• Breaking News

    मनुष्य की आदत उसका स्वभाव व व्यवहार सब रसायन की करामात : डा. नरेन्द्र पाल सिंह | #NayaSaberaNetwork

    नेहरू बालोद्यान सीनियर सेकेण्डरी स्कूल जौनपुर में आयोजित पांच दिवसीय मोटिवेशनल
    नया सबेरा नेटवर्क
    जौनपुर। साइन्स कैम्प के चौथे दिन मुख्य वक्ता के रूप में विचार व्यक्त करते हुए तिलकधारी महाविद्यालय के रसायन विज्ञान के पूर्व विभागाध्यक्ष डा. नरेन्द्र पाल सिंह ने कहा कि मनुष्य की आदत उसका स्वभाव व व्यवहार सब रसायन की करामात है और उसी से प्रभावित होते रहते है जैसे अगर किसी व्यक्ति में कानफिडेन्स है तो वह सिरोटिन की वजह से अगर कोई व्यक्ति किसी से जल्दी घुल मिल जाता है तथा जल्दी रिस्ता बना लेता है तो उसके अन्दर आक्सीटोसिन की अधिकता के वजह से। कोई व्यक्ति बहुत चंचल है तो वह एड्रीनिलिन ' के वजह से। 


    उन्होने कहा हमारे प्रत्येक दिनचर्या में रसायन विज्ञान का योगदान है बच्चों में वैज्ञानिक सोच पैदा करना आवश्यक है जीवन को विज्ञान से जोड़ने की जरूरत है। रसायन विज्ञान की देन पालीमर ने मनुष्य की सुविधाओं में इजाफा किया है, कपड़ जुते, बैग, प्लास्टिक पैकेट सब पालीमर पर निर्भर है।


    आज के कार्यक्रम में प्रमुख रूप से विज्ञान प्रौद्योगिकी के वीपी सिंह, दिल्ली विश्वविद्यालय के डा. विनोद कुमार दूबे, विमल श्रीवास्तव, डा. चन्द्रकला सिंह, संजय भारद्वाज इत्यादि उपस्थित रहे कार्यक्रम में 9 विद्यालय के 80 छात्र प्रतिभाग कर रहे है।


    कार्यक्रम के अन्त में कार्यक्रम के समन्वयक डा. सीडी सिंह ने सभी वक्ताओं को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम का संचालन अरविन्द सिंह ने किया।






    No comments