• Breaking News

    उत्तर प्रदेश के तीन भाग पूर्वांचल, बुंदेलखण्ड और यूपी? #NayaSabera


    केंद्र की मोदी सरकार बड़े—बड़े कार्यों को अंजाम तक पहुंचाने में कामयाब रही हो चाहे वह जीएसटी हो या फिर धारा 370 या फिर ट्रिपल तलाक ही क्यों ना हो? 
    इन दिनों सोशल मीडिया पर यह खबर तेजी से फैल रही है कि मोदी सरकार यूपी को बांटने की रणनीति पर काम कर रही है। इतना ही नहीं सरकार दिल्ली को भी पूर्ण राज्य का दर्जा देने के मूड में है।

    इन खबरों की मानें तो लुटियंस दिल्‍ली को छोड़कर बाकी दिल्‍ली को पूर्ण राज्‍य का दर्जा दिए जाने और उत्‍तर प्रदेश का विभाजन कर तीन भागों में बांटने का प्रस्‍ताव है लेकिन इतन खबरों की पुष्टि किसी भी स्तर पर नहीं हुई है। फिर भी सोशल मीडिया पर इस मुद्दे की चर्चा तेजी से शुरू हो गयी है।

    दिल्ली की बात करे तो यहां लुटियन्स जोन को छोड़कर बाकी दिल्‍ली को पूर्ण राज्‍य बनाने का प्रस्‍ताव है। यह भी कहा जा रहा है कि हरियाणा के सोनीपत, रोहतक, झज्जर, गुरुग्राम, रिवाड़ी, नूंह (मेवात), पलवल और फरीदाबाद को प्रस्‍तावित दिल्‍ली राज्‍य का हिस्‍सा बनाया जाएगा। साथ ही यूपी के मेरठ मंडल के जनपद बागपत, गाजियाबाद, नोएडा, हापुड, बुलंदशहर और मेरठ दिल्ली प्रदेश में शामिल किए जा सकते हैं। 

    वहीं सहारनपुर मंडल के सभी तीनों जनपद हरियाणा में शामिल किए जा सकते हैं। दावा तो यह भी किया जा रहा है कि मुरादाबाद मंडल को उत्‍तराखंड का हिस्‍सा बनाया जा सकता है।

    अब बात यूपी की करें तो इसको जो दावे किए जा रहे हैं, उनमें कहा जा रहा है कि दो नए राज्‍य बनाए जाएंगे। पूर्वांचल और बुंदेलखंड। पूर्वांचल की राजधानी गोरखपुर तो बुंदेलखंड की राजधानी प्रयागराज हो सकती है। प्रस्‍तावित गोरख प्रांत या यूं कहे पूर्वांचल प्रदेश उसमें देवरिया, गोरखपुर, कुशीनगर, महाराजगंज, आजमगढ़, बलिया, मऊ, बस्ती, संत कबीर नगर, सिद्धार्थनगर,
    गोंडा, बहराइच, बलरामपुर, श्रावस्ती, अम्बेडकर नगर, अयोध्या , सुल्तानपुर, अमेठी, बाराबंकी, वाराणसी, चंदौली, गाजीपुर, जौनपुर और वाराणसी सहित कुल 23 जनपद शामिल किए जाएंगे।

    अब प्रस्तावित बुंदेलखण्ड की बात करें तो यहां प्रयागराज, फतेहपुर, कौशाम्बी, प्रतापगढ़, चित्रकूट, बांदा, हमीरपुर, महोबा, झांसी, जालौन, ललितपुर, मिर्जापुर, संत रविदास नगर, सोनभद्र, कानपुर, कानपुर देहात, औरैया को मिलाकर कुल 17 जनपदों से मिलकर बुंदेलखंड राज्‍य बनाया जा सकता है।

    दावा यह भी किया जा रहा है कि यूपी के शेष भाग पूर्ववत रहेंगे, जिसकी राजधानी लखनऊ रहेगी। इसमें लखनऊ, हरदोई, लखीमपुर खीरी, रायबरेली, सीतापुर, उन्नाव, आगरा, फिरोजाबाद, मैनपुरी, मथुरा, अलीगढ़, एटा, हाथरस, कासगंज, बरेली, बदायू , बरेली, पीलीभीत, शाहजहांपुर, फर्रूखाबाद व कन्नौज को भी इसी में मिलाकर कुल 20 जनपदों के साथ उत्तर प्रदेश का अस्‍तित्‍व बना रहेगा।

    अब यह खबर कितनी सही है यह तो आने वाला वक्त बताएगा लेकिन सोशल मीडिया पर इस खबर की चर्चा जोर शोर से हो रही है।

    No comments