• Breaking News

    अभिनेत्री रश्मि अगडेकर ने कहा, "ओटीटी प्लेटफार्म पर कंटेंट सचाई, ईमानदारी और बड़ी दिलेरी के साथ कही जाती है, अगर इस पर सेंसरशिप लागु होता है तो वेब कंटेंट के उद्देश्य को क्षति हो सकती है। 

    अभिनेत्री रश्मि अगडेकर २०१७ में ऑल्ट बालाजी की वेब सीरीज "देव डीडी" और बॉलीवुड मूवी "अंधाधुन" से दानी के किरदार में आयुष्मान खुराना के साथ डेब्यू किया था। जिसके बाद उन्होंने "रसभरी", "इममेचुअर", "देव डीडी सीजन २" के अल्हवा और भी कई वेब सीरीज की है, और उन्हें समीक्षकों द्वारा ख़फ़ी पसंद किया गया है। रश्मि अगडेकर हमेशा से अपनी बात बड़ी बेबाकी के साथ सभी के सामने रखती है, और इस बार भी अभिनेत्री जिन्होंने कई बड़े सुपरहिट हिट वेब सीरीज इंडस्ट्री को दी है तो जब बात वेब कंटेंट पर सेंसरशिप लागु होने पर आई है तो रश्मि ने अपनी राइ भी दी है।    

    रश्मि अगडेकर ने कहा है की " मुझे लगता है की सेंसरशिप कंटेंट की कॉलिटी को कई न कई हैंपर कर सकता है, और निर्माता को मजबूर कर सकते है की वो अपनी कहानी को आज़ादी के साथ लोगो सामने न रख पाए। ज्यादा तर ओटीटी प्लेटफार्म अपनी ज़िम्मेदारी और नियमो के साथ कंटेंट बनाते है जिससे किसी के भावनाओ को ठेस न पोहचे, इसके अल्हवा सभी वेब शो अपने खुद के डिस्क्लैमरस और रेटिंग के साथ कंटेंट क्रिएट करते है तो मुझे नहीं लगता है की इससे कुछ हेल्प होगा।"

    हमारे पास पहले से ही फिल्मों के लिए सेंसरशिप पर दिशानिर्देश हैं, अब कई फिल्म निर्माता और अभिनेता ओटीटी प्लेटफॉर्म की ओर अपना रुक कर चुके हैं, जहां वे सेंसर बोर्ड के प्रतिबंधों का सामना करने के वझे स्वतंत्र रूप से खुद को व्यक्त कर सकते हैं। लेकिन सरकार बोल्ड और अनफिल्टर्ड कंटेंट की वजह से ओटीटी प्लेटफार्म की सेंसरशिप के लिए दिशानिर्देश लगा ने की सोच रही है। जिस पर अभिनेत्री आगे कहती है की ," डिस्क्लैमरस और ऐज रेटिंग के ऊपर नियम ठीक है, लेकिन उसके आगे कुछ जरुरत नहीं है। ओटीटी प्लेटफार्म पर कंटेंट सचाई, ईमानदारी और बड़ी दिलेरी के साथ कही जाती है और अगर इस पर सेंसरशिप लागु होता है तो वेब कंटेंट के उद्देश्य को क्षति हो सकती है।      

    रश्मि अगडेकर एक बड़े प्रोजेक्ट पर काम कर रही है जिसका वो बहुत ही जड़ल अन्नोउंस्मेंट करने वाली है।





    No comments