• Breaking News

    मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का बयान, आने वाले दिनों में लोगों को और अधिक 'जनता कर्फ्यू' के लिए रहना होगा तैयार

    लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आने वाले दिनों में लोगों को और अधिक 'जनता कर्फ्यू' के लिए तैयार रहने को कहा है। गोरखपुर से रविवार को जारी बयान में मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सामाजिक दूरी ही एकमात्र तरीका है। उन्होंने लोगों से सामूहिक रूप से महामारी के खिलाफ लड़ने का आग्रह करते हुए कहा कि घबराने की जरूरत नहीं है।
    मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का बयान, आने वाले दिनों में लोगों को और अधिक 'जनता कर्फ्यू' के लिए रहना होगा तैयार

    मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में 27 लोग कोविड-19 से संक्रमित पाए गए, जिनमें से 11 पूरी तरह से ठीक हो गए हैं। उन्होंने वायरस के प्रसार को रोकने में शामिल सभी लोगों के प्रयासों की सराहना की। योगी ने आम आदमी को इस व्यापक अभ्यास का हिस्सा बनने के लिए कहा है।

    उन्होंने आगे आश्वासन दिया कि संसाधन पर्याप्त हैं और लोगों को जल्दबाजी में खरीद और जमाखोरी का सहारा लेने की जरूरत नहीं है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने व्यापारियों को अधिक मूल्यों पर सामान बेचकर स्थिति का फायदा नहीं उठाने को लेकर भी चेताया है।

    'जनता कर्फ्यू' के लिए कांग्रेस ने सलाह दी
    उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने रविवार को 'जनता कर्फ्यू' के दौरान अपने पार्टी के कार्यकर्ताओं को एक समय-सारिणी देते हुए एक सलाह जारी की है। इस सलाह के तहत, पार्टी द्वारा अपने कार्यकर्ताओं को सुबह छह बजे 'रघुपति राघव राजा राम भजन' गाने को कहा गया है और इसके बाद हिंदी स्वराज के अध्याय का पाठ करने की सलाह दी गई है।

    पार्टी ने दोपहर को अपने कार्यकर्ताओं से 'गांधी' फिल्म देखने को कहा है और शाम को तीन बजे 'भारत का विकास' नामक एक खेल को खेलने की सलाह दी गई है, जिसमें कर्मियों को एक सूची बनानी होगी कि किसने ईसरो, हाल, डीआरडीओ और बीएआरसी जैसे देश के महान संगठनों की नींव रखी और इसके साथ ही भारत में कम्प्यूटर क्रांति एवं श्वेत व हरित क्रांति के लाभों के बारे में एक संक्षिप्त विवरण लिखने को भी कहा गया है।

    पार्टी कर्मियों को शाम को छह बजे दूरदर्शन सीरीज 'भारत एक खोज' को देखने की सलाह दी गई है, जो पंडित जवाहर लाल नेहरू की किताब 'डिस्कवरी ऑफ इंडिया' पर आधारित है। देर शाम सात से आठ बजे की कार्यसारिणी में भगत सिंह के पत्रों को पढ़ने और परिवार संग वक्त बिताने की सलाह शामिल है।

    Ad

    Ad
    Ad

    No comments