• Breaking News

    यह खबर मोदी-अमित शाह व भाजपा को कर देगी खुश, अगले साल का करना होगा इंतजार | #NayaSabera

    नया सबेरा नेटवर्क
    नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव में भारी सफलता के बाद भाजपा नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के पास अगले साल के अंततक राज्य में बहुमत हो जाएगा और उसके बाद मोदी सरकार के लिए अपने विधायी एजेंडे को आगे बढ़ाने में आसानी हो जाएगी।

    फिलहाल राजग के पास राज्यसभा में 102 सदस्य हैं, जबकि कांग्रेस नेतृत्व वाले संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन संप्रग के पास 66 और दोनों गठबंधनों से बाहर की पार्टियों के पास 66 सदस्य हैं।

    राजग के खेमे में अगले साल नवंबर तक लगभग 18 सीटें और जुड़ जाएंगी। राजग को कुछ नामित, निर्दलीय और असंबद्ध सदस्यों का भी समर्थन मिल सकता है।

    राज्यसभा में आधी संख्या 123 है, और ऊपरी सदन के सदस्यों का चुनाव राज्य विधानसभा के सदस्य करते हैं।

    ऐसे होगा चेंज
    अगले साल नवंबर में उत्तर प्रदेश में खाली होने वाली राज्यसभा की 10 में से अधिकांश सीटें भाजपा जीतेगी। इनमें से नौ सीटें विपक्षी दलों के पास हैं। इनमें से छह समाजवादी पार्टी (सपा) के पास, दो बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और एक कांग्रेस के पास है।

    उत्तर प्रदेश विधानसभा में भाजपा के 309 सदस्य हैं। सपा के 48, बसपा के 19 और कांग्रेस के सात सदस्य हैं।

    यहां है संभावना
    अगले साल तक भाजपा को असम, अरुणाचल प्रदेश, उत्तराखंड, ओडिशा, हिमाचल प्रदेश में सीटें मिलेंगी। भाजपा राजस्थान, बिहार, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश में सीटें गंवाएगी। महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव के परिणामों का भी राजग की सीट संख्या पर असर होगा।

    हालांकि असम की दो सीटों के चुनाव की घोषणा हो चुकी है, जबकि तीन अन्य सीटें राज्य में अगले साल तक खाली हो जाएंगी। भाजपा और उसके सहयोगी दलों के पास राज्य विधानसभा में दो-तिहाई बहुमत है।

    ऊपरी सदन की लगभग एक-तिहाई सीटें इस साल जून और अगले साल नवंबर में खाली हो जाएंगी। दो सीटें अगले महीने असम में खाली हो जाएंगी और छह सीटें इस साल जुलाई में तमिलनाडु में खाली हो जाएंगी। उसके बाद अगले साल अप्रैल में 55 सीटें खाली होंगी, पांच जून में, एक जुलाई में और 11 नवंबर में खाली होंगी।

    भाजपा नेतृत्व वाली सरकार का प्रयास अपने विधायी एजेंडे को आगे बढ़ाने का होगा, जो पिछले पांच सालों के दौरान विपक्ष के विरोध के कारण आगे नहीं बढ़ पा रही थीं। सरकार तीन तलाक विधेयक को पास नहीं करा सकी, जबकि यह विधेयक लोकसभा में पारित हो चुका है। नागरिकता संशोधन विधेयक भी पास नहीं हो पाया है।


    बीजू जनता दल और तेलंगाना राष्ट्र समिति दोनों ने हालांकि भाजपा और कांग्रेस से समान रूप से दूरी बना रखी है, लेकिन दोनों दलों ने पिछले साल राज्यसभा के उपसभापति पद के लिए हरिवंश का समर्थन किया था।

    High Class Men's Wear Olandganj Jaunpur | Mohd. Meraj Mo 8577913270, 9305861875
    advt.
    पूर्वांचल का सर्वश्रेष्ठ प्रतिष्ठान गहना कोठी भगेलूराम रामजी सेठ, जौनपुर
    Advt.
    R.N. TAGORE SENIOR SECONDARY SCHOOL | Admission Open 2019-20 | SUKKHIPUR, BODARKARPUR, JAUNPUR | 8573996668, 9616178972, 9415940492
    Advt
    Agafya Furnitures | Exclusive Indian Furniture Show Room | Mo. 9198232453, 9628858786 | अकबर पैलेस के सामने, बदलापुर पड़ाव, जौनपुर — 222002
    Advt.

    Brilliant Mind Computer & English Classes | पता: टी.डी. महिला डिग्री कालेज के पास, जनपद जौनपुर| संपर्क करें: 9794853396, 9451224243 Advt.
    Advt



    No comments