• Breaking News

    Covid-19 Vaccine : दुनिया में 10 अगस्त तक आ सकता है टीका, जानिए किन्हें मिलेगा सबसे पहले लाभ? | #NayaSaveraNetwork

    • कोरोना वैक्सीन को लेकर बढ़ी उम्मीदें
    • रूस के वैज्ञानिक 10 अगस्त तक ला सकते हैं टीका
    नया सवेरा नेटवर्क
    नई दिल्ली। कोरना वैक्सीन को लेकर दुनिया भर में काम चल रहा है। कई जगहों पर तो इसके ट्रायल अंतिम चरण में पहुंच चुके हैं । इस बीच रूस से वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर मिल रही है, बताया जा रहा है कि यह देश बहुत जल्द ही वैक्सीन के प्रयोग की अनुमति दे सकता है। CNN की रिपोर्ट के मुताबिक वैज्ञानिक इस प्रयास में हैं कि 10 अगस्त से पहले इसे मंजूरी मिल जाए। 

    आइए जानते हैं कि यह वैक्सीन  किस तरह के लोगों को सबसे पहले दी जाएगी ?
    रिपोर्ट में दी गई जानकारी के मुताबिक, रूसी अधिकारियों ने कहा है कि वैक्सीन को सार्वजनिक उपयोग के लिए स्वीकृति दी जाएगी, लेकिन सबसे पहले यह अगली पंक्ति में रहने वाले हेल्थकेयर वर्कर्स  को दी जाएगी, जो सीधे तौर पर कोरोना संक्रमित लोगों की सेवा करने वाले स्वास्थ्य कर्मचारी हैं।   
    Covid-19 Vaccine : दुनिया में 10 अगस्त तक आ सकता है टीका, जानिए किन्हें मिलेगा सबसे पहले लाभ? | #NayaSaveraNetwork

    10 अगस्त तक वैक्सीन लाने की तैयारी 
    बतादें कि रूस के वैज्ञानिक इस प्रयास में हैं कि वैक्सीन 10 अगस्त तक तैयार हो जाए। माना जा रहा है कि वैक्सीन को बाजार में जल्द उपलब्ध कराने को लेकर राजनीतिक दबाव भी है, जिससे रूस दुनिया को अपनी वैज्ञानिक शक्ति के बारे में बता सके। हांलाकि  इस बारे में  रूस ने आधिकारिक तौर पर वैक्सीन के ट्रायल के बारे में कोई जानकारी शेयर नहीं की है। इस लिए फिलहाल यह कहना मुश्किल है कि यह वैक्सीन कितनी सफल होगी। 

    गौरतलब है कि रूस की वैक्सीन का अभी दूसरा चरण पूरा करना शेष है। वैज्ञानिकों को आशा है कि तीन अगस्त तक यह चरण पूरा हो जाएगा। इसके बाद रूस में वैज्ञानिक तीसरे चरण का ट्रायल शुरू करेंगे। वैज्ञानिकों के मुताबिक, यह वैक्सीन इसलिए जल्दी तैयार हो सकी है, क्योंकि यह अन्य बीमारियों से लड़ने के लिए पहले से तैयार  एक वैक्सीन का नया संस्करण है। 

    वैक्सीन तैयार करने के फाइनल स्टेज में अमेरिकी कंपनी
    वहीं ये जानकारी ये भी मिल रही है कि अमेरिकी कंपनी 'मॉडर्न'  वैक्सीन तैयार करने के फाइनल स्टेज में है। इस वैक्सीन का फाइनल स्टेज का ट्रायल शुरू हो गया है।  वैक्सीन के ट्रायल में सहायता करने के लिए अमेरिका सरकार की सहयोगी संस्था बायोमेडिकल एडवांस्ड रिसर्च एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ने  मदद के लिए अमेरिकी सरकार के बायोमेडिकल एडवांस्ड रिसर्च एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी 'मॉडर्ना' कंपनी को 472 मिलियन डॉलरकी सहायता दी है। इससे पहले भी इस कंपनी को अप्रैल माह में अमेरिकी सरकार से 483 मिलियन डॉलर दिये गए थे।

    अभी तक उम्मीद जताई जा रही है कि वैक्सीन तैयार करने के मामले में रूस दुनिया का पहला देश बन सकता है। लेकिन अमेरिका से जिस तरह के संकेत मिल रहे हैं उससे तो लगता है कि वैक्सीन निर्माण की रेस में अमेरिका रूस के बीच में वैक्सीन जल्द से जल्द तैयार करने की होड़ मची है।

    #4thAnniversary : श्री गांधी स्मारक इण्टर कालेज के प्रधानाचार्य डॉ. रणजीत सिंह की तरफ से नया सबेरा परिवार को चौथी वर्षगांठ पर हार्दिक शुभकामनाएं
    Ad

    #4thAnniversary : लोकदल के राष्ट्रीय सचिव घनश्याम दुबे की तरफ से नया सबेरा परिवार को चौथी वर्षगांठ पर हार्दिक शुभकामनाएं
    Ad

    #4thAnniversary : समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष लाल बहादुर यादव की तरफ से नया सबेरा परिवार को चौथी वर्षगांठ पर हार्दिक शुभकामनाएं
    Ad

    No comments