• Breaking News

    केंद्र सरकार ने की 1.70 लाख करोड़ रुपए का रिलीफ पैकेज की घोषणा, जानिए किसे क्या मिला

    नई दिल्ली। देश में तेजी से बढ़ रही कोरोना महामारी से निपटने के मद्देनजर घोषित देशव्यापी लॉकडाउन से प्रभावित लोगों के लिए मोदी सरकार ने दिहाड़ी मजदूरों और गरीबों के लिए लगभग 1.70 लाख करोड़ रुपए का रिलीफ पैकेज की घोषणा की है। उन्होंने बताया कि कुल 1.7 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज का क्रियान्वयन तत्काल प्रभाव से होगा, नकदी मदद एक अप्रैल से मिलेगी।
    केंद्र सरकार ने की 1.70 लाख करोड़ रुपए का रिलीफ पैकेज की घोषणा, जानिए किसे क्या मिला

    वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि  प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज योजना के तहत करीबों को नकदी ट्रांसफर की जाएगी। इसके अलावा कोरोना कमांडोज( जो कोरोना पीड़ितों के इलाज में लगे हैं) के लिए 50 लाख रुपए के बीमा कवरेज देने का भी ऐलान किया है। इस योजना से चिकित्सा व स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़े करीब 20 लाख कर्मचारियों को लाभ पहुंचेगा। 

    जानिए किसे क्या मिला
    वित्तमंत्री ने बताया कि मनरेगा के तहत आने वाले मजदूरों की मजदूरी बढ़ा दी गई है। ये मजदूरी पहले 182 रुपये थी, जो अब 202 रुपये कर दी गई है। इससे करीब 5 करोड़ परिवार को फायदा होने की उम्मीद है। निर्मला सीतारमण ने कहा कि अप्रैल के पहले सप्ताह में देशभर के करीब 8.65 करोड़ किसानों को 2 हजार रुपए की किस्त उनके खाते में जमा की जाएगी। 
    वित्त मंत्री ने साथ ही बताया कि कोई गरीब भूखा न रहे, इसके लिए सरकार ने इंतजाम किए हैं। निर्मला सीतारमण ने बताया कि प्रधानमंत्री अन्न योजना के तहत 5 किलो अतिरिक्त गेहूं या चावल अगले तीन महीने तक मिलेगा। इसका फायदा 80 करोड़ लाभार्थी को मिलेगा। इसके अलावा 1 किलो दाल का प्रावधान किया गया है। उन्होंने बताया कि 20 करोड़ महिला जनधन अकाउंट धारकों को 500 रुपये प्रति महीने अगले तीन महीने तक मिलेंगे। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने इस पैकेज की घोषणा करते हुए कहा कि इस योजना के तहत देश के 80 करोड़ लोगों को सस्ती दाम पर अनाज देने का निर्णय लिया है। 

    मुफ्त में मिलेगी गैस और राशन
    सरकार अगले तीन महीने तक उन प्रतिष्ठानों के लिये नियोक्ता और कर्मचारी दोनों का भविष्य निधि योगदान जमा करेगी, जिनमें 90 प्रतिशत कर्मचारी 15 हजार रुपये के वेतन वाले हैं। उन्होंने कहा कि 63 लाख महिला स्वयं सहायता समूहों के लिए रहन- मुक्त ब्याज दोगुना कर 20 लाख रुपये किया गया, सात करोड़ परिवारों को होगा लाभ। इसके अलावा उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों को अगले तीन महीने तक मुफ्त मिलेगा रसोई गैस सिलिंडर, 8.3 करोड़ गरीब परिवारों को होगा लाभ।

    वित्तमंत्री ने कर्मचारियों को भविष्य निधि खाते से 75 प्रतिशत जमाराशि अथवा तीन महीने के वेतन में जो भी कम हो उसे निकालने की अनुमति प्रदान की है। इसके अलावा उन्होंने तीन करोड़ गरीब वृद्धों, गरीब विधवाओं तथा गरीब दिव्यांगों को एक-एक हजार रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की। राशन की दुकानों से 80 करोड़ परिवारों को 5 किलो गेहूं या चावल के साथ एक किलो दाल तीन महीने के लिये मुफ्त मिलेगा 

    बुधवार को प्रदानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हुई कैबिनेट की बैठक में 80 करोड़ लोगों को कम दरों पर अनाज मुहैया कराने का निर्णय लिया गया था। इसके तहत गरीबों को 2 रुपए प्रति किलो चावल और 3 रुपए प्रति किलो चावल मुहैया कराया जाएगा। गौरतलब है कि बाजार में प्रति किलो गेंहू का दाम 27 रुपए और चावल का दाम करीब 37 रुपए है।

    No comments