• Breaking News

    जेल से नहीं लखनऊ से हैंडल होता है धनंजय सिंह का सोशल एकाउंट | #NayaSaveraNetwork

    नया सवेरा नेटवर्क
    जौनपुर। सोशल मीडिया इन दिनों हर आदमी के मनुष्य के जीवन का अहम हिस्सा बनता जा रहा है, आम से खास तक लगभग हर व्यक्ति का अपना सोशल एकाउंट है जिसके जरिये लोग अपनी बात रखते हैं। इसी कड़ी में पूर्वांचल की राजनीति में तब तहलका मच गया जब एक अख़बार में यह खबर प्रकाशित हुई कि 'जेल से पूर्व सांसद धनंजय सिंह फ़ेसबुक चलाते हैं' जबकि यह खबर बिल्कुल निराधार है, हमारी टीम ने इस न्यूज़ को लेकर पूरी तहक़ीक़ात की।
    पूर्व सांसद धनजंय के खिलाफ छपी झूठी खबर, राजनीतिक गलियारे में बढ़ी सरगर्मी  | #NayaSaveraNetwork

    आपको जानकारी के लिए बता दें कि एक फेसबुक पेज के एकाउंट को दर्जनों लोग चला सकते हैं, इतना ही नहीं आप उन्हें उस पेज का एडमिन, एडिटर भी बना सकते है, जिसका मतलब आप उस पेज के लिए आप उन्हें पूरी कमांड देते हैं। इन दिनों बड़े बड़े राजनेताओं के सोशल एकाउंट आईटी टीम से जुड़े लोग हैंडल करते हैं और हमें आपको लगता है कि फला पोस्ट फला नेता ने ही लिखा है, लेकिन ऐसा नहीं होता। कुछ ऐसा ही हुआ पूर्व सांसद धनंजय सिंह के मामले में। इन दिनों विरोधियों की साजिश का शिकार हुए धनंजय सिंह जेल में है और उनकी सोशल मीडिया पूर्व से ही उनकी आईटी टीम हैंडल करती है। जिस पोस्ट को लेकर हो-हल्ला मचाया जा रहा है जिसके पीछे सच्चाई यह निकलकर सामने आई कि वह उन्होंने नहीं बल्कि उनकी टीम से जुड़े गौतम सिंह ने उनके जौनपुर कार्यालय से बात करके लखनऊ से किया था। ऐसे में बिना जांच पड़ताल के अखबार में यह प्रकाशित कर देना की धनंजय सिंह जेल से फेसबुक चला रहे हैं हास्यास्पद लगता है। पत्रकार समाज के आईना हैं बिना जांच पड़ताल या फिर पुख्ता प्रमाण के ऐसे रिपोर्ट नहीं तैयार करनी चाहिए।

    यह थी पोस्ट
    पूर्व सांसद धनजंय के खिलाफ छपी झूठी खबर, राजनीतिक गलियारे में बढ़ी सरगर्मी  | #NayaSaveraNetwork

    देखिए किसने की थी पोस्ट
    पूर्व सांसद धनजंय के खिलाफ छपी झूठी खबर, राजनीतिक गलियारे में बढ़ी सरगर्मी  | #NayaSaveraNetwork

    No comments