• Breaking News

    ईश्वरी उपदेश के सांचे में ढला था मौला अली का जीवनः मौलाना महफुजूल | #NayaSaberaNetwork

    ईश्वरी उपदेश के सांचे में ढला था मौला अली का जीवनः मौलाना महफुजूल  | #NayaSaberaNetwork


    नया सबेरा नेटवर्क
    जौनपुर। पैगम्बर-ए-इस्लाम हजरत मोहम्मद मुस्तफा के दामाद शिया मुसलमानों के पहले इमाम व चौथे खलीफा हजरत इमाम अली इब्ने अबु तालिब का जन्मदिवस जिले में शुक्रवार को बड़े ही धूमधाम के साथ मनाया गया। घरों में मीठे-मीठे पकवान बनाये गये तो पूरा शहर मानो दुल्हन की तरह सजा था। हर तरफ बस नारे हैदरी या अली, या अली की सदा सुनायी पड़ रही थी। कहीं लोग ने केक काटा तो कहीं गरीब बेसहारा बच्चों को कापी, पेसिंल व किताब बांटकर इमाम के दिये पैगाम पर अमल किया। शाही किला पर अली फाउंडेशन द्वारा आयोजित कार्यक्रम व महफिल को खिताब करते हुए मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना महफुजूल हसन खान ने कहा कि मुसलमानों के चौथे खलीफा शिया समुदाय के पहले इमाम और पैगम्बर-ए-इस्लाम के दामाद हजरत अली एक ऐसे आदर्श महापुरुष थे जिनका पूरा जीवन ईश्वरी उपदेश के सांचे मे ढला हुआ था। महफिल में मशहूर शायरों ने अपने कलाम पेश कर मौला अली के जिंदगी पर रौशनी डाली। इससे पूर्व इमाम की नज्र की गयी। आयोजक माजिद हसन, अब्बास हुसैन अहसास, शावेज हैदर, शादाहुल हसन, आजम जैदी, नेहाल हैदर, शाहिद मेंहदी, साजिद हसन, रेहान, रूमी, मीजम सहित सैकड़ों की संख्या में लोग शामिल थे। अमन व शांति के पैगाम के लिए आसमान में रंग बिरंगे गुब्बारे छोड़े गये। देर रात्रि तक यहां महफिल का आयोजन चलता रहा जिसमें शहर के कई मशहूर शायरों ने अपने कलाम पेश किये।

    *Ad : जौनपुर टाईल्स एण्ड सेनेट्री | लाइन बाजार थाने के बगल में जौनपुर | सम्पर्क करें - प्रो. अनुज विक्रम सिंह, मो. 9670770770*
    Ad

    *Ad : किसी भी प्रकार के लोन के लिए सम्पर्क करें, कस्टमर केयर नम्बर : 8707026018, अधिकृत — विनोद यादव मो. 8726292670*
    Ad


    *Ad : देव होम्यो क्योर एण्ड केयर | खानापट्टी (सिकरारा) जौनपुर | डॉ. दुष्यंत कुमार सिंह  मो. 8052920000, 9455328836*
    Ad

    No comments