• Breaking News

    नवरात्र के दौरान सौन्दर्य टिप्स By शहनाज हुसैन | #NayaSaberaNetwork

    देश में त्योहारों का सीजन शुरू होने ही वाला है। नवरात्रों से पावन त्योहारों की शुरुआत मानी जाती है और नवरात्र कुछ ही दिन बाद शुरू होने वाले हैं। दुनिया भर में हिन्दूओं के सबसे पवित्र त्योहारों में एक माने जाने वाले नवरात्र इस साल  17 अक्टूबर से 25 अक्टूबर तक मनाये जायेंगे। नवरात्र के बाद दशहरा, धनतेरस, दिवाली, करवा चौथ, भाई दूज, छठ पूजा सहित अनेक त्यौहार मनाये जायेंगे।
    नवरात्र के दौरान सौन्दर्य टिप्स By शहनाज हुसैन | #NayaSaberaNetwork


    नवरात्र के दौरान महिलाओं को डांडिया, गरबा डांस, दुर्गा पूजा पंडालों सहित अनेक सामाजिक धार्मिक कार्यक्रमों में महिलाओं को परिवार सहित शिरकत करनी पड़ती है जहां काफी संख्या में जान पहचान के लोग, रिश्तेदार इकट्ठा होते हैं और इन पवित्र मौकों पर महिलाएं भक्तिमय, मस्ती, जोश, उमंग से परिपूर्ण अपने सबसे सुन्दर और आकर्षक व्यक्तित्व में दिखना चाहेंगी तो जाहिर है कि इन त्योहारों की धूम के बीच महिलाएं सबसे खूबसूरत दिखना पसन्द करती हैं।

    नवरात्र में मौसम तेजी से करवट लेता है और इस मौसम में ठण्ड तेजी से बढ़ना शुरू हो जाती है। ऐसे में वातावरण में तापमान गिरने से नमी में कमी आ जाती है और त्वचा से जुड़ी अनेक सौन्दर्य समस्याएं खड़ी हो जाती हैं। नवरात्रों में  ज्यादातर महिलाएं व्रत रखती हैं तथा अपनी व्यवस्तताओं की वजह से सही समय पर उचित फलाहार आदि नहीं ले पाती जिससे उनके स्वास्थ्य पर असर पड़ता है और चेहरा बुझा बुझा सा दिखने लगता है लेकिन अगर आप अपनी सभी व्यस्तताओं को निभाते हुए भी अपनी आभा और आकर्षण बरकरार रखना चाहती हैं तो आपको कुछ घरेलू उपाय करने होंगे।
    हमेशा यह ध्यान रखें कि अगर आपका उत्सव खुले में आयोजित किया जा रहा है तो मात्र बेसिक तक ही सीमित रहें तथा हलके मेकअप पर भरोसा करें क्योंकि ज्यादा मेकअप गर्मी, उमस या मौसम की मार से पिघल कर फैल जाएगा और आपका मूड खराब हो सकता है तथा आप उत्सव का पूरा आनन्द नहीं उठा पाएंगी। उत्सव खुले में शिरकत करने जाते वक्त आप प्राइमर, फाउंडेशन या कन्सीलर, आई मेकअप तथा सामान्य लिपस्टिक तक  सीमित रखिये जिससे आपका मेकअप खराब न हो तथा आप उत्सव का भरपूर आनन्द उठा सकें।

    नवरात्र के पावन त्यौहार में अगर आप किसी पार्टी/ उत्सव या गरबा डांस में जा रही हैं तो केवल वाटर प्रूफ मेकअप पर केन्द्रित रहें। वातावरण में गर्मी तथा डांस से शरीर के तापमान में बढ़ोतरी से आप का मेकअप खराब हो सकता है  तथा वाटरप्रूफ मेकअप से आई लाइनर, लिपस्टिक, फॉउंडेशन बनी रहेगी तथा आप उत्सव का आनन्द उठा  सकेंगी। अगर आप परम्परागत स्कर्ट के साथ बैकलेस ब्लाउज/चोली पहन कर किसी उत्सव, गरबा या डांडिया में जा रही हैं तो अपनी पीठ पर वैक्स या पोलिश करवाना कभी मत भूलियेगा लेकिन पीठ पर वैक्स या पोलिश उत्सव से कुछ दिन पहले करवा लीजिये ताकि अगर किसी किस्म के फोड़े, फुन्सी आदि की समस्या आये तो उसका समय रहते उपचार कर लिया जाये।

    आप उत्सव, गरबा या डांडिया में नाचने जा रही हैं या महज दर्शक बनकर उसका लुत्फ उठाना चाहती हैं लेकिन दोनों ही मामलों में हलकी फाउंडेशन का उपयोग करें  क्योंकि आपको पसीना आते ही भारी फाउंडेशन पिघलनी शुरू हो जाएगी और आपका मजा किरकिरा हो जायेगा।

