• Breaking News

    बाल विज्ञानियों ने प्रस्तुत किया सतत् जीवन के लिए विज्ञान से सम्बन्धित प्रोजेक्ट्स, अतिथियों ने की जमकर तारीफ | #NayaSaberaNetwork

    बाल विज्ञानियों ने प्रस्तुत किया सतत् जीवन के लिए विज्ञान से सम्बन्धित प्रोजेक्ट्स, अतिथियों ने की जमकर तारीफ  | #NayaSaberaNetwork


    नया सबेरा नेटवर्क
    जौनपुर। राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस की जनपद स्तरीय प्रतियोगिता रविवार को नेहरू बालोद्यान सीनियर सेकेण्डरी स्कूल, वन विहार रोड के प्रांगण से आनलाइन संचालित की गयी। इस वर्ष के लिए राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस का मुख्य विषय सतत् जीवन के लिए विज्ञान था। मुख्य विषय से सम्बन्धित स्वच्छता एवं सफाई व्यवस्था की स्थानीय समस्याओं पर आधारित बच्चे अपने प्रोजेक्ट्स तैयार करके विभिन्न स्तरीय आयोजनों में प्रस्तुत किये। यह जानकारी राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस जौनपुर की जिला समन्वयक श्रीमती चन्द्रकला सिंह ने दी।
    जिला समन्वयक ने आगे बताया कि राष्ट्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संचार परिषद भारत सरकार द्वारा बच्चों में कियेटिव सोच एवं वैज्ञानिक दृष्टिकोण पैदा करने के उद्देश्य से पिछले 26 वर्षों से लगातर पूरे देश में राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस का आयोजन सम्बन्धित राज्यों में विज्ञान लोकप्रियकरण के क्षेत्र में सुप्रसिद्ध सरकारी एवं गैरसरकारी संस्थाओं के माध्यम से शिक्षा विभाग के समन्वयन में सतत् किया जा रहा है जिसमें कई लाख बच्चे अपनेअपने क्षेत्र की समस्याओं का अध्ययन विज्ञान विधि से करके उसे समाधान करने का प्रयास करते है, और उसके सतत् दस्तावेजीकरण को विभिन्न स्तरीय बाल विज्ञान कांग्रेस में प्रस्तुत करते है, जिन्हे 'बाल वैज्ञानिक के रूप में सम्मानित किया जाता है। 
    जिला समन्वयक ने आगे बताया कि बच्चों द्वारा प्रोजेक्ट्स तैयार करने में सुविधा की दृष्टि से मुख्य विषय को 05 सब थीमों में भी विभक्त कर दिया गया था, जिसमें से 1. स्थायी जीवन के लिए पारिस्थितिकी तंत्र 2. स्थायी जीवन यापन के लिए उपयुक्त प्रौद्योगिकी स्थायी रहने के लिए सामाजिक नवाचार 4. स्थायी जीवन के लिए डिजाइन विकास माडलिंग और योजना 5. स्थायी जीवन यापन के लिए पारम्परिक ज्ञान प्रणाली सम्बन्धित उप विषयों के अन्तर्गत बच्चों ने पता किया कि उनके आस-पास विज्ञान संसाधन से सम्बन्धित क्या-क्या प्रमुख समस्याएं है, और वे अपने प्रोजक्ट के अन्तर्गत विज्ञान विधि से कार्य कर के उसे पहचानेंगे तथा कार्य योजना तैयार करके उसके समाधान का प्रयास किये बच्चे पता लगाये कि जौनपुर में स्वच्छता एवं सफाई व्यवस्था और समाज का परस्पर तालमेल कैसा है, स्वच्छता एवं सफाई व्यवस्था और पर्यावरण परस्पर किस रूप में जुड़े हुये हैं और उसका पर्यावरण पर प्रभाव कैसा पड़ रहा है, बच्चे अध्ययन के दौरान अपने आस पास के क्षेत्र में पता किये, कि स्वच्छता एवं सफाई व्यवस्था प्रबन्धन के क्या क्या उपाय किये है अथवा किये जा रहे हैं और वे अपने स्तर से क्या क्या उपाय कर सकते है, बच्चे स्वच्छता एवं सफाई व्यवस्था की प्लानिंग भी किये, और उसे एक नमूने के रूप में प्रस्तुत करने के प्रयास किये, राष्ट्रीय बाल विज्ञान काग्रेस की इस प्रतियोगिता में जनपद के विभिन्न 20 विद्यालयों की 121 टीमों ने प्रतिभाग किया जिसमें से आलोक कुमार नाविक (नेहरू बालोधान सी० से० स्कूल, जौनपुर ), रिया अग्रहरी (गाँधी स्मारक इo का० समोधपुर, जौनपुर), भाग्यवर्धन जायसवाल (नेहरू बालोद्यान सी० से० स्कूल, जौनपुर ), प्रीति यादव (मो0 हसन इ० का०, जौनपुर), रिया मिश्रा (गाँधी स्मारक इ० का0 समोधपुर, जौनपुर ) चयनित हुए।
    ज्ञातव्य है कि राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस का राज्य स्तरीय आयोजन 23. 24. 25 जनवरी को आनलाइन सम्पन्न होने जा रहा है। कार्यक्रम में शामिल प्रोजेक्ट के मूल्यांकन को आनलाइन तिलकधारी महाविद्यालय के डॉ. सुदेश कुमार सिंह (भौतिकी विभाग), डॉ. सुधाशु सिन्हा (बीए विभाग), डा. मनोज कुमार त्रिपाठी (कृषि विज्ञान विभाग) ने किया। कार्यक्रम में विभिन्न विद्यालयों के शिक्षक एवं बच्चे आनलानइन जुड़े थे अतिरिक्त बाल विज्ञान कांग्रेस के सह समन्वयक डॉ. सी० डी० सिंह उपस्थित रहे। कार्यक्रम के संचालन में शानू उपाध्याय, ताराशंकर त्रिपाठी, दिव्य श्रीवास्तव, तथा अमरेश जी का सहयोग सराहनीय रहा।

    *Ad : हड्डी एवं जोड़ रोग विशषेज्ञ डॉ. अवनीश कुमार सिंह की तरफ से नव वर्ष 2021, मकर संक्रान्ति एवं गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं*
    Ad

    *Ad : पत्रकार आरिफ अंसारी की तरफ से जनपदवासियों को नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं*
    Ad

    *Ad : प्राथमिक शिक्षक संघ जौनपुर के वरिष्ठ उपाध्यक्ष लाल साहब यादव की तरफ से नव वर्ष 2021, मकर संक्रान्ति एवं गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाई*
    Ad



    No comments