• Breaking News

    जानिए दुनिया के सबसे खतरनाक, महंगा बिकने वाले लैपटॉप के बारे में | #NayaSabera

    दुनिया का सबसे खतरनाक लैपटॉप ऑनलाइन पर निलामी में हजारों में बिक रहा है। छह भयंकर वायरस इस लैपटॉप में छिपे हुए हैं। इसिलिए उसे वर्ल्ड मोस्ट डेंजरस' लैपटॉप का नाम दिया गया है। सबसे खतरनाक और विश्व को भारी नुकसान पहुंचाने वाले छह वायरस इसमें छिपे हुए हैं।

    इन वायरसों के कारण विश्वभर में करीब 100 बिलियन डॉलर्स के नुकसान का अनुमान है। आप कहेंगे क्या ऐसे लैपटॉप की निलामी भी होती है? यही नहीं, एक लैपटॉप को इतनी बड़ी बोली लगने की खबर सुनकर आश्चर्य होना लाजमी है।

    सेक्योरिटी कंपनी डीप इंस्टिंक्ट के तत्वावधान में ग्वो ओ डोंग नामक इंटरनेट ऑर्टिस्ट ने इस प्रोजेक्ट की रूपरेखा तैयार की है। बहुत ही खतरनाक छह वायरस लाइवली रखकर इस डिवाइज को निलामी के लिए रखा गया है।

    ग्वो ने बताया कि डिजिटल दुनिया के सामने आ रही चुनौतियों व खतरों के बारे में लोगों को भौतिक रूप से परिचित कराने की कोशिश है। लोगों का मानना है कि कंप्यूटर में मौजूद भयंकर वायरस हमें भौतिक रूप से प्रभावित नहीं कर सकते, लेकिन लोग यह समझ नहीं रहे हैं कि ये वायरस हमें आर्थिक रूप से काफी नुकसान पहुंचा रहे हैं। यही वजह है कि भारी नुकसान पहुंचाने वाले इन छह भयंकर वायरस को चुना गया है।

    इसका नाम विंडोस एक्सपी आधारित सैमसंग एनसी 10 है। यह 10.2 ईंच वाला 14 GB (2008) डिवाइस है। वाईफाई, फ्लैशड्राइव को कनेक्ट करने तक इससे बाकी PC तक इस वायरस को फैलने से रोकने के लिए आयोजकों ने जरूरी सावधानी बरती है।

    आई लवयू, माइडूम, सोबिग, वान्ना क्राई, डार्क टेक्विला ब्लॉक एनर्जी नामक छह मॉलवेयर इस लैपटॉप में छिपे हुए हैं। 'दि पेर्सिस्टेन्स ऑफ खोस' नामक शीर्षक से ग्वो ओ डोंग ने इसे सृजित किया है। ऑन लाइन द्वारा चलाई जा रही निजी निलामी में अब तक 1.2 मिलियन डॉलर (करीब 8 करोड़ 34 लाख) की बोली लग रही है। अद्भूत इस आर्टपीएस को लेकर रुचि रखने वाले कोई भी इस निलामी में हिस्सा ले सकते हैं।

    No comments