• Breaking News

    कहकर भी बयान नहीं कर पाती थी | #NayaSaveraNetwork

    कहकर भी बयान नहीं कर पाती थी
    अब बिना कुछ कहे बहुत कुछ कहने लगी

    शब्दों से नाता टूटता सा चला गया
    जब से खामोशियों में ढलने, समझने लगी

    कहने पर हड़बड़ी में गड़बड़ी होती थी
    अब बिना आवाज बहुत कुछ कहने लगी

    जब से आँखे पढ़ना शुरू किया है तब से
    मुझे आँखे खुली किताब सी लगने लगी

    दो चार बात बोलने पर जो जुबां लड़खड़ाती थी
    अब इशारों-इशारों में बेहिसाब बात करने लगी

    पहले लफ़्ज भी समझ नहीं आते थे
    अब बिना कहे भी बातें समझने कहने लगी

    लेखिका- डॉ. सरिता चंद्रा
    बालको नगर कोरबा (छ.ग.)

    #4thAnniversary : वरिष्ठ कांग्रेस नेता राकेश मिश्र 'मंगला गुरू' की तरफ से नया सबेरा परिवार को चौथी वर्षगांठ पर हार्दिक शुभकामनाएं
    Ad

    #4thAnniversary : युवा भाजपा नेता पुष्पेंद्र सिंह की तरफ से नया सबेरा परिवार को चौथी वर्षगांठ पर हार्दिक शुभकामनाएं
    Ad

    #4thAnniversary : माध्यमिक शिक्षक संघ जौनपुर के जिलाध्यक्ष संतोष सिंह की तरफ से नया सबेरा परिवार को चौथी वर्षगांठ पर हार्दिक शुभकामनाएं
    Ad

    No comments