• Breaking News

    Jaunpur News : पत्नी से 3 घंटे में लौटने का वादा तोड़कर हमेशा के लिए चले गये पत्रकार अरविंद उपाध्याय

    शिवशंकर दुबे | नया सबेरा नेटवर्क
    खुटहन, जौनपुर। पिलकिछा गांव निवासी व वरिष्ठ पत्रकार अरविंद उपाध्याय (52) की मंगलवार को अंबेडकरनगर जिले के सम्मनपुर थाना क्षेत्र के खपुरा गांव के ईंट भट्ठे के पास कार दुर्घटना में हुई दर्दनाक मौत से क्षेत्र में शोक की लहर व्याप्त हो गई। दुर्घटनाग्रस्त कार में इसी जिले के बड़ेपुर गांव निवासी इनके फूफा पूर्व कैप्टन लक्ष्मीकांत उपाध्याय व बुआ कांती देवी भी सवार थी। दुर्घटना में चालक सहित चार लोग काल के गाल में समा गये। घटना की सूचना गांव पहुंचते ही शोक की लहर व्याप्त हो गई।

    श्री उपाध्याय मंगलवार की सुबह अपनी पत्नी को लिवाकर बीमार चल रहे अपने फूफा को देखने अंबेडकरनगर आये थे। जहां उनकी हालत ठीक न देख उन्हें उपचार के लिए सद्दरपुर मेडिकल कालेज ले जाने का प्लान बना लिए। आनन—फानन में फूफा की कार से ही वे लोग उपचार के लिए निकल गये। घर से सात किमी ही आगे पहुंचे थे कि दर्दनाक हादसा हो गया। संयोग अच्छा था कि उनकी पत्नी आरती भी साथ जाने को तैयार थी लेकिन उन्हें दो तीन घंटे में वापस लौट आने का आश्वासन देकर चारों लोग निकल गये। 
    श्री उपाध्याय ढाई दशक से पत्रकारिता जगत से जुड़कर निष्कलंक योगदान करते रहे। वे निर्भीक और निडर पत्रकारों में जाने जाते रहे है। इसके साथ साथ उनमें नेतृत्व की क्षमता भी भरपूर थी। वे सदैव स्थानीय क्षेत्रीय पत्रकारों को एक संगठन में जोड़कर आगे बढ़ाया करते थे। उनके असामयिक निधन से पत्रकारों में शोक व्याप्त हो गया।

    पत्नी और बच्चों के सर से छिना आसमान
    पिलकिछा गांव निवासी वरिष्ठ पत्रकार अरविंद उपाध्याय के निधन से परिवार पर वज्रपात सा हो गया है। घटना ने पत्नी और बच्चों के सर से आसमान खींच लिया। पूरा परिवार बेसहारा हो गया। 

    श्री उपाध्याय का शादी शुदा बड़ा पुत्र ओम उपाध्याय दिल्ली में जेई के पद पर तैनात है जबकि छोटा बेटा अभिषेक (19) दिल्ली में ही रहकर पढ़ाई करता है। बड़ी बेटी अंजली का शादी तो कर चुके है जबकि छोटी बेटी अन्नपूर्णा (21) बीटीसी और शिक्षक पात्रता परीक्षा भी पास कर चुकी है। वह भी इस समय अपनी बड़ी बहन के पास वाराणसी में थी। पिलकिछा स्थित पैतृक आवास पर श्री उपाध्याय और उनकी पत्नी आरती ही रह रहे थे। मंगलवार को वे दोनों भी अंबेडकरनगर चले गये थे। जिसके चलते मकान में ताला लगा हुआ है। लोग शोक संवेदना के लिए आकर वापस लौट जा रहे है। घटना से पूरे क्षेत्र के लोग हतप्रभ है। मौत की खबर से क्षेत्र में शोक लहर व्याप्त है।

    No comments