• Breaking News

    बड़ी खबर : बाल संरक्षण गृह में 57 लड़कियों को कोरोना, दो गर्भवती, एक को एड्स | #NayaSabera

    कानपुर। जिले के सरकारी बाल संरक्षण गृह में करीब 57 लड़कियों में कोरोना संक्रमण मिलने से हड़कम्प मच गया। इतना ही नहीं इनमें दो नाबालिग लड़कियां गर्भवती और एक को एड्स जैसी गंभीर बीमारी है। यह कोरोना संक्रमण की जांच के दौरान सामने आया। 
    बड़ी खबर : बाल संरक्षण गृह में 57 लड़कियों को कोरोना, दो गर्भवती, एक को एड्स | #NayaSabera

    बताते हैं कि कुछ दिन पहले राजकीय बाल संरक्षण गृह रहने वालों में कोरोना के लक्षण पाए जाने के बाद ये जांच की जा रही थी। राजकीय बाल संरक्षण गृह में 57 लड़कियों में संक्रमण की पुष्टी हुई थी, संक्रमित बालिकाओं को जब कोविड-19 के इलाज के लिए रामा मेडिकल कॉलेज भेजा गया तो वहां जांच में पाया कि दो 17 साल की किशोरियां गर्भवती हैं। गर्भवती होने के साथ ही एक एचआईवी से और दूसरी हेपेटाइटिस सी के संक्रमण से भी ग्रसित है। दोनों गर्भवती किशोरियों को जज्चा-बच्चा हॉस्पिटल भेजा गया है। कोरोना के साथ एचआईवी और हेपेटाइटिस सी के संक्रमण होने के कारण स्वास्थ्य विभाग की चिंताएं और भी बढ़ गई हैं।

    मंडलायुक्त डॉ सुधीर एम बोबडे के निर्देश पर डीएम डॉ. ब्रह्म देव राम तिवारी ने बताया कि इस संरक्षण गृह में कुल 57 कोरोना पॉजिटिव संवासिनी पाई गई हैं। कुल संरक्षित बालिकाओं में 7 गर्भवती पाई गईं, जिसमें 5 कोरोना पॉजिटिव हैं। शेष 2 निगेटिव पाई गई हैं। पांच पॉजिटिव संवासिनी जनपद आगरा, एटा, कन्नौज फिरोजाबाद व कानपुर के बाल कल्याण समिति ने भेजा था। सातों संवासिनी शेल्टर होम आने से पहले ही गर्भवती थीं।

    57 लड़कियों में हुई कोरोना की पुष्टि
    57 लड़कियों में संक्रमण की पुष्टी हुई थी। संक्रमित बालिकाओं को जब कोविड-19 के इलाज के लिए रामा मेडिकल कॉलेज भेजा गया तो वहां जांच में पाया कि दो 17 साल की किशोरियां गर्भवती हैं। गर्भवती होने के साथ ही एक एचआईवी से और दूसरी हेपेटाइटिस सी के संक्रमण से भी ग्रसित है। दोनों गर्भवती किशोरियों को जज्चा-बच्चा हॉस्पिटल भेजा गया है। कोरोना के साथ एचआईवी और हेपेटाइटिस सी के संक्रमण होने के कारण स्वास्थ्य विभाग की चिंताएं और भी बढ़ गई है।

    पहले से ही गर्भवती थीं लड़कियां : एसपी
    इस पूरे मामले में कानपुर के एसएसपी दिनेश कुमार पी. का कहना है कि दोनों लड़कियां शेल्टर होम आने से पहले ही गर्भवती थीं। आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज है। एक लड़की कन्नौज तो दूसरी आगरा से आई थी। बेवजह मामले को गलत मोड़ दिया जा रहा है।

    सीएम ने कानपुर डीएम से बात की
    महिला आयोग की सदस्य पूनम कपूर का कहना है कि इस पूरे मामले को सीएम ने संज्ञान में लिया है। सीएम ने कानपुर डीएम से बात की है। उन्होंने कहा कि राजकीय बालगृह में 55 बालिकाएं संक्रमित मिली है। बालिका गृह में काफी लड़कियां पॉक्सो एक्ट में आती हैं, कम उम्र की होती हैं और उन्हें वहां रखा जाता है। जब बच्चियों को हैलट अस्पताल भेजा गया था तो हमारा स्टॉफ भी साथ में गया था तो किसी के टच में आ कर संक्रमण फैला होगा। राजकीय बालगृह में किसी भी पुरुष का जाना वर्जित है, वहां पर मेरा स्वयं का भी दौरा होता रहता है। आप लोग इसे अन्यथा नहीं लें।

    बालिका गृह सील
    स्वरूप नगर स्थित राजकीय बालिका गृह को पूरी तरह से सील कर दिया गया है। बालिका गृह के स्टॉफ को क्‍वारंटीन कराया गया है। इससे पहले डॉक्टरों के पास दोनों किशारियों की किसी भी प्रकार की बैक हिस्ट्री नहीं थी। डॉक्टरों ने दोनों गर्भवती किशोरियों की बैक हिस्ट्री को समझने के लिए अधिकारियों से संपर्क किया। जिला प्रोबेशन अधिकारी अजीत कुमार के मुताबिक राजकीय बालिका गृह को सील कर दिया गया है। सभी दस्तावेज बालिका गृह में हैं।

    *Agafya Furnitures | Exclusive Indian Furniture Show Room | Mo. 9198232453, 9628858786 | अकबर पैलेस के सामने, बदलापुर पड़ाव, जौनपुर — 222002*
    Ad

    *ADMISSION OPEN: ANJU GILL ACADEMY | Katghara, Sadar, Jaunpur | Contact : 7705012955, 7705012959*
    Ad
    *Nehru Balodyan Sr. Secondary School Kanhaipur, Jaunpur [Admission Open]*
    Ad





    No comments