• Breaking News

    Google करेगा मदद, अब बाढ़ से क्यों डरना, भेजेगा पूर्वानुमान का अलर्ट | #NayaSaberaNetwork

    नया सबेरा नेटवर्क
    नई दिल्ली। पूरा देश इस वक्त कोरोना और बिन मौसम बरसात की वजह से आए बाढ़ के हालात से बेहाल है। जनता त्रस्त हो रही है। हालात बेकाबू होते जा रहे हैं। हालांकि इधर कुछ दिनों से बारिश बंद होने के बाद से मौसम बदला है और हालात भी सामान्य होने की ओर कदम बढ़ा चुके हैं। लेकिन हालात और भी भयावह होते अगर मौसम विभाग पहले से ही ऐसे हालातों के लिए हमें तैयार न कर दे।
    Google करेगा मदद, अब बाढ़ से क्यों डरना, भेजेगा पूर्वानुमान का अलर्ट | #NayaSaberaNetwork


    सुदूर क्षेत्रों में भी होगा मौसम का पूर्वानुमान
    यानी इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि ऐसे हालातों पर काबू पाने के लिए जरूरी है कि ऐसी कोई तकनीक हो, जो सुदूर क्षेत्रों में भी लोगों को मौसम का पूर्वानुमान बता सके ताकि लोग ऐसे हालातों के लिए पहले से ही खुद को तैयार कर सकें। साथ ही कोई ऐसी वैकल्पिक व्यवस्था की जा सके, जिससे ऐसे हालातों से कम से कम नुकसान जनता को उठाना पड़े, यह भी सुनिश्चित किया जा सके।

    खुशखबरी यह है कि ऐसी ही एक तकनीकी सुविधा हम हमें मुहैया करवा रहा है हम सबका Google. जी हां, Google ने बुधवार को भारत में अपने बाढ़ पूर्वानुमान (Flood Forecasting) पहल पर एक अपडेट जारी किया है।

    20 करोड़ से अधिक लोगों के लिए मददगार होगा
    कंपनी ने कहा कि उसके सिस्टम अब पूरे भारत में काम कर रहे हैं। Google सिस्टम अब 250,000 वर्ग किलोमीटर से अधिक भू-भाग में रहने वाले करीब 20 करोड़ से अधिक लोगों की सुरक्षा करने में मदद कर सकता है। यह क्षमता पिछले साल की तुलना में 20 गुना अधिक है। अब तक, Google ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में लोगों को लगभग तीन करोड़ सूचनाएं भेजी हैं।

    बांग्लादेश जल विकास बोर्ड के साथ भागीदारी
    भारत में अपने कवरेज का विस्तार करने के अलावा, Google ने बांग्लादेश के लिए अपने अलर्ट सिस्टम लाने के लिए बांग्लादेश जल विकास बोर्ड के साथ भागीदारी की है। कंपनी ने कहा कि यह बांग्लादेश में 4 करोड़ से अधिक लोगों को कवर करती है। Google भविष्य में पूरे देश में अपने बाढ़ पूर्वानुमान पहल के कवरेज का विस्तार करने की योजना बना रहा है।

    गूगल ने सरकार और जनता की मदद की
    Google ने आगे कहा कि उसने इस साल एक नया पूर्वानुमान मॉडल पेश किया। Google ने सरकारों को सतर्क करने और देश में लोगों को बाढ़ की तैयारी में अतिरिक्त समय देकर मदद की। Google की यह बाढ़ पूर्वानुमान प्रणाली अब बाढ़ की गहराई, समय और पानी के बढ़ने की मात्रा जैसी जानकारी भी प्रदान करती है।

    Google की बाढ़ चेतावनी स्थानीय भाषाओं में
    कंपनी ने एक और सुधार किया है। अलर्ट को अधिक स्थानीय और सटीक बनाने के लिए Google की बाढ़ चेतावनी प्रणाली अब हिंदी, बंगाली के साथ-साथ सात अन्य स्थानीय भाषाओं में भी उपलब्ध है। यह अब यूजर को अपने दोस्तों और परिवारों की मदद करने के लिए आसानी से भाषा या स्थान बदलने की अनुमति देता है।

    अब भी कई चुनौतियों से है उबरना
    एक ब्लॉग पोस्ट में इंजीनियरिंग और संकट प्रतिक्रिया के नेतृत्वकर्ता योसी मातिस ने लिखा, "बेशक सभी अलर्ट तकनीक के साथ हुई प्रगति के लिए अभी भी कई चुनौतियों से उबरना बाकी है। भारत और बांग्लादेश में अभी भी बाढ़ के मौसम के साथ, COVID-19 ने महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचे के काम में देरी की है।”

    *विज्ञापन : कभी असफल ना होने वाला उपचार कराएं, आज ही सम्पर्क करें - देव होम्यो क्योर एण्ड केयर | खानापट्टी (सिकरारा) जौनपुर | डॉ. दुष्यंत कुमार सिंह  मो. 8052920000, 9455328836*
    Ad

    *विज्ञापन : पूर्वांचल का सर्वश्रेष्ठ प्रतिष्ठान गहना कोठी भगेलू राम रामजी सेठ 1. हनुमान मंदिर के सामने, कोतवाली चौराहा, 9984991000, 9792991000, 9984361313, 2. सद्भावना पुल रोड नखास, ओलन्दगंज, 9838545608, 7355037762*
    Ad


    *विज्ञापन : Agafya Furnitures | Exclusive Indian Furniture Show Room | Mo. 9198232453, 9628858786 | अकबर पैलेस के सामने, बदलापुर पड़ाव, जौनपुर*
    Ad

    No comments