• Breaking News

    संगठन की सबसे बड़ी कमजोरी, नेतृत्व की विश्वसनीयता का संकट : रमेश सिंह | #NayaSaberaNetwork

    नया सबेरा नेटवर्क
    मिर्ज़ापुर। माध्यमिक शिक्षक संघ को दलगत राजनीति से बचाने,  संगठन को सरकार और  सत्ताधारी दल का गिरवी न होने देने एवं आगामी विधान परिषद चुनाव में किसी कार्यरत शिक्षक साथी को ही जिताने की अपील के साथ माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं वाराणसी खंड शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र से प्रत्याशी रमेश सिंह ने जनपद के विभिन्न विद्यालयों सरदार बल्लभ भाई पटेल इन्टर कालेज बढैनी बभनियाव, पारसनाथ सिंह शांति देवी इंटर कालेज बाराडीह राजगढ़, बृजराज आदर्श इंटर कालेज चौखडा राजगढ़, पंडित ज्वाला प्रसाद इंटर कालेज खोराडीह, किसान इन्टर कालेज राजगढ़ व शांति निकेतन इन्टर कालेज पचोखरा का दौरा किया।
    इस दौरान इन विद्यालयों में शिक्षकों को सम्बोधित करते हुए रमेश सिंह ने कहा कि शिक्षक साथियों, राजनीति में सबसे बड़ा संकट विश्वसनीयता का है। शिक्षक नेता जिन बातों को न केवल कहते हैं, बल्कि दूसरों से उसके पालन की उम्मीद भी करते हैं लेकिन जब उन बातों को खुद पालन करने का वक्त आता है तो मुकर जाते हैं। ऐसे ही लोगों को मतदाता अपने वोटों के माध्यम से पूरी इज्ज़त के साथ बाहर का रास्ता दिखाते हैं। वाराणसी खंड शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र भी इसका अपवाद नहीं है। एक दूसरे अध्यक्ष को रिटायर बता-बता कर खुद न केवल सदन में पहुंच गये बल्कि समानान्तर प्रदेश अध्यक्ष भी बन गए लेकिन 2011में खुद रिटायर होने के बाद माननीय महोदय ने रिटायर का राग अलापना बन्द कर दिया। अब जब आम मतदाता शिक्षक उन्हें रिटायर होने का दुःखद एहसास कराना शुरू कर दिया है ,तो सदन और सत्ता का 12 वर्षीय सुख आगे भी अनवरत जारी रखने के लिए सत्ताधारी दल की गोंद में जा गिरे हैं। ऐसे लोगों से न तो संगठन और न ही शिक्षकों का भला होने वाला है इसलिए आप सभी से अनुरोध है कि परिवर्तन कीजिये और किसी जुझारू एवं कार्यरत शिक्षक साथी को ही सदन में भेजने का काम कीजिए। 

    अभियान में मिर्जापुर के मंडलीय मंत्री रविन्द्र सिंह पटेल, प्रधानाचार्य विजय कुमार सिंह एवं जौनपुर के जिला उपाध्यक्षगण समर बहादुर सिंह व दयाशंकर यादव साथ रहे।

    No comments