• Breaking News

    जौनपुर: तीन स्टील कंपनियों पर छापेमारी, आक्सीजन सिलेंडर बरामद | #NayaSaberaNetwork

    नया सबेरा नेटवर्क
    शाहगंज, जौनपुर। जिले में कोविड-19 से गंभीर रूप से संक्रमित मरीजों की टूटती सांसों को थामने के लिए आक्सीजन की किल्लत से हाहाकार मचा है। वहीं कुछ आपदा में अवसर तलाशने वाले जमाखोरी व कालाबाजारी करने से भी नहीं चूक रहे हैं। ऐसे लोगों पर पुलिस व राजस्व प्रशासन ने संयुक्त रूप से अभियान छेड़ रखा है।
    रविवार को तहसील प्रशासन व पुलिस ने सूचना पर नगर की तीन स्टील कंपनियों में छापेमारी कर 65 आक्सीजन सिलेंडर बरामद किए। इनमें से 20 सिलेंडर भरे बाकी खाली हैं। बरामद सिलेंडरों को कोरोना पीड़ित जरूरतमंदों के लिए सुरक्षित स्थान पर रखवा दिया है। फिलहाल कंपनी संचालकों के खिलाफ कोई पुलिस कार्रवाई नहीं की गई है।
    नायब तहसीलदार अमित कुमार सिंह ने कोतवाली पुलिस को साथ लेकर नगर में आजमगढ़ रोड स्थित पापुलर आयरन कंपनी पर छापा मारा। वहां 36 आक्सीजन सिलेंडर मिले। इसके बाद शीशी रोड ताखा पूरब स्थित सावित्री स्टील प्लांट व जगदंबा स्टील प्लांट में छापेमारी की। सावित्री स्टील प्लांट से 20 व जगदंबा स्टील प्लांट से नौ ऑक्सीजन सिलेंडर बरामद हुए। इनमें से 20 सिलेंडर भरे बाकी 45 खाली हैं। सभी भरे व खाली सिलेंडरों को तहसील प्रशासन ने कब्जे में ले लिया।

    पूछताछ में कंपनी संचालकों ने बताया कि वह कामर्शियल उपयोग के लिए आक्सीजन सिलेंडर रखे थे। नायब तहसीलदार अमित कुमार सिंह ने बताया कि बरामद आक्सीजन सिलेंडरों को सुरक्षित स्थान पर रखवा दिया गया है। भरे सिलेंडरों को कोरोना से गंभीर रूप से पीड़ित मरीजों को डाक्टरों की मांग पर उपलब्ध कराया जाएगा। कार्रवाई के बारे में पूछने पर नायब तहसीलदार ने बताया कि कंपनी संचालकों के खिलाफ फिलहाल कोई कार्रवाई नहीं की गई। वहीं क्षेत्र में चर्चा है कि उक्त कंपनियों से सैकड़ों ऑक्सीजन सिलिंडर बरामद हुए हैं लेकिन इसकी पुष्टि नहीं हो सकी है।

    जौनपुरः शाहगंज में हुई छापेमारी, ऑक्सीजन सिलेंडर बरामद
    शाहगंज, जौनपुर। उपजिलाधिकारी राजेश कुमार वर्मा के नेतृत्व में पहुंची टीम ने ताखा स्थित सावित्री आयरन से औद्योगिक उपयोग वाले ऑक्सीजन से भरे 26 और 16 खाली सिलेंडर ले गई।
    इसके अलावा टीम ने आजमगढ़ रोड स्थित पॉपुलर आयरन मिल से 41 खाली ऑक्सीजन सिलेंडर बरामद किया।
    वहीं मिल मालिक का कहना है कि प्रशासन ने उन्हें उनके सिलेंडरों को ले जाते वक्त किसी तरह का कोई लिखित रिकॉर्ड नहीं दिया।

    No comments