• Breaking News

    Jaunpur : हाथी का अंतिम संस्कार कर गांव वालों ने दी अनोखी श्रद्धांजलि

    प्रदीप कुमार दुबे
    मीरगंज, जौनपुर। स्थानीय क्षेत्र के भटहर गांव स्थित साईनाथ मंदिर के समीप विद्युत करेंट की चपेट में आने से मृत माला नामक हाथी का दर्जनों गांव से एकजुट हुए ग्रामीणों ने शुक्रवार को विधि विधान से पूजन अर्चन करते हुए भावभीनी सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित किया। इनका मानना है कि इस क्रिया के बाद गांव में किसी भी प्रकार की अनिष्ट नहीं होगी।
    गौरतलब हैं कि 10 दिन पूर्व साईनाथ मंदिर के समीप विद्युत करेंट की चपेट में आने से अबरना निवासी सभाशंकर पाण्डेय की पालतू माला नामक हाथी को महावत गांव भ्रमण करते हुए उक्त मंदिर पर पहुंचा था जहां रात में सिकड़ा टूटने की वजह से हाथी गांव निवासी शेरबहादुर सिंह के खेत में चली गयी थी और लचीले बिजली तार की चपेट में आने से उसकी मौत हो गई थी। मृत हाथी के शव को वहीं दफन किया गया था। जिसके 10वें दिन वृंदावन से पहुंचे महराज राघवेंद्रचार्य व सैकड़ों की संख्या में उपस्थित ग्रामीणों ने मृत हाथी के कब्रा पर श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए श्रद्धांजलि दिया। इसके पूर्व साईनाथ मंदिर पर दो मिनट का मौन धारणकर मृत गजराज के आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से लोगों ने प्रार्थना किया। तत्पश्चात राष्ट्रगान भी गया गया। इस मौके पर पूर्व सांसद प्रतिनिधि राजेश सिंह, कृष्णकांत दूबे, सिंटू मौर्या, विपुल सिंह, धर्मेंद्र गिरी, रविशंकर सोनी प्रधान, सुरेश पाण्डेय, सुबाष सिंह, हरिश्चंद्र बिंद, बिक्की शुक्ला समेत दर्जनों गांव से सैकड़ो ग्रामीण उपस्थित रहे।
    Advt

    ग्रामीणों ने यह भी तय किया हैं कि वे सामूहिक रूप से हाथी की याद में गणेश मंदिर का निर्माण कराएंगे। ग्रामीणों में हनुमंत, मकालू, सिंटू मौर्या आदि लोगों का मानना हैं कि गणेश के प्रतीक गजराज की गांव में नववर्ष के पहले ही दिन दर्दनाक मौत होने के बाद से ही मातम जैसा महौल हो गया है। जिससे गांव पर किसी अनिष्ट का साया जैसा मंडरा रहा है। इस पूजन पाठ से काला साये की नजर नहीं पड़ेगी।

    Advt
    Advt

    No comments