
    उठो! अबला
    चेतनाप्रकाश है तुम्हारे जीवन में
    बदल दो!
    और दिखला दो ! उन्हें भी!
    कुछ कर गुजरने की
    क्षमता हममें भी है
    आत्मनिर्भर बनो!
    सम्मान की जिंदगी जीना सीखो!
    पढ़ो! स्वयं बदलो! औरों को भी बदलो!
    सिसकियां बहाने का वक्त नहीं
    नवपथ निष्पलक नेत्रों से तुम्हें देख रहा
    निकलो ! घर से बाहर
    अपनी अस्मिता  को पहचानो
    हर नारी की कहानी एक जैसी ही लगती।
    (मौलिक रचना)


    हे संध्या ! रुको!
    थोड़ा धीरे धीरे जाना
    इतनी जल्दी भी क्या है?
    लौट आने दो!
    उन्हें अपने घरों में,
    जो सुबह से निकले हैं
    दो वक्त रोटी की तलाश में,
    मैं बैठी हूं अकेली
    ना सखिया ना कोई पहेली
    छुप –छुप के मैं तुम्हें 
    अपनी खिड़की से देखती हूं
    सोचती हूं__क्षणिक है तुम्हारा है यौवन
    अस्त हो रही हो!
    मस्त बैठी थी
    ले रही थी अंगड़ाई
    सकुचाई आंखों से देख रही थी चौतरफा
    पड़ी दृष्टि जब मेरी मार्तंड पर 
    हे गोधूलि!
    लुकाछिपी खेलने लगी 
    तेरी मुग्धा छवि से कैसे बच पाते
     स्वभाव धर्म जो ठहरा चित्रभानु का
    प्रियतमा हो! उनकी यह मान बैठी मन में
     संगिनी बन
    धीरे –धीरे साथ में ढल रही हो!
    कितनी सच्ची है तुम्हारी निष्ठा
    दे रही हो प्रणय का बलिदान
    पावन हो!शुचिता तेरी रग रग में
    अच्छा जाओ! मुझे भी याद आ गया
    हैं कुछ मेरी नैतिक मूल्य
    पूरा कर लूं ,सोची कुछ देर__
    साझा कर लूं, हे सांझ! तुझसे!
    मन के उदगार भाव
    नहीं है समय किसी के पास
    जो मुझे सुन सकें
    अच्छा लेती हूं तुझसे अलविदा
    दब गई मेरी  व्यथा मेरे अंतर्मन में
    चेतना  की है विवशता।

    चेतना की कलम से ,प्रयागराज

    *ADMISSION OPEN : KAMLA NEHRU ENGLISH SCHOOL | PLAY GROUP TO CLASS 8TH Karmahi ( Near Sevainala Bazar) Jaunpur | कमला नेहरू इंटर कॉलेज | प्रथम शाखा अकबरपुर-आदम (निकट शीतला चौकियां धाम) जौनपुर | द्वितीय शाखा कादीपुर-कोहड़ा (निकट जमीन पकड़ी) जौनपुर  | तृतीय शाखा- करमहीं (निकट सेवईनाला बाजार) जौनपुर | Call us : 77558 17891, 9453725649, 8853746551, 9415896695*
    Ad

    *Ad : एस.आर.एस. हॉस्पिटल एवं ट्रामा सेन्टर | स्पोर्ट्स सर्जरी | डॉ. अभय प्रताप सिंह | (हड्डी रोग विशेषज्ञ) | आर्थोस्कोपिक एण्ड ज्वाइंट रिप्लेसमेंट ऑर्थोपेडिक सर्जन | # फ्रैक्चर (नये एवं पुराने)|  # ज्वाइंट रिप्लेसमेंट सर्जरी | # घुटने के लिगामेंट का बिना चीरा लगाए दूरबीन |  # पद्धति से आपरेशन | # ऑर्थोस्कोपिक सर्जरी | # पैथोलोजी लैब | # आई.सी.यू.यूनिट | मछलीशहर पड़ाव, ईदगाह के सामने, जौनपुर (उ.प्र.) | सम्पर्क- 7355358194, Email : srshospital123@gmail.com*
    Ad



    *Ad : होली और शुभलगन के खास मौके पर प्रत्येक 5700 सौ के खरीद पर स्पेशल ऑफर 1 चाँदी का सिक्का मुफ्त प्रत्येक 11000 हजार के खरीद पर 1 सोने का सिक्का मुफ्त रामबली सेठ आभूषण भण्डार (मड़ियाहूँ वाले) 75% (18Kt.) है तो 75% (18Kt.) का ही दाम लगेगा। 91.6% (22Kt.) है तो (22Kt.) का ही दाम लगेगा। वापसी में 0% कटौती राहुल सेठ 09721153037 जितना शुद्धता | उतना ही दाम विनोद सेठ अध्यक्ष- सर्राफा एसोसिएशन, मड़ियाहूँ पूर्व चेयरमैन प्रत्याशी- भारतीय जनता पार्टी, मड़ियाहूँ मो. 9451120840, 9918100728 पता : के. सन्स के ठीक सामने, कलेक्ट्री रोड, जौनपुर (उ.प्र.)*
    Ad

    No comments