• Breaking News

    शिक्षक विरोधी इस काले कानून को तत्काल लिया जाय वापस | #NayaSaberaNetwork

    शिक्षक विरोधी इस काले कानून को तत्काल लिया जाय वापस  | #NayaSaberaNetwork


    नया सबेरा नेटवर्क
    शिक्षकों का शोषण करने वाला है सरकार का यह कानून
    जौनपुर। विगत 8 जनवरी को बेसिक शिक्षा परिषद विभाग द्वारा निर्देश दिया गया है कि परिषदीय विद्यालयों के शिक्षकों का मूल्यांकन कर वार्षिक गोपनीय आख्या ब्लाक/जनपद के अधिकारियों द्वारा विभाग को प्रेषित की जाएगी और इस गोपनीय आख्या के आधार पर ही शिक्षकों की वेतन वृद्धि व पदोन्नित की जाएगी।
    उपरोक्त आदेश पूर्ण रूप से अव्यवहारिक एवं शिक्षकों का शोषण करने वाला है, विभाग द्वारा जारी निर्देश के अनुसार विद्यालय में कायाकल्प के तहत होने वाले कार्यों के लिए भी अंक तय कर उनका उल्लेख शिक्षकों की गोपनीय आख्या में करने की व्यवस्था की गई है जो पूरी तरह से नियम विरु द्ध व अनुचित है, क्योंकि कायाकल्प के कार्य स्थानीय प्रधानों व पंचायती राज विभाग के द्वारा करवाए जाते हैं इसलिए इन कार्यों की पूर्णता के लिए शिक्षकों को कैसे जिम्मेदार बनाया जा सकता है या फिर इसके आधार पर शिक्षकों की ग्रेडिंग कैसे कर सकते हैं। 
    यह कानून बहुत कुछ 1919 के अंग्रेजों के काले कानून रोलेट एक्ट की याद को ताजा करता है जिसके तहत किसी भी भारतीय को गोपनीय जानकारी के आधार पर बिना मुकदमा चलाए जेल में डाल दिया जाता था और उसको यह तक जानने का अधिकार नहीं होता था कि उसके खिलाफ मुकदमा किस व्यक्ति ने और क्यों किया क्योंकि यह कानून ही गोपनीय था।

    *Ad : जौनपुर के विधान परिषद सदस्य बृजेश सिंह प्रिंसू की तरफ से नव वर्ष 2021, मकर संक्रान्ति एवं गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाई*
    Ad


    *Ad : उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ जौनपुर के जिलाध्यक्ष अमित सिंह की तरफ से नव वर्ष 2021, मकर संक्रान्ति एवं गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाई*
    Ad

    *Ad : अपना दल व्यापार मण्डल प्रकोष्ठ के मंडल प्रभारी अनुज विक्रम सिंह की तरफ से नव वर्ष 2021, मकर संक्रान्ति एवं गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाई*
    Ad

    No comments