• Breaking News

    कोविड-19 ठीक करने का दावा, कोरोना वायरस के टीके के नाम पर सामने आया बड़ा फर्जीवाड़ा

    वॉशिंगटन। दुनियाभर में कोरोना वायरस की दहशत के बीच कई ऐसे भी लोग हैं, जो अपनी दुकान चला रहे हैं। कुछ लोगों ने कोरोना वायरस से बचाव की दुकान सजा रखी है। भारत में नकली सेनेटाइजर और मास्क बनाने वाली कंपनियों का भंडाफोड़ हो चुका है, जबकि नया मामला अमेरिका में सामने आया है।
    कोविड-19 ठीक करने का दावा, कोरोना वायरस के टीके के नाम पर सामने आया बड़ा फर्जीवाड़ा

    अमेरिकी न्याय मंत्रालय ने रविवार को घोषणा की कि उसने कोरोना वायरस का टीका बेचने का दावा करने वाली एक बेवसाइट को बंद कर दिया है। वैश्विक महामारी के संबंध में फर्जीवाड़ा के खिलाफ संघीय कानून प्रवर्तन विभाग की यह पहली कार्रवाई है।

    न्याय मंत्रालय ने एक बयान में बताया कि कोरोनावायरस मेडिकलकिट.कॉम वेबसाइट के खिलाफ वाद दायर किए गए हैं। यह वेबसाइट कोरोना वायरस से होने वाली बीमारी कोविड-19 के लिए टीके बेचने का दावा कर रही थी।

    बयान के मुताबिक, टेक्सास के संघीय न्यायाधीश ने वेबसाइट बंद करने का शनिवार को आदेश दिया था, हालांकि रविवार शाम तक भी यह साइट खुल रही थी। साइट के होमपेज पर नजर आ रहे एक बयान के मुताबिक, ‘‘कोरोना वायरस (कोविड-19) के हालिया प्रकोप के चलते विश्व स्वास्थ्य संगठन टीके के किट दे रहा है। शिपिंग के लिए महज 4.95 डॉलर का भुगतान करें।”

    इस बयान के बाद शिपिंग शुल्क भुगतान के लिए बैंक खाते के विवरण भरने की जगह छोड़ी गई थी। न्याय मंत्रालय ने यह नहीं बताया है कि कितने लोग इस फर्जीवाड़े का शिकार हुए हैं लेकिन फर्जीवाड़े के जिम्मेदार लोगों की पहचान करने और ठगी की रकम का पता करने के लिए जांच जारी है।

    Ad

    Ad

    Nehru Balodyan Sr. Secondary School Kanhaipur, Jaunpur [Admission Open]
    Ad

    No comments