• Breaking News

    Jaunpur News : अलविदा जुमें की नमाज़ सकुशल सम्पन्न | #NayaSabera

    नया सबेरा नेटवर्क
    फिलीस्तीन में इज़राइल द्वारा ढाया जा रहा ज़ुल्म मानवाधिकार का खुला उलंघन है : मौलाना महफुजुल हसन खां

    जौनपुर। माहे रमजान की अंतिम शुक्रवार अलविदा जुमे की नमाज मुसमानों ने बड़े अकिदत एहतेराम के साथ अदा की सुबाह से ही अलविदा जुमे के लिए तैयारियां शुरू हो गई थी। मस्जिदों के रास्ते पर नमाजियों का हुजुम दिखाई दे रहा था। शहर की अधिकांष मस्जिदों में नमाजियों की संख्या अधिक हो जानें का कारण सड़क पर नमाज अदा की गई। शाही किला मस्जिद, अटाला मस्जिद, बड़ी मस्जिद, शेर की मस्जिद व अन्य मस्जिदों के अलावा अलविदा जुमे के अवसर पर शिया जामा मस्जिद नवाब बाग कसेरी बाजार में इमामे जुमा मौलाना महफुजुल हसन खां के नेतृत्व में नमाज अदा की गई नमाजियों की संख्या अधिक हो जाने के कारण षिया जामा मस्जिद कसेरी बाजार से हरलालका रोड से कोतवाली चौराहे तक नमाज अदा की गई। उसके उपरान्त मस्जिद में यौमे कुदस मनाया गया नमाज़ियों को सम्बोधित करते हुये इमामे जुमा मौलाना महफुज़ुल हसन खां ने कहा कि फिलीस्तीन के मुसलमानों का दुनिया के तमाम मुस्लिम राष्ट्रों को समर्थन करना चाहिए, क्योकि फिलीस्तीनी मज़लूम है।
    इसराइल ने एक तरफ तो किब्ला अव्वल मस्ज़िदे अकसा बैतुल मुकद्दस पर कब्ज़ा जमा रखा है। दूसरी तरफ फिलीस्तीनीयों को उनके अधिकारो से वंचित कर दिया है। ये सरासर मानवाधिकार का उल्लघंन है। पूरी दुनिया खास तौर से मुस्लिम राष्ट्र मूक दर्शक बने हुये है। अमेरिका को इजराइल की पुश्तपनाही हासिल है और बहुत से मुस्लिम राष्ट्र अमेरिका को ही अपना मददगार समझते है। जबकि अमेरिका फकत मुस्लिम राष्ट्रो को अपने हित में इस्तेमाल करता है। अगर तमाम मुस्लिम राष्ट्र एकजुट होकर इजराइल के खिलाफ आवाज़ बुलंद करे तो फिलीस्तीन पूर्ण स्वतंत्र राष्ट्र घोषित हो जायेगा। ईरान ही दुनिया में एक मात्र देश है जो मुसलमानों की भरपूर मदद करता है और फिलीस्तीन के लिए उसकी मदद हमेशा रहती है। जिसके कारण इजराइल और अमेरिका उसे युद्ध में ढकेलना चाहते है। उस पर आर्थिक प्रतिबंध लगाया गया है। जिससे वो कमज़ोर हो जाय परन्तु ईरान के सर्वोच्च धर्म गुरू आयातुल्ला सैय्यद अली खामेनाई ने हमेशा मुसलमानों और दुनिया के कमज़ोर एवं वंचितों की मदद का आवाहन किया। मौलाना महफुजुल हसन खां ने इस अवसर पर रमज़ान के महत्व पर प्रकाश डाला नौजवानों को शिक्षा ग्रहण करने का आवाहन किया। समाज में फैली बुराईयों को दूर करने के लिए सभी से सहयोग की उम्मीद की। इस अवसर पर सैय्यद मोहम्मद हसन ने यौमे कुदस हवाले से बताया कि ये इमामे खुमैनी ने इसे प्रारम्भ किया था जो कि हर वर्ष पूरी दुनिया में अलविदा जुमा को मनाया जाता है। सैय्यद असलम नकवी ने कहा कि फिलीस्तीन का समर्थन हमारे देश की विदेश नीति का हिस्सा रहा है। इसे सरकार को जारी रखना चाहिए। शिया जामा मस्जिद के मुतवल्ली अली मंज़र डेज़ी ने देश की खुशहाली की दुआ की तथा सकुशल नमाजे जुमा को सम्पन्न कराने में जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन, नगर पालिका प्रशासन के द्वारा दिये गये सहयोग के लिए उनका शुक्रिया अदा किया। शिया जामा मस्जिद प्रबंध समिति के सदस्य तालिब रजा शकिल एडवोकेट, तहसीन अब्बास सोनी, डा. हाशिम खां, हाजी समीर अली, नासिर रजा गुड्डू, अकबर एडवोकेट, तकी हैदर काजू तथा अन्य सदस्यों ने सहयोग के लिए सभी का धन्यवाद किया। 

    RN%2BTAGORE
    Advt
    IMG_1839
    Advt.

    bmc
    Advt


    High%2BClass%2BJaunpur
    advt.
    Gahna%2BKothi
    Advt.

    No comments