• Breaking News

    Jaunpur : बैंक से विड्राल हो गये 50 हजार, किसी को नहीं लगी भनक


    • थाने, बैंक का चक्कर लगा रहा पीड़ित, न्याय की गुहार

    बिपुल सिंह
    बदलापुर, जौनपुर। उपभोक्ताओं द्वारा बैंक को सुरक्षित समझ कर अपने खाते में धनराशि जमा करते है लेकिन वहां भी जालसाजों ने अंतत: सेंध लगा ही दिया जो बैंक हजार पांच सौ रुपये के लिए कई बार विड्राल पर्ची की जांच पड़ताल के बाद उपभोक्ताओं का पैसा विड्राल करती है। वहीं बैंक धनराशि निकाल रहे जालसाज का क्या फोटो एवं हस्ताक्षर विड्राल पर्ची के समय जाँच नहीं किया? यह बैंककर्मियों के लिए प्रश्न है। अब विभागीय कार्रवाई से बचने के लिए बैंककर्मी चाहे जो भी हथकंडा अपनाये लेकिन उनके लिए जबाबदेही सुनिश्चित है। फोरेंसिक जांच बैंककर्मियों के बचने का सिर्फ एक मात्र बहाना है। बैंक की इस प्रकार की गलती आम जनमानस के गले से नहीं उतर रही है।
    Advt.

    बताते चलें कि इसी बैंक में कुछ समय पूर्व भी इस प्रकार की घटना घट चुकी है। इस घटना से आहत सरोखनपुर गांव निवासी अशोक कुमार शर्मा ने अपने साथ हुए जालसाजी की घटना का एक प्रार्थना पत्र थाने में देकर न्याय की गुहार लगाया है जबकि पीड़ित के मुताबिक उनके यूनियन बैंक शाखा पुरानी बाजार बदलापुर खाते से जिसका नम्बर 47560201001362 है। क्रमश: 26 अगस्त 19 को 10 हजार रु पये 27 अगस्त 19 को 20 हजार रु पये, पुन: 29 अगस्त 19 को 20 हजार रु पये विड्राल भरकर फर्जी हस्ताक्षर के जरिये 50,000 रुपये निकाला गया है। इसकी लिखित शिकायत स्थानीय थाने में देते हुए कार्रवाई की मांग किया है।

    Advt.

    Advt.

    No comments