• Breaking News

    Jaunpur : नगर पंचायत अध्यक्ष के पति के खिलाफ वर्षों से शारीरिक शोषण का आरोप


    • पीडि़ता ने एसपी को प्रार्थना पत्र सौंपकर लगायी न्याय की गुहार

    जौनपुर। नगर पंचायत मछलीशहर की अध्यक्ष के पति व मोहल्ला खानजादा के सभासद महमूद आलम उर्फ पप्पू पर एक अल्पसंख्यक महिला ने शादी का झांसा देकर कई वर्षों तक शारीरिक शोषण का आरोप लगाया है। यह मामला प्रकाश में आते ही सनसनी फैल गयी। पीड़िता ने पुलिस अधीक्षक जौनपुर को पत्र सौंपकर न्याय की गुहार लगायी है।
    आरोप हैं कि पीड़िता के माता-पिता नहीं है और उसका भाई रोजी रोटी के लिए बाहर रहता है। पीड़िता घर पर अकेली रहती है। पीड़िता के मुताबिक 10 वर्ष पूर्व सभासद उसके पास आये और कहा कि तुम गरीब परेशान व लाचार महिला हो, मैं तुम्हारा राशन कार्ड, स्मार्टकार्ड, शौचालय आदि बनवा दूंगा। बस जो मैं कहूं वो तुम करती जाओ और इसी बात को लेकर उनका मेरे घर आना-जाना और सम्पर्क बढ़ना शुरु हो गया और हमारे उनके बीच आपसी संबंध बढ़ गये। उन्होंने कहा कि मैं तुमसे शादी करना चाहता हूं तो मैंने कहा कि आपकी शादी हो चुकी है और आप बाल-बच्चे वाले है, आप मुझसे कैसे शादी करेंगे तो उन्होंने कहा कि इस्लाम में चार शादियां जायज है। मेरे पत्नी से सम्बन्ध अच्छे नहीं है, इसलिए मैं तुमसे शादी करना चाहता हूं। 
    मैं उनकी बात मानकर और विश्वास कर और उनके आग्रह पर शारीरिक सम्बन्ध बना लिया और तब से हमारे व उनके बीच पति-पत्नी का रिश्ता कायम हो गया। मैं निकाह के लिए बार-बार उनसे कहती रही लेकिन वह मुझे बहलाता फुसलाता रहा, और हीला-हवाली करता रहा। इस मध्य मेरे निकाह के लिए कई रिश्ते आये लेकिन मैं उसकी बातों में आकर शादी के रिश्तों से इनकार करती रही। उससे शारीरिक सम्बन्ध के फलस्वरुप कई बार मैं गर्भवती हुई लेकिन प्रारम्भिक गर्भावस्था में ही उसने एक डाक्टर जो उसका मित्र व सहयोगी है से दवा दिलवाकर गर्भपात करवा देता था। एक बार 4 वर्ष पहले गर्भ 5 महीने का हो गया था। डाक्टर ने गर्भपात के लिए दवा दिया जिससे गर्भपात हो गया लेकिन मेरी हालत बहुत बिगड़ गई तब उसने डाक्टर और कुछ मित्रों को लेकर आला हास्पिटल जौनपुर गया और मेरी दवा इलाज करवाया। 
    मैंने कई बार उससे बार-बार निकाह के लिए कहती रही लेकिन वह टालता रहा इसी बीच उसकी पत्नी नगर पंचायत की अध्यक्ष हो गयी। जब मैंने उस पर निकाह के लिए दबाव डालना शुरु किया तो उसने यह कहकर कि मेरी पत्नी चेयरमैन हो गयी है तुमसे विवाह करुंगा तो मेरी बड़ी बदनामी होगी और मेरा राजनैतिक कैरियर बर्बाद हो जाएगा। तुमसे विवाह नहीं करुंगा। उसके द्वारा विवाह से इनकार किये जाने के बाद लगभग एक माह पूर्व मैंने मछलीशहर थाने में उपरोक्त घटना के संबंध में लिखित दरखास्त दिया जिसकी जानकारी उसको हो गयी तो उसने अपने सहयोगियों से फोन करवाकर एक व्यक्ति के घर पर रात 8 बजे बुलवाया वहां पर कुछ लोग मौजूद थे। इन लोगों ने डरा धमकाकर मुझे जान से मारने की धमकी देकर प्रार्थिनी से स्टाम्प पेपर व कुछ सादे कागजात पर दस्तखत करवायें। इस प्रकार उन लोगों द्वारा मेरे विरुद्ध संज्ञेय अपराध कारित किया गया है। 
    पीड़िता ने घटना के बारे में मछलीशहर थाने में लिखित प्रार्थना पत्र भी दिया है लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। इसके बाद पीड़िता ने एसपी को पत्र सौंपकर उसके साथ हुए संगीन अपराधों की रिपोर्ट उक्त लोगों के विरुद्ध दर्ज करने के लिए थानाध्यक्ष मछलीशहर को निर्देशित करने की मांग की है ताकि उसे न्याय मिल सके। 



    No comments