• Breaking News

    Jaunpur : मनीष और ऋचा के कथक ने बांधा समा


    • ठुमरी और तराने पर बजती रहीं तालियां
    • सांस्कृतिक संध्या में सत्यप्रकाश मिश्र की जोरदार प्रस्तुति

    जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय जौनपुर के राजेंद्र सिंह रज्जू भैय्या संस्थान के आर्यभट सभागार में दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में शुक्रवार की शाम को सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया गया। ठुमरी और तराने ने जहां श्रोताओं के मन में जोश पैदा किया वहीं कथक नृत्य ने लोगों को झकझोर दिया। साथ ही मनीष शर्मा और ऋचा पांडेय की घूंघरू की खनक ने पूरे सभागार को झकझोर दिया।
    समारोह का शुभारंभ प्रसिद्ध शास्त्रीय गायक पंडित सत्य प्रकाश मिश्र ने राग यमन से की। उनके साथ तबले पर लालजी मलिक तानपुरा पर आकर्ष श्रीवास्तव, ढोलक पर गुरु  प्रसाद जी और सह गायक करमचंद्र जी थे। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. डा. राजाराम यादव ने भी अपनी शानदार प्रस्तुति दी। बंगलुरु  से आए प्रो. गोपाल कृष्ण राव ने तबले पर संगत की। बनारस घराने से आए कथक नृत्यांगना मनीष शर्मा और ऋचा पांडेय ने शिव वंदना पर जोरदार जुगलबंदी की।
    इसी क्रम में दोनों ने राधा- कृष्ण के प्रेम का वर्णन करते हुए जोरदार नृत्य की प्रस्तुति की। मनीष और ऋचा के घूंघरू के सवाल का जवाब तबले से विनोद मिश्र दे रहे थे। इस जोरदार प्रस्तुति से पूरा हाल तालियों से गूंज उठा। कथक में हारमोनियम पर गौरव मिश्र, तबले पर विनोद मिश्र, बांसुरी पर ऋषभ राज और सारंगी पर अंकित मिश्र ने संगत की। सभी कलाकारों को कुलपति प्रोफेसर डॉ. राजाराम यादव, प्रो.भीम सिंह और प्रो.बी.बी. तिवारी ने स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। समारोह का संचालन डॉ. मनोज मिश्र ने किया।
    Advt.
    Advt.
    Advt.

    No comments