• Breaking News

    IAS की पत्नी रितु जायसवाल ने अपनी सुख—सुविधाएं छोड़ गांव की तस्वीर बदलने का ले लिया संकल्प | #NayaSabera

    नया सबेरा नेटवर्क
    हम बात कर रहे हैं एक ऐसी महिला की जिन्होंने अपने जीवन का सर्वाधिक समय राजधानी दिल्ली जैसे शहर में तमाम सुख-सुविधाओं के बीच गुजारी हो, अर्थशास्त्र से स्नातक कर स्वावलंबन की जिंदगी जी रही हो, जिसका पति भारतीय प्रशासनिक सेवा अधिकारी रहा हो...  ऐसी महिला किस माहौल और किस स्तर के लोगों के बीच रह रही होगी इसका अंदाजा तो आप लगा ही सकते हैं। परंतु तमाम सुख-सुविधाओं में अपना जीवन व्यतीत कर रही इस महिला के जीवन में सबसे बड़ा बदलाव तब आता है जब वह पहली बार गाँव घुमने व देखने के प्रयोजन से अपने ससुराल जाने की इच्छा प्रकट करती है और जब वह अपने ससुराल सिंहवाहिनी पंचायत, सीतामढ़ी पहुँचती है तब वहाँँ की दयनीय स्थिति उस महिला को पूरी तरह से झकझोर कर रख देती है और उसी वक्त वह महिला उस पंचायत को आदर्श पंचायत के रुप में प्रतिष्ठित करने का प्रण ले लेती है। जी हाँ, हम बात कर रहे हैं उस महिला की जिन्होंने संपूर्ण भारतवर्ष में अपनी एक अमिट पहचान कायम करने में सफल रही हैं... आदरणीया श्रीमती रितु जायसवाल (मुखिया, सिंहवाहिनी पंचायत, सीतामढ़ी)।
        26/06/2016... एक ऐसी तिथि जो भविष्य में सिंहवाहिनी पंचायत के इतिहास में स्वर्णाक्षरों में अंकित होगी, क्योंकि यह दिन था श्रीमती रितु जायसवाल जी का एक मुखिया के तौर पर शपथ ग्रहण का या यूँ कहें कि सिंहवाहिनी पंचायत के विकास की कहानी इसी दिन से शुरु हुई।