    यदि आप हर रात्रि गरबा डांस एन्जॉय करना चाहती हैं तो आप को अपनी आँखों पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है ताकि आपकी आँखों में सूजन/ पफीनेस न आ जाये / आँखों की सुन्दरता के लिए प्रीतिदिन आठ/दस घण्टे की नींद जरूर सुनिश्चित करें।

    अपने चेहरे या त्वचा पर मेकअप लगाने से पहले कुछ सावधानियां बरतेंगे तो आप का मेक अप आपकी त्वचा के अनुरूप आपके सौन्दर्य को निखारने में अहम भूमिका अदा करेगा जिससे आप सभी नौ नवरात्रों में खिली खिली नज़र आएँगी। त्वचा की टोनिंग क्लींजिंग प्रक्रिया का महत्वपूर्ण  हिस्सा है। अच्छी टोनिंग से त्वचा पर जमे तैलीय पदार्थ, गन्दगी, अवशेष आदि को हटाने में मदद मिलती है जिससे त्वचा को कोमल, पौषित, नमीयुक्त रखा जा सकता है  तथा त्वचा का पीएच सन्तुलन बरकरार रहता है।

    अपने चेहरे की सुन्दरता के साथ ही अपने हाथ के नाखूनों और पाँवों पर जरूर ध्यान दीजिये। नवरात्र शुरू होने से पहले मैनीक्योर व पेडीक्योर जरूर करवा लें/ अगर कोरोना या किसी अन्य वजह से आप सैलून जाने से कतरा रही हैं तो घर बैठे ही निम्बू जूस और चीनी के मिश्रण से अपने हाथों, पाँवों और टांगों की रगड़ कर मालिश कर लीजिये।

    त्योहारों की दौड़ धूप के बीच पर्याप्त पानी, जूस या सूप लेना जरूर याद रखें क्योंकि गहमा गहमी के बीच आप के शरीर में नमी में कमी आ सकती है जिससे आपकी त्वचा शुष्क हो सकती है और आप थकी थकी से दिखने लगेंगी। डांडिया डांस में त्वचा की चमक बरकरार रखने में पर्याप्त  तरल पदार्थ /लिक्विड बहुत जरूरी होता है। 

    नारियल पानी, निम्बू पानी, ताजा पानी, ताजा जूस आपको तारो ताजा रखेगा जिससे आपको थकावट महसूस नहीं होगी और आप की त्वचा प्रकृतिक तौर पर खिली रहेगी। आप अपने साथ कंसन्ट्रेटे निम्बू जूस, चीनी, काला नमक और काली मिर्च पाउडर रखिये तथा ब्रेक के दौरान इसमें अपने स्वाद के अनुरूप पानी मिलाकर चुस्की लगाकर आहिस्ता आहिस्ता पी लीजिये। इससे आप के शरीर में नियमित ऊर्जा का संचार होगा तथा आपका स्वास्थ्य और आपकी मूड दोनों ही जोश /उत्साह से परिपूर्ण रहेंगे।

    पाँवों आपके जीवन का आधार होते हैं। गरबा में आप दिल खोल कर जब नाचेंगी तो इसमें आपके पाँवों  की सेहत और मजबूती दोनों ही बहुत जरूरी होती हैं। अगर आप को सभी नौ दिन डांस करना है या सामाजिक, धार्मिक उत्सवों में सक्रिय हिस्सेदारी करनी है तो आप प्रतिदिन पाँवों पर जरूर ध्यान दीजिए अन्यथा कहीं आपके पाँवों ही जबाब न दे जाएँ।

    पांवों में थकावट की वजह से होने वाली दर्द को कम करने और पाँवों को तरो ताजा रखने के लिए रोजाना सोने से पहले पांवों की मालिश बहुत जरुरी है।

    आधे टब गर्म पानी में आधा कप बेकिंग सोडा, थोड़ा सा सैंधा नमक, एक कप एप्पल साइडर तथा कुछ बूंदें लैवेंडर तेल डाल कर अपने पाँवों को इस मिश्रण में कुछ देर तक टब में रहने दीजिये तथा उसके बाद पाँवों को साफ़ कॉटन से साफ़ कर लीजिये। इससे आपके पांव तरो ताजा, मुलायम और सुदृह रहेंगे।

    इस त्यौहार में दौरान अपनी प्राकृतिक आभा एवं सौंदर्य बनाए रखने के लिए सबसे पहले अपनी त्वचा को साफ करें तथा उस पर तरल माॅइस्चराइजर लगा लीजिए। तैलीय त्वचा के लिए काॅटनवूल की मदद में चेहरे पर अस्ट्रिजन्न्ट लोशन लगा लीजिए तथा कुछ मिनट तक इंतजार करने के बाद चेहरे के दाग धब्बों को फांउडेशन लगाने से पहले संगोपक से ढक लीजिए या धब्बों पर हल्के रंग का फाऊंडेशन लगाए तथा उसके बाद पूरे चेहरे पर सामान्य फाऊंडेशन का उपयोग करें। यदि आप कोई मुहांसा या काला धब्बा कवर करना चाहते है तो उसे फांउडेशन के उपयोग से पहले ढक लें।
    चेहरे पर फाउंडेशन लगा कर इसे गीले स्पंज से या ऊंगलियों की मदद से चेहरे तथा गर्दन पर पूरी तरह मिला लें। 

