• Breaking News

    संकट के समय ही नेता की पहचान होती है : रमेश सिंह | #NayaSaberaNetwork

    नया सबेरा नेटवर्क
    वाराणसी। शिक्षक संगठन को राजनीतिक दलों का गुलाम होने से बचाने एवं आगामी विधान परिषद चुनाव में किसी राजनीतिक दल के या उसके समर्थित उम्मीदवारों को कदापि वोट न देने की अपील के साथ, माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं वाराणसी खण्ड शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र से प्रत्याशी रमेश सिंह ने वाराणसी जनपद के विभिन्न विद्यालयों नेशनल इन्टर कालेज पीलीकोठी, बीपी गुजरात इन्टर कालेज,  श्री बल्लभपीठ विद्या बालिका इन्टरकालेज, अग्रसेन कन्या इन्टर कालेज, हरिश्चंद्र बालिका इन्टर कालेज, हरिश्चंद्र इंटर कालेज, डीएवी इंटर कालेज का दौरा किया। 
    संकट के समय ही नेता की पहचान होती है : रमेश सिंह | #NayaSaberaNetwork

    श्री सिंह ने कहा कि साथियों संकट के समय ही नेता की पहचान होती है और आज दावे के साथ आप कह सकते हैं कि सत्ताधारी दल की गोद में बैठने वाला आपका नेता नहीं हो सकता है। आज माध्यमिक शिक्षा की जो दुर्गति हुई है, उसके लिए अधिकारी, सरकारी, राजनीतिक दल और शिक्षक संगठनों के ऐसे माननीयों का गठजोड़ जिम्मेदार है, जो सदन में हमारे वोटों से चुनकर पहुंचे थे। सरकार ने कभी भी माध्यमिक विद्यालयों की आवश्यकता को समझा नहीं, उन्हें संसाधनविहीन बनाने का हर सम्भव प्रयास किया।

    आलम यह है कि माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षकों के सृजित 1,38,000 पदों को जनशक्ति के नाम पर काटकर 76,000 कर दिया गया और फिर उसे भी कई जांच के नाम पर कम करने की तैयारी है। विद्यालयों में शिक्षकों के लगभग 50 प्रतिशत पद रिक्त हैं। अधिकारी भी के बलू लूट-खसोट के चक्कर में माध्यमिक विद्यालयों और शिक्षा को चौपट करने का सराहनीय कार्य किए। रही बात शिक्षकों द्वारा चुने गए प्रतिनिधियों की तो वे केवल सरकार के गुप्त दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए शिक्षकों के आन्दोलनों को बेचकर अपने हितों की मुनाफा वसूली करते रहे। अभी चंद रोज पहले एक माननीय ने सत्ताधारी दल की उपलब्धियां गिनाकर शिक्षकों और उनके संघर्षों के अरमानों को चकनाचूर कर दिया। अवसरवादिता का इससे निकृष्ट उदाहरण शायद ही आपने देखा हो। शिक्षक साथियों, अगर संगठन को बचाना है तो ऐसे अवसरवादियों को हटाना ही होगा इसलिए सोच समझकर मतदान करने की आवश्यकता है और किसी कार्यरत शिक्षक साथी को जो शिक्षक संघर्षों और संगठन के मशाल की लौ को जलाए रख सके, को जिताने की आवश्यकता है। वाराणसी के पूर्व जिलाध्यक्ष अशोक सिंह, जौनपुर के जिलाध्यक्ष सरोज कुमार सिंह एवं जिला मंत्री तेरस यादव साथ रहे।

    *विज्ञापन : देव होम्यो क्योर एण्ड केयर | खानापट्टी (सिकरारा) जौनपुर | डॉ. दुष्यंत कुमार सिंह  मो. 8052920000, 9455328836*
    Ad

    *विज्ञापन : पूर्वांचल का सर्वश्रेष्ठ प्रतिष्ठान गहना कोठी भगेलू राम रामजी सेठ 1. हनुमान मंदिर के सामने, कोतवाली चौराहा, 9984991000, 9792991000, 9984361313, 2. सद्भावना पुल रोड नखास, ओलन्दगंज, 9838545608, 7355037762*
    Ad


    *विज्ञापन : Agafya Furnitures | Exclusive Indian Furniture Show Room | Mo. 9198232453, 9628858786 | अकबर पैलेस के सामने, बदलापुर पड़ाव, जौनपुर*
    Ad

    No comments