• Breaking News

    टीम पहल द्वारा शिक्षक साथी के पीड़ित परिवार को लगभग पौने पाँच लाख की मदद | #NayaSaberaNetwork

    फैज अंसारी
    धर्मापुर, जौनपुर। बेसिक शिक्षकों के स्वयं सहायता समूह टीम पहल ने अपने दिवंगत शिक्षक साथी स्व० शिवनंद राय की पत्नी मुन्नी राय को लगभग पौने पाँच लाख की आर्थिक मदद करके मिसाल कायम की है। सड़क दुर्घटना से लेकर असामयिक मृत्यु का शिकार होने वाले बेसिक शिक्षकों के परिवारों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए बेसिक शिक्षकों ने 26 जनवरी को टीम पहल नामक ग्रुप बनाकर मदद करने की शुरुआत की थी। इस टीम ने अपना पहला सहयोग स्व0 शिवानन्द राय की पत्नी मुन्नी राय को किया। पूरे प्रदेश से शिक्षकों ने 100-100 रुपये के अंशदान से पीड़ित परिवार के अकाउंट में लगभग पौने पाँच लाख रुपये जमा कराए हैं जो कि एक बड़ी धनराशि है। टीम पहल जौनपुर से जुड़े शिक्षकों ने सहभागिता निभाते हुए इस सहायता मंच को मजबूती प्रदान की है। अक्सर सड़क दुर्घटना अथवा गम्भीर बीमारी में मृत्यु के बाद पीड़ित परिवार आर्थिक रूप से टूट जाता है, ऐसे में बेसिक शिक्षकों ने अपनी खुद की टीम पहल बनाकर पीड़ित परिवारों की मदद का लक्ष्य निर्धारित किया जिसमें किसी शिक्षक साथी की मृत्यु होने पर उसके नॉमिनी के अकाउंट में बस 100 का सहयोग करना होता है। गूगल फार्म से रजिस्ट्रेशन करके कोई भी बेसिक शिक्षक इसका सदस्य बन सकता है और पूरे उत्तर प्रदेश से शिक्षकों ने इसमें अपना रजिस्ट्रेशन कराना शुरू किया है। जौनपुर जनपद में टीम पहल के जिला प्रभारी राजकुमार सिंह, प्राथमिक विद्यालय हाजीपुर, शाहगंज में कार्यरत हैं। उनका कहना है कि टीम पहल मुश्किल घड़ी में पीड़ित परिवारों के लिये आशा की नई किरण के रूप में सामने आई है। पूरे उत्तर प्रदेश से कोई भी शिक्षक साथी पीड़ित परिवार की सीधे मदद कर सकता है। अभी हमने एक शिक्षक साथी स्व० शिवानन्द राय की पत्नी मुन्नी राय को लगभग पौने पाँच लाख की मदद की है, यह राशि भविष्य में बढ़ती ही जाएगी।



    कैसे काम करती है टीम पहल

    पूरे प्रदेश के बेसिक शिक्षकों को लिंक के माध्यम से टेलीग्राम ग्रुप पर जोड़ा जा रहा है। सदस्यता लेने हेतु एक गूगल फार्म भरवाया जाता है जिसमें शिक्षक और उसके नॉमिनी की डिटेल होती है। टीम पहल से जुड़े किसी शिक्षक साथी के साथ दुर्घटना होने की दशा में उसके नॉमिनी का अकाउंट नम्बर जारी करके मदद की अपील की जाती है और बाकी सदस्य उस अकाउंट में 100₹ की मदद करते हैं।

    निःशुल्क व्यवस्था के तहत हो रहा कार्य

    टीम पहल मंच सिर्फ बेसिक के शिक्षकों के पीड़ित परिवारों को आर्थिक मदद करने के लिए बनाया गया है और किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जाता है। एकदम निःशुल्क व्यवस्था के तहत मदद करने वाले शिक्षक साथी द्वारा पीड़ित परिवार के खाते में पैसा क्रेडिट हो जाता है। टीम पहल की वेबसाइट पर सभी सहयोगी शिक्षकों की लिस्ट अपडेट कर दी जाती है जिसे प्रत्येक सदस्य अथवा व्यक्ति देख सकता है। समस्त कार्यवाही पूरी तरह से तकनीक पर आधारित एवं पारदर्शी है। इसी व्यवस्था के अंतर्गत टीम पहल ने अपने शिक्षक साथी स्व० शिवानन्द राय की पत्नी मुन्नी राय की मदद करके एक मिसाल कायम की है जिसकी सराहना शिक्षकों द्वारा की जा रही है।

    No comments