    अपने पंचायत के विकास का ऐसा जुनून था कि अपने पति, बच्चों एवं सारी सुख-सुविधाओं का त्याग कर एक ऐसे गाँव में आ बसी जहाँ आजादी के 70 वर्ष बाद भी  सड़क, बिजली, पानी, शिक्षा की कोई व्यवस्था नहीं थी। एक मुखिया का दायित्व मिलते ही अपने क्षेत्र में सड़कों का निर्माण, गाँव की बहू-बेटियों के लिए सैनिटरी पैड-बैंक की स्थापना, बेहतर शिक्षा व्यवस्था, स्वास्थ्य सुविधायें, पंचायत के कई गाँव में पहली बार बिजली की व्यवस्था, चापाकल, नल, सोलर-लाइट्स, वाटर-पम्प, बायोगैस-प्लांट तथा स्वच्छ भारत अभियान के अंतर्गत लगभग 2000 से अधिक शौचालयों का निर्माण करवा कर एक कीर्तिमान स्थापित किया जिसके फलस्वरुप महज चार महीने के अंदर ही 27/10/2016 को इनके पंचायत को "खुले में शौचमुक्त पंचायत" का दर्जा मिल गया।  ऐसी ही अनेक सुविधाओं से जोड़कर पंचायत को एक आदर्श पंचायत का रूप प्रदान करने के लिए लगातार कार्य कर रही हैं। महज तीन वर्षों में एक मुखिया के द्वारा किसी पंचायत के लिए इतना कार्य करना ही इन्हें एक अलग श्रेणी में ला खड़ा करता है।  इनके द्वारा पंचायती स्तर पर किए गये इन्हीं उत्कृष्ट कार्यों के बदौलत 18/01/2017 को “उच्च शिक्षित आदर्श युवा सरपंच (मुखिया) पुरस्कार – 2016” भारतीय छात्र संसद, पुणे, महाराष्ट्र द्वारा प्रदान किया गया।  
             ईमानदारी, कर्मठता, लगनशीलता, उत्साह व अपनी कार्यशैली के बल पर आज उस मुकाम पर पहुँच चुकी हैं जहाँ देश भर के विभिन्न उच्च संस्थानों MAHARASHTRA INSTITUTE OF TECHNOLOGY-PUNE - 18/01/2017 को, IIT-MUMBAI (SEE-Talks)-16/06/2018 को, IIT-PATNA - 03/08/2018 को, Josh Talks, बिहार छात्र संसद आदि में युवा छात्रों को संबोधित करने के साथ-साथ 27/02/2018 को भारत सरकार के पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय के सहयोग से आयोजित "एल.पी.जी कैटेलिस्ट ऑफ सोशल चेंज-2" जैसे अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रम में  पंचायती राज संस्था का प्रतिनिधित्व करते हुए झारखंड के माननीय मुख्यमंत्री एवं महामहिम राज्यपाल एवं दर्जनों केंद्रीय एवं राज्य मंत्री की गरिमामयी उपस्थिति में बतौर मुख्य वक्ता अपना वक्तव्य रखना या 02/06/2018 को कोशी शिखर सम्मेलन में दिग्गज समाजिक कार्यकर्ताओं के बीच बतौर मुख्य अतिथि शामिल हो कर अपनी बातों को रखना या, 29/07/2018 को TEDx के ऐसे मंच से अपने उद्बोधन को रखना जिस पर पूर्व में दुनिया की तमाम नामचीन हस्तियों ने अपना उद्बोधन दिया हो, या 06/08/2018 को "राष्ट्रीय ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज संस्थान- हैदराबाद" द्वारा ग्राम पंचायत विकास योजना पर वक्तव्य देने के लिए पूरे भारत से मुखिया संघ का प्रतिनिधित्व करने जाना, यूँ समझिए कि 70 सालों में जो मूलभूत सुविधायें इनके पंचायत तक नहीं पहुँची थी मुखिया रितु जायसवाल ने महज तीन वर्ष के कार्यकाल में तमाम मूलभूत सुविधाओं को पंचायत वासियों के लिए मुहैया कराने का कार्य किया है और इसी का परिणाम है कि अब इनका दायरा सीतामढ़ी या बिहार या भारत तक ही नहीं अपितु एशिया तक पहुँच चुका है ! इनकी कार्यशैली, ईमानदारी व जुनून के परिणामस्वरुप ही विगत वर्ष 26/12/2018 को दिल्ली के विज्ञान भवन में "Interactive forum on indian economy" द्वारा आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री जी के संपूर्ण भारत के 115 आकांक्षी जिलों में से जब महज 50 लोगो को चुना जाता है जिसमें मुख्यमंत्री, मंत्री एवं उच्च स्तरीय अधिकारी के बीच जब  एक मुखिया का नाम आता है तो वो कोई और नहीं बल्कि मुखिया रितु जायसवाल का नाम होता है जिन्हे महामहिम उपराष्ट्रपति के हाथों "CHAMPIONS OF CHANGE AWARD" से सम्मानित किया जाता है ! इतना ही नहीं 21/06/2019 को जब मायानगरी मुंबई में Rural Marketing Association of india के द्वारा Flame Leadership International Award - 2019 के लिए पूरे एशिया महाद्वीप से महज पाँच लोग चुने जाते हैं और उसमें पहली बार इस अवार्ड के लिए किसी नेता या जनप्रतिनिधि का चयन किया गया और वह नाम कोई और नहीं मुखिया रितु जायसवाल का होता है ! विकट मुश्किल परिस्थितियों में कार्य करते हुए, भ्रष्ट राजनैतिक व प्रशासनिक तंत्र से लड़ते हुए भी आपने जो मिशाल कायम किया है, आपकी जो कार्यशैली है वह अद्भुत व अद्वितिय है !
       "With Integrity my mission is to Love, Live, Inspire." - Ritu jaiswal
                
    अधिक जानकारी के लिए निम्नलिखित लिंक पर visit करें
    Website :- www.ritujaiswal.com
    E-mail :- rkumar7377@gmail.com
    Facebook :- http://facebook.com/RituJaiswalOfficial

    प्रस्तुति एवं डाटा संकलन :- अंकित आजाद गुप्ता
    Admission Open 2019-20 | Nursery to IX & XI | D.B.S. Inter College | Kadipur, Ramdayalganj, Jaunpur | Contact - 9956972861, 9956973761
    Advt.
    Admission Open : देश का नं. 1 स्कूल *Mount Litera Zee School, Allahabad Road, Fatehganj, Jaunpur* | Nursery to 9th में प्रवेश प्रारम्भ। अधिक जानकारी के लिए सम्पर्क करें — Mo : 7311171181, 7311171182 Advt
    Advt

    Advt.


    No comments