• Breaking News

    कार्यरत शिक्षक के नेतृत्व में होने वाली संघर्षों से थर्राती थीं सरकारें : रमेश सिंह | #NayaSaberaNetwork

    नया सबेरा नेटवर्क
    सोनभद्र। माध्यमिक शिक्षक संघ को राजनीतिक दलों के चंगुल से मुक्त कराने एवं आगामी विधान परिषद चुनाव में समर्थन के मद्देनजर उ.प्र. मा.शि.संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं वाराणसी खंड शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र से प्रत्याशी रमेश सिंह सोनभद्र जनपद के विभिन्न विद्यालयों आदर्श इन्टर कालेज राबर्ट्सगंज, राजा शारदा महेश इन्टर कालेज राबर्ट्सगंज, राजकीय बालिका इन्टर कालेज राबर्ट्सगंज, जनता इन्टर कालेज परासी राबर्ट्सगंज एवं शारदा पब्लिक उ.मा.वि. परासी राबर्ट्सगंज का दौरा किया।
    कार्यरत शिक्षक के नेतृत्व में होने वाली संघर्षों से थर्राती थीं सरकारें : रमेश सिंह | #NayaSaberaNetwork


    इस मौके पर रमेश सिंह ने कहा कि शिक्षक साथियों, जब तक हमने अपने बीच से कार्यरत शिक्षक साथी के नेतृत्व में विश्वास किया तब तक हमारे संघर्षों से सरकारें थर्राती थी। जब हमारे नेतागण सदन में हम शिक्षकों की आवाज बुलंद करते थे तो पूरा सदन चुपचाप उन्हें सुनने के लिए विवश होता था और जब यही नेतागण सड़क पर संघर्ष का बिगुल फूंकते थे तो सरकार भी झुकने के लिए विवश होती थी लेकिन 1990 के बाद से जब हमने रिटायर लोगों को संगठन के शीर्ष पर और सदन में भेजना शुरू कर दिया तो संगठन कमज़ोर होना शुरू हो गया। इन रिटायर माननीयों की कारगुजारी ने सरकार को संगठन पर भारी पड़ने का अवसर दे दिया। रही सही कसर विधायक निधि की कमीशनखोरी ने पूरा कर दिया। आज आलम यह है कि शिक्षक संगठनों के माननीय जैसे ही सरकार के खिलाफ आंदोलन की नोटिस देते हैं, सरकारी मंत्री तुरंत इन्हें बंद कमरों में बुलाकर विधायक निधि की जांच का फरमान सुना देते हैं। शिक्षक साथी सड़कों पर संघर्ष कर रहे होते हैं, सरकार मुर्दाबाद का नारा लगा रहे होते हैं कि अचानक इन माननीयों का फोन आ जाता है कि सरकार से समझौता हो गया। हम खुद को कोसते हुए अपने-अपने घर चले जाते हैं। ऐसा तब तक होता रहेगा, जब तक हम रिटायर माननीयों को चुनते रहेंगे। विगत दिनों आपने देखा है कि जिस शिक्षक/कर्मचारी विरोधी सरकार के खिलाफ आन्दोलन होना चाहिए, उसी सरकारी पार्टी की छत्रछाया में एक माननीय प्रेस वार्ता कर रहे थे। याद रखिये जब आप शिक्षक हितों की रक्षा के लिए संघर्ष के दौरान इन्हें खोजेंगे तो ये माननीय ऐसे ही कहीं सरकारी पार्टी के कार्य क्रम में मिलेंगे इसलिए समय रहते समाधान ढूँढिए- संघर्ष के लिए किसी कार्य रत शिक्षक साथी को ही चुनिए। तभी शिक्षकों के साथ-साथ संगठन का भी भला हो सकेगा। आज के जनपद भ्रमण अभियान में जिला उपाध्यक्ष गण समर बहादुर सिंह, दयाशंकर यादव एवं सोनभद्र से शिक्षक रणवीर सिंह साथ रहे।

    *Advt : रामबली सेठ आभूषण भण्डार (मड़ियाहूं वाले) | के. सन्स के ठीक सामने, कलेक्ट्री रोड, जौनपुर उ.प्र.*
    Advt.

    *Advt : वाराणसी खण्ड शिक्षा निर्वाचन क्षेत्र से रमेश सिंह प्रांतीय उपाध्यक्ष उ.प्र.मा​.शि.सं. के नाम के सामने वाले खाने में 1 लिखकर प्रथम वरीयता मत देकर शिक्षकों की आवाज बुलंद करने हेतु विधान परिषद भेजने की कृपा करें।*
    Advt.

    *विज्ञापन : अपनों के साथ बांटें खुशियां, उन्हें खिलाएं उनका favourite Pizza | Order now - Pizza Paradise 9519149897, 9918509194 Wazidpur Tiraha Jaunpur*
    Ad

    No comments