• Breaking News

    Patna : केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने दिया सरिसवा नदी के पानी की तत्काल जांच का आदेश


    • बोर्ड ने सरिसवा नदी को बिहार में प्रदूषित नदी प्राथमिकता श्रेणी III के रूप में चिह्नित किया
    • नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) के आदेश के तहत नदी के उद्धार के लिए आरआरसी तैयार करेगा एक्शन प्लान 
    • जल शक्ति मंत्रालय के अंतर्गत राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन (एनएमसीजी) भी इस मामले में पहल करेगा

    Patna  केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने दिया सरिसवा नदी के पानी की तत्काल जांच का आदेश
    पटना। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय (भारत सरकार) ने सरिसवा नदी के पानी की गुणवत्ता की तत्काल जांच के आदेश दिए हैं। साथ ही बोर्ड ने सरिसवा नदी को बिहार में प्रदूषित नदियों की प्राथमिकता श्रेणी III के रूप में चिह्नित किया है। जल शक्ति मंत्रालय के अंतर्गत राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन (एनएमसीजी) को भी इस मामले में संज्ञान लेने का निर्देश दिया गया है। इसकी जानकारी केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, नेशनल वाटर क्वालिटी मोनेरेटिंग प्रोग्राम के डिविजनल हेड ए. सुधाकर ने डा. स्वयंभू शलभ को मेल के जरिये दी है।
    Advt.

    इस पत्र में श्री सुधाकर ने बताया है कि राज्य सरकार द्वारा नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) के आदेश सं 673/2018 के आलोक में बिहार में प्रदूषित नदियों के उद्धार के लिए बिहार सरकार द्वारा गठित रीवर रेजुविनेशन कमिटि (आरआरसी) एक्शन प्लान तैयार कर उसे पूर्ण रूप से कार्यान्वित करेगी।
    बोर्ड ने माना है कि सरिसवा नदी की जल गुणवत्ता मुख्य रूप से नेपाल की ओर से आ रहे औधोगिक प्रदूषण के कारण खराब हो रही है। बोर्ड ने नदी को प्रदूषित करने वाले सभी स्रोतों को पूर्ण रूप से चिह्नित कर उनकी सम्यक जांच के साथ कृत कार्रवाई रिपोर्ट को पेश करने का निर्देश जारी किया है। इस पत्र की प्रति बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के सदस्य सचिव को भी भेजी गई है।
    Advt.
    Advt.

    No comments