• Breaking News

    जौनपुर के नए डीएम मनीष वर्मा के बारे में यह नहीं जानते होंगे आप | #NayaSaberaNetwork

    अंकित जायसवाल
    जौनपुर। डीएम दिनेश कुमार सिंह को प्रदेश सरकार ने डीएम जौनपुर से कमिश्नर चित्रकूट बना दिया है। अब आईएएस मनीष कुमार वर्मा को जौनपुर का नया डीएम बनाया गया है। बतौर डीएम उनकी दूसरी तैनाती है। 


    गौरतलब हो कि डीएम मनीष कुमार वर्मा वर्ष 2011 बैच के आईएएस हैं। बतौर जिलाधिकारी कौशाम्बी में उनकी पहली नियुक्ति है। इसके बाद वह विशेष सचिव बेसिक शिक्षा बनाए गए हैं। डीएम से पहले पहले वह प्रतापगढ़ व मथुरा के सीडीओ रह चुके हैं। जिलाधिकारी बनने से पहले वह विकास प्राधिकरण नोएडा में अपर मुख्य कार्य पालक पद पर तैनात रहे।

    कानून व्यवस्था को सुदृढ़ बनाए रखना, केंद्र व राज्य सरकार की योजनाओं का प्रभावी ढंग से क्रियान्वयन उनकी प्राथमिकता में है। जन शिकायतों का निस्तारण भी प्राथमिकता में शामिल हैं।

    जिला अस्पताल में करा चुके हैं पत्नी की डिलीवरी
    कौशाम्बी जिले में मनीष कुमार जब डीएम थे तब उन्होंने अपनी पत्नी की डिलीवरी सरकारी अस्पताल में करवा कर एक उदाहरण पेश किया है। उन्होंने अपनी अर्धांगिनी को जिले के सरकारी अस्पताल में शनिवार को भर्ती कराया जहां देर रात उनकी पत्नी ने एक बेटी को जन्म दिया। श्री वर्मा ने प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए यह कदम उठाया था। उन्होंने यह संदेश दिया था कि सरकारी अस्पतालों में प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना के तहत ही प्रसव कराएं जिससे उन्हें योजना का लाभ मिल सके।
    बतौर डीएम कौशाम्बी की इस अनूठी पहल ने साबित कर दिया कि आज भी सोच बदलने की जरूरत है कि सरकारी सुविधाएं किसी भी बड़े हॉस्पिटल से कम नहीं है। उनका मानना है कि सरकारी अस्पतालों में भी बेहतर सुविधाएं हैं। बावजूद इसके लोग प्राइवेट हॉस्पिटल की तरफ अंधी दौड़ लगाते हैं। सूत्रों ने बताया कि शनिवार (10 अक्टूबर) की सुबह जब डीएम की पत्नी अंकिता राज को प्रसव पीड़ा शुरू हुई। तब डीएम ने अपनी पत्नी से जिले के सरकारी अस्पताल में प्रसव कराने को कहा, जिसके लिए वो तैयार हो गई।
    बच्ची को जन्म देने पर अंकिता राज को प्रधानमंत्री मातृत्व वंदन योजना के तहत पांच हजार रुपये मिले हैं। हालांकि, डीएम ने कहा कि उन्होंने पैसे पाने के लिए ऐसा नहीं किया बल्कि लोगों को यह संदेश देने की कोशिश की है कि सरकारी अस्पताल में प्रसव कराना चाहिए और सरकारी योजना का लाभ उठाना चाहिए।

    1 comment:

    1. Manish Kumar Varma IAS officer h. Iss liye unko sarkari yojana ka turant Labh mila! Koi grib hota to ulta latak a- Dete.

      ReplyDelete