    फाउंडेशन को स्थिर करने के लिए खुला पाउडर उपयोग में लाएं फाउंडेशन को मटमैले टोन से उपयोग करें न कि गुलाबी टोन से। मेरी राय में भारतीय त्वचा पर मटमैला रंग काफी जंचता है। यदि आपकी त्वचा अत्यध्कि गोरी है तो गुलाबी रंगत वाली मटमैली टोन का उपयोग करें। यदि आपकी त्वचा निखरी है लेकिन इसमें पीलापन है तो उस दशा में गुलाबी रंगत वाली टोन का उपयोग न करें बल्कि बिस्कुट रंगत को टोन का उपयोग करें। सांवले रंग में भूरे रंग की टोन उपयुक्त है। मेरे विचार में ज्यादातर भारतीय त्वचा के रंग पीले की अपेक्षा मटमैले तथा बिस्किट फाउंडेशन में ज्यादा आकर्षक दिखते है।

    नवरात्र में पावन त्यौहारों में आप गोल्ड फाउंडेशन का उपयोग भी कर सकती है। इसे चेहरे पर लगाईए तथा गीले स्पंज से पूरे चेहरे पर धूमा दीजिए ताकि त्वचा को सुनहरी रंगत दी जा सके। जब भी आप मेकअप करे तो उसे जरूरत से ज्यादा न लीपें तथा न ही जयादा रंगड़े। फाउंडेशन या ब्लशर में उसे स्पर्श से उंगलियों के उपयोग से लगाना ही बेहतर होता है। इसे गीले स्पंज से भी हल्के तरीके से पूरे चेहरे पर लगाया जा सकता है।

    गालों पर हल्के बल्शर का प्रयोग किया जाना चाहिए तथा पाऊडर ब्लशर का उपयोग आसानी से किया जा सकता है तथा उसे पाऊडर लगाने के बाद प्रयोग करें। इसे गालों पर लगाने के बाद ऊपरी तथा नीचली तरफ सहजता धीरे-धीरे लगाऐ। उसके बाद गालों पर हल्के रंग हाईलाइटर का प्रयोग करें तथा इसे पूरी तरह त्वचा पर मिला लें।

    रात्रि में ब्लशर के रंगों का होंठों के रंगों के अनूकूल होना जरूरी नहीं है यदि आपने नारंगी लिपस्टिक लगाई है तो नारंगी व्लशर का प्रयोग न करें। निखरी त्वचा के लिए गुलाबी तथा लाल ब्लशर का प्रयोग करें। यदि आपकी त्वचा में पीलापन है तो नारंगी ब्लशर के उपयोग से परहेज करें। गेहूएं रेग की त्वचा गुलाबी, मुंगिया, कांस्य रंग अत्याधिक लाभदायक हो सकते है तथा सांवले रंग के लिए आलू बुखारा, गहरा लाल रंग तथा कांस्य रंग सबसे ज्यादा उपयुक्त साबित होगा।

    रात को सोने से पहले अपना मेकअप/ज्वेलरी उतरना न भूलें/ ज्वेलरी पर दिन भर की जमा धूल मिट्टी को हटाने के लिए ज्वेलरी को धो कर साफ कपड़े से पौंछ दें ताकि किसी एलर्जी से बचा जा सके/ मेकअप को बेबी आयल की मदद से आहिस्ता से हटाएं तथा प्रभावित त्वचा पर आइस मलें /त्वचा पर वर्जिन नारियल तेल की मालिश बहुत लाभदायक होगी।


    (लेखिका अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त सौन्दर्य विशेषज्ञ है तथा हर्बल क्वीन के रूप में लोकप्रिय है)

    *बढ़ाएं अपना व्यापार, नया सबेरा के साथ. डिजिटल विज्ञापन के लिए सम्पर्क करें - 9807374781, 9792499320*
    Ad


    *Advt : रामबली सेठ आभूषण भण्डार (मड़ियाहूं वाले) | के. सन्स के ठीक सामने, कलेक्ट्री रोड, जौनपुर उ.प्र.*
    Advt.

    *Advt : वाराणसी खण्ड शिक्षा निर्वाचन क्षेत्र से रमेश सिंह प्रांतीय उपाध्यक्ष उ.प्र.मा​.शि.सं. के नाम के सामने वाले खाने में 1 लिखकर प्रथम वरीयता मत देकर शिक्षकों की आवाज बुलंद करने हेतु विधान परिषद भेजने की कृपा करें।*
    Advt.

    No comments