• Breaking News

    जौनपुर : चुनाव के दौरान हुए बवाल से मच गया था हड़कम्प

    एक वाहन को भी कर दिया गया आग के हवाले
    बीडीसी सदस्यों पर हुई पत्थरबाजी, पुलिस ने लाठी भांज स्थिति को नियंत्रण में किया
    डीएम—एसपी भी पहुंचे मौके पर, शांति से कराया मतदान
    विशेष साभार : शिवशंकर दुबे 'पब्बर'
    जौनपुर [एनएसएन]। खुटहन ब्लाक प्रमुख के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव की बैठक के लिए बीडीसी सदस्यों के आते समय उन्हें अंदर प्रवेश से रोकने के लिए पूर्वी वैरेकेटिंग गेट के समीप पत्थरबाजी के बाद हवाई फायरिंग हुई। फिलहाल हवा में चली लगभग 10 राउंड गोलियों में कोई घायल नहीं हुआ लेकिन मौके पर भगदड़ मच गई। इसी स्थान पर पूर्व सांसद धनंजय सिंह तथा एमएलसी बृजेश सिंह प्रिन्सू अपने समर्थकों के साथ खड़े थे। उग्र सरयू देई के समर्थकों द्वारा आधा दर्जन गाड़ियों के शीशे भी तोड़ दिए गये। एक स्कार्पियों गाड़ी भी आग के हवाले कर दी गई। इस बैरीकेटिंग  पर एक  ट्रैक्टर खड़ा कर रास्ता अवरुद्ध कर दिया गया था। जिससे बीडीसी अंदर न जा सकें। बीडीसी को लेकर यहां गाड़ियों के पहुंचते ही पत्थरबाजी होने लगी। भीड़ के बीच किसी ने फायर कर दिया। जिससे भगदड़ मच गयी। 


    प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक बाद में पुलिस ने भी भीड़ को कंट्रोल करने के लिए हवा में फायर तथा लाठियां फटकारना शुरू कर दिया। तब जाकर स्थिति नियंत्रण में आयी। उसके बाद बीडीसी सदस्यों को गाड़ियों सहित ब्लाक मुख्यालय के गेट तक पहुंचाया जा सका। फिलहाल पुलिस खुद के द्वारा फायरिंग से इनकार कर रही है। इधर पश्चिमी गेट पर पूर्व मंत्री व शाहगंज के सपा विधायक शैलेन्द्र यादव ललई अपने समर्थकों के साथ डटे थे। तब तक वहां वूमेन पावर लाइन 1090 की गाड़ी पर महिला पुलिस पहुंची। जिसमें एक महिला बैठी थी। सपा समर्थकों ने उसे बीडीसी समझ कर गाड़ी रोक लिया। गाड़ी की चाभी निकाल लिया गया। एक महिला सिपाही का मोबाइल भी ले लिया गया।
    पश्चिमी गेट से बीडीसी को गाड़ी से ब्लाक मुख्यालय पर पहुंचने पर शैलेन्द्र यादव ललई भी बैरिकेटिंग तोड़कर अपने समर्थकों के साथ ब्लाक मुख्यालय पर पहुंच गये। वहां आरोप लगाया कि गाड़ी ब्लाक के समीप कैसे पहुंची। जब सभी गाडि़यां बैरियर बनाकर रोकी जा रही है तो इन गाडि़यों का प्रवेश क्यों कराया जा रहा है? इसी बीच मौके पर डीएम और एसपी पहुंच गए। जिनसे पूर्व सांसद धनंजय सिंह, एमएलसी प्रिन्शू सिंह और ललई यादव की इसी बात को लेकर अलग-अलग नोक झोंक भी हुई। बाद में दोनों पक्षों के सभी समर्थकों को बाहर कराया गया। मौके पर प्रतापगढ़ के सांसद हरिवंश सिंह भी पहुंच गये। यहां उनकी व ललई की बहस भी हुई। बाद में डीएम ने दोनों को बाहर कराया। डीएम ने विधायक ललई व पूर्व सांसद धनंजय सिंह को गिरफ्तार करने का मौखिक आदेश दिया। सूचना पाकर सभी खिसक लिए। इधर कुछ देर बाद पश्चिमी गेट से थोड़ी दूर खड़ी एक स्कार्पियों गाड़ी को भी जला दिया गया।


    दर्जन भर उपद्रवियों को लिया गया हिरासत में
    अविश्वास प्रस्ताव में मतदान के लिए ब्लाक मुख्यालय आ रहे बीडीसी सदस्यों को रोकने तथा प्रशासनिक व्यवस्था के खिलाफ किये गये पथराव व आगजनी में शामिल एक दर्जन उत्पातियों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। थानाध्यक्ष ने बताया कि किसी भी उपद्रवी को बख्शा नहीं जायेगा और लोगों की भी गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है।

    पथराव में चार बीडीसी घायल
    ब्लाक प्रमुख पद के अविश्वास प्रस्ताव के समर्थन में अपना मतदान करने ब्लाक मुख्यालय आ रही तीन महिला सहित चार बीडीसी सदस्यों की गाड़ी पर हुए पथराव से वे घायल हो गई। जिनका उपचार ब्लाक पर ही चिकित्सक बुलाकर कराया गया। बीडीसी अमिला गौतम, सुनील कुमार, सीमा सिंह, तथा सरोज गिरी घायल हो गई। बावजूद इसके सभी सदस्यों ने अविश्वास के पक्ष में मतदान किया।

    No comments