• Breaking News

    लॉकडाउन में कार्टून कला | #NayaSabera

    • बच्चों को कार्टून चैनल से नहीं बल्कि कार्टून आर्ट से जोड़े

    लखनऊ। कला कोई भी हो समाज को एक संदेश देने का ही कार्य करती है और कलाकार समाज में हर होने वाली घटनाओं से प्रभावित होता है और यह प्रभाव कलाकार के कलाकृतियों में भी देखी जा सकती है क्योंकि कलाकार भी तो समाज का ही हिस्सा होता है।

    कोरोना जैसे महामारी के कारण आज हर इंसान घरों में है यह सुरक्षा के दृष्टि से आवश्यक है और इसी समय में कलाकारों ने भी अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं चाहे किसी भी विधा के कलाकार हो। जिसके पास जो माध्यम है उसी माध्यम में अपनी—अपनी प्रस्तुति देकर ऐसे संकट के घड़ी में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं। इसी योगदान में लखनऊ के एक वरिष्ठ कार्टूनिस्ट गणेश डे लगातार कार्टून स्केच बना रहे हैं।

    लखनऊ के वरिष्ठ कार्टूनिस्ट गणेश डे द्वारा कोरोना काल में बनाया हुआ कुछ कार्टून हम यहां साझा कर रहे हैं। यह कार्टून जागरूक करने के साथ—साथ वर्तमान स्थिति को भी बयां कर रहे हैं।

    65 वर्ष के बुजुर्ग उंगलियों से बनते हुए इन कार्टून को देखकर यह पता चलता है कि भले ही इन्होने जीवन यापन के लिए संघर्ष कर रहे हैं लेकिन इन रेखाओं के प्रति आस्था कम नहीं है। यामिनी रॉय के स्थान बाँकुरा में जन्मे और अपने मंजिल की तलाश में विभिन्न स्थानों से होते हुए आज भी अपनी पत्नी के साथ लखनऊ के किराए पर रह रहे हैं।

    गणेश डे जो जीवन यापन के लिए आज भी संघर्षरत हैं और कलात्मक ढंग से लगातार सामाजिक मुद्दों पर चित्र उकेरते रहे हैं लेकिन इस समाजसेवी कलाकार को हम सबके साथ और प्यार की ज़रूरत है।

    आइए हम इनकी कला को सम्मान दें, स्थान दें और जो भी हो सके सहयोग करें और उम्र के इस पड़ाव में सम्पर्क बनाये रखें, हम सब इनका सहारा बन सकते हैं।

    गणेश डे (66 वर्ष) जो एक अच्छे स्केच आर्टिस्ट और कार्टूनिस्ट हैं। आज उम्र के ऐसे पड़ाव में भी निरंतर काम कर रहे हैं। इन्होंने कभी हार नहीं मानी। कभी निराश भी नहीं हुए। एक लंबे समय से संघर्ष और विभिन्न पड़ाव से गुजरते रहे, और आज भी संघर्ष जारी है।

    तमाम कठिनाइयों के बावजूद अपने मन पसंद कार्य करते रहे और आज भी कर रहे हैं। इनके हाथ से निकले हुए एक एक रेखाएं समाज की दशा और दिशा दोनों को चुनौती देती है। चित्रों के माध्यम से समाज के दशाओं को उकेरते और जागरूकता पैदा करते हैं।

    दादा गणेश डे एक अच्छे इंसान है फिर अच्छे कलाकार भी हैं। उनकी रेखाओं में जादू है। बातचीत में महसूस हुआ कि समाज में कला और कलाकारों के प्रति जो भाव होने चाहिए वो नहीं होने से निराश हैं। उनका मानना है कि आज के समय में जो डिजिटल कार्य हो रहे हैं कहीं न कहीं कला पर गहरा असर पड़ा है। हम जैसे कलाकार जो इन संसाधनों से वंचित होकर अपना जीवन भी गुजारना मुश्किल हो गया है।

    हम सभी को चाहिए कि ऐसे कलाकारों को उपेक्षित नहीं बल्कि याद करते रहना चाहिए, सहयोग करते रहना चाहिए। इन्हें किसी न किसी तरह प्रोत्साहित और सहयोग मिलता रहे ताकि अपने कला के जादू को जीवित रख सकें और समाज को जागरूकता भी मिलती रहे।

    Youtube :



    ADMISSIONS OPEN For the session 2020-21 form Nursery to 7th : NARAYAN PUBLIC SCHOOL | Manshahpur (Khaparaha), Sikrara Jaunpur | Mob. : 6387877166, 7905460093, 7007902601 | www.mynps.in      www.mynarayan.com   E-mail : info@mynps.in | Free Online Class के लिए सम्पर्क करें 9044065107
    Ad
    जौनपुर : जौनपुरवासियों को तोहफा, जल्द ही खाने को मिलेगा अच्छी क्वालिटी का पिज्जा, खुल रहा है Pizza PARADISE'S
    Ad
    Pizza PARADISE'S, Jaunpur, recent,
    Ad

    No comments