• Breaking News

    Mainpuri News: मंगल कलश यात्रा के साथ पंचकल्याणक महामहोत्सव शुरु

    Ashish Dhusia
    नया सबेरा ब्यूरो
    शहर में धूमधाम से निकाली मंगल कलश यात्रा, जगह-जगह हुआ स्वागत
    डाॅ0 सौरभ-डाॅ0 स्वाती जैन ने की मुख्य कलश की स्थापना
    मुश्किल से प्राप्त होता है पंचकल्याणक प्रतिष्ठा में भाग लेने का पुण्योदयः विश्रुत सागर महाराज 
    मैनपुरी। शहर के करहल रोड स्थित श्री आदिनाथ दिगम्बर जैन बड़ा मन्दिर में शनिवार को पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महामहोत्सव की शुरुआत मंगल कलश यात्रा के साथ हो गई। महोत्सव का आयोजन भगवान मुनि सुब्रतनाथ की प्रतिमा विराजमान कराने हेतु मुनि श्री विश्रुत सागर महाराज के सानिध्य में हो रहा है। मुख्य कलश स्थापना डाॅ0 सौरभ जैन व डाॅ0 स्वाती जैन ने की।
    महोत्सव के शुरुआत 108 सौभाग्यवती महिलाओं द्वारा सिर पर मंगल कलश लेकर घट यात्रा के साथ हुई। बड़ा मन्दिर से शुरु हुई यात्रा गाजे बाजे के साथ मुख्य मार्गो से होते हुये मण्डप स्थल पहुंची। कलश यात्रा में सबसे आगे बच्चे पंच रंगे ध्वज लेकर चल रहे थे, पीछे माता मरुदेवी (श्रीमती किसलय जैन) अष्टदेवियों के साथ थी। पण्डाल स्थल पर ध्वजारोहण श्रीमती चिन्तामणी सवाईलाल जैन परिवार मुम्बई व कन्नौज श्रीमती पदमा-पंकज ने किया। पण्डाल मंच का उद्घाटन डाॅ0 अरिंजय जैन ने किया। तत्पश्चात् आचार्य विराग सागर जी महाराज के चित्र का अनावरण श्रीमती पदमा जैन मुम्बई तथा दीप प्रज्जवलन पं0 प्रकाश चन्द्र जैन दादा ने किया।
    पदा प्रच्छालन के बाद मुनिश्री विश्रुत सागर जी महाराज ने कहाकि पंचकल्याणक प्रतिष्ठा में भाग लेने का पुण्योदय मुश्किल से प्राप्त होता है। जब पाषाण 06 दिन में पत्थ्र से पूज्य बन जाता है तो तुम मनुष्य हो, अपनी विशुद्धि बढ़ाते हुये संयम अंगीकार करों। पं0 विनोद कुमार ने कहाकि अपने मन्दिरों व मकानों पर जैन ध्वज अवश्य लगाना चाहिये। डाॅ0 सुशील जैन ने ध्वजारोहण के महत्व पर प्रकाश डाला।
    कार्यक्रम में समिति के महामंत्री विशाल जैन जाॅली, कार्यक्रम संयोजक डाॅ0 सौरभ जैन, गौरव जैन उपवन, प्रमोद जैन, अजय जैन बबलू, शैलेश मोदी, तनिष्क जैन, प्रियांश जैन, अमन जैन, नमन जैन आदि प्रमुख रुप से मौजूद रहे।

    No comments