• Breaking News

    'हो गरीब या हो धनवान, शिक्षा होगी एक समान' से कोसों दूर है नई शिक्षा नीति : रमेश सिंह | #NayaSaveraNetwork

    • शिक्षा प्राप्त करने के लिए जाति/ वर्गों को आधार बनाना चिंता का विषय
    • सभी को शिक्षा के समान अवसर भी उपलब्ध होने चाहिए
    नया सवेरा नेटवर्क
    जौनपुर। माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष और  वाराणसी खंड शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र से प्रत्याशी रमेश सिंह ने लगभग 35 वर्षों के पश्चात केंद्र सरकार द्वारा घोषित नई शिक्षा नीति एवं मानव संसाधन विकास मंत्रालय का नाम बदल कर शिक्षा मंत्रालय किए जाने का स्वागत किया है।
    'हो गरीब या हो धनवान, शिक्षा होगी एक समान' से कोसों दूर है नई शिक्षा नीति : रमेश सिंह | #NayaSaveraNetwork

    रमेश सिंह ने प्रेस को जारी विज्ञप्ति में कहा कि नई शिक्षा नीति में उल्लिखित कई बातों के लिए सरकार की सराहना की जा सकती है लेकिन अफ़सोस की बात यह है कि "शिक्षा, शिक्षार्थी, शिक्षक और समाज के हितों को देखते हुए उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ अपने जिस नारे 'हो गरीब या हो धनवान, शिक्षा होगी एक समान' के साथ आज भी संघर्षरत है, उससे नई शिक्षा नीति कोसों दूर है। यद्यपि कि समाज के कमज़ोर वर्गों के लिए कुछ विशेष उपबंध हैं लेकिन शिक्षा प्राप्त करने के लिए जाति/ वर्गों को आधार बनाना निश्चित रूप से चिंतित करने वाला है। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ का यह मानना है कि - न केवल पूरे देश में समान पाठ्यक्रम होना चाहिए बल्कि समाज में सभी को शिक्षा के समान अवसर भी उपलब्ध होने चाहिए। जब तक अमीर और गरीब सभी के बच्चों को एक साथ बैठकर समान शिक्षा ग्रहण करने की व्यवस्था लागू करने का साहस  सरकारों द्वारा नहीं किया जाता, तब तक इन शिक्षा नीतियों की प्रासंगिकता बेमानी ही होगी। इससे पहले 1986 में तत्समय नई शिक्षा नीति लागू की गई थी, जिससे उस समय शिक्षा के क्षेत्र में क्रान्तिकारी बदलाव की आशा की गई थी, लेकिन उसका सबसे बड़ा दुष्परिणाम यह हुआ कि आज प्रदेश में लाखों उच्च शिक्षा प्राप्त नौजवानों को हजार दो हजार रूपये पर वित्तविहीन विद्यालयों में पढ़ाने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है इसलिए सरकार से आग्रह है कि वह "हो गरीब या हो धनवान, शिक्षा होगी एक समान" के साथ-साथ समान कार्य के लिए समान वेतन और सभी वित्तविहीन विद्यालयों को अनुदानित करने की दिशा में सार्थक पहल करें तभी यह नई शिक्षा नीति 'शिक्षा, शिक्षार्थी, शिक्षक और समाज' का भला कर सकेगी।

    *विज्ञापन : श्रीमती अमरावती श्रीनाथ सिंह चैरिटेबल ट्रस्ट के ट्रस्टी ज्ञानप्रकाश सिंह की तरफ से रक्षाबंधन, श्रीकृष्ण जन्माष्टमी एवं स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं*
    Ad

    *विज्ञापन : जौनपुर के विधान परिषद सदस्य (एमएलसी) बृजेश सिंह प्रिंसू  की तरफ से रक्षाबंधन, श्रीकृष्ण जन्माष्टमी एवं स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं*
    Ad

    *विज्ञापन : वाराणसी खण्ड शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र से प्रत्याशी रमेश सिंह की तरफ से रक्षाबंधन, श्रीकृष्ण जन्माष्टमी एवं स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं*
    Ad

    No comments