• Breaking News

    गर्भवती महिला के लिए भगवान बनी UP पुलिस, किया यह काम, जौनपुर से है ये कनेक्शन


    बरेली। देशभर में 21 दिनों के लिए लॉकडाउन का एलान किया गया है। ऐसे में पुलिस सख्ती से लॉक डाउन का पालन कराने में जुटी हुई है। अलग- अलग शहरों से पुलिस अत्याचार की खबरें भी सामने रही हैं। वहीं दूसरी ओर  पुलिस को अपना मानवीय चेहरा दिखाने के लिए वाहवाही भी मिल रही है।

    दरअसल बरेली जिले के इज्जतनगर इलाके में रहने वाली 25 साल की महिला तमन्ना को अपने पहले बच्चे की किलकारी गूंजने की उम्मीदें लगाई बैठी थी, वहीं दूसरी ओर उनके पति अनीस खान, जो नोएडा में काम करते है देशभर में लॉकडाउन होने की वजह से  वहां फंसे हुए थे। इधर अनीस की पत्नी घर पर अकेले थीं। जैसे  उसकी डिलीवरी का समय नजदीक आया  तो उन्होंने मदद के लिए  पुलिस को एक वीडियो संदेश भेजा और उनकी मदद मांगी। तमन्ना के मैसेज का पुलिस ने तुरंत जवाब दिया और उसको एक स्थानीय अस्पताल में ले गई और उसे भर्ती कराया।

    यही नहीं पुलिस ने उसके पति अनीस को नोएडा से बरेली लाने के लिए एक टैक्सी की भी व्यवस्था की। तमन्ना ने गुरुवार को एक बच्चे को जन्म दिया।

    महिला ने अब ट्विटर पर यूपी पुलिस, विशेष रूप से एसएसपी बरेली शैलेश पांडे और अतिरिक्त डीसीपी नोएडा रणविजय सिंह की मदद के लिए उनका आभार व्यक्त किया है। महिला ने कहा कि उसे लग रहा था कि वह अकेले मर जाएगी जबकि  स्थानीय पुलिस ने मेरे लिए देवदूत की तरह काम किया।

    एसएसपी बरेली, शैलेश पांडे ने कहा, "यूपी पुलिस यह सुनिश्चित करने की कोशिश कर रही है कि सभी को सहायता की जरूरत है। हमें खुशी है कि हम इस चुनौतीपूर्ण समय में एक परिवार के चेहरे पर मुस्कान लाने में कामयाब रहे।"

    जौनपुर से कनेक्शन 
    एसएसपी बरेली शैलेश पाण्डेय जौनपुर में भी बतौर पुलिस अधीक्षक अपनी सेवा दे चुके है। वहीं अतिरिक्त डीसीपी नोएडा रणविजय सिंह भी जौनपुर में क्षेत्राधिकारी के पद पर अपनी सेवा दे चुके है।
    File Photo

    अतिरिक्त डीसीपी नोएडा रणविजय सिंह
    Mount Litera Zee School Jaunpur  Admisson Open 7311171181, 7311171182, 9320063100
    Ad

    Ad

    Ad

    No